भारत में एक मुहीम चली है चाइना के सामान के बहिष्कार करने की. भारत प्रतिवर्ष चाइना से 61 अरब डॉलर का सामान आयात करता है, जबकि भारत मात्र 9 अरब डॉलर का सामान चीन को निर्यात करता है. भारत चाइना की अर्थव्यवस्था में सबसे बड़ा बाजार है. भारत के बाजारों में चाइना का सामान बहुत अधिक मात्रा में बेचा जाता है.

जब से China के Product के खिलाफ भारत में लोगों का गुस्सा फूटने लगा है. तब से ही भारत के बाजारों से चाइनिस सामान कम होता जा रहा है. जल्द ही चीन के प्रोडक्ट भारतीय मार्केट से गायब होते नजर आएंगे. अगर ऐसा हो गया तो चीन की अर्थव्यवस्था पूरी तरह गिर जाएगी. और चीन का बाजार पूरी तरह से खत्म हो जाएगा.

chaina-is-doomed-by-boycotting-india

हमारा सम्पूर्ण भारत एक परिवार है और इसके प्रति हमारा सबका उतरदायित्व बनता है की हमारा देश विश्व में स्वाभिमान के साथ खड़ा हो सके. इसके लिए हमे देश कि जनता को जागरूक करना होगा और हमे अधिक से अधिक स्वदेशी सामान का उपयोग करना होगा. हमे स्वदेशी सामानों के प्रति हमारा रुख करना होगा. अभी तो हमने चाइना के विरुद्ध सिर्फ आवाज ही उठाई है. और चीन 6 साल पीछे चला गया. तो सोचो दोस्तों हमने चाइना के सामान का पूर्ण रूप बहिस्कार कर दिया तो चीन हमारे सामने घुटने टेकेगा. भारत, चाइना का सबसे बड़ा बाजार है. आज भारत के लिए सबसे बड़ा बाधक चीन ही है जो भारत को वीटो पॉवर नही मिलने दे रहा है. चीन भारत को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भी नीचा दिखाने के लिए कदम कदम पर प्रयास करता रहा है. चीन पाकिस्तान का पुरजोर तरीके से साथ दे रहा है. अब समय आ गया है की हम चीन के खिलाफ कड़ा कदम उठाये. यदि हम चीन के खिलाफ चीनी सामान का बहिष्कार करके हम चीन को सबक सीखा सकते है. जिससे हमारी आने वाली पीढ़ी का भविष्य और हमारा भारत एक बार फिर दुनिया में अलग ही अन्दांज खड़ा हो पायेगा. आज पूरा विश्व भारत कि युवा ताकत से डरता है तो दोस्तों वो समय आ गया है की चीन को हम अपनी ताकत दिखा दे जिसने भारतीय लोगो को नाकारा बताया था और कहा था कि भारत चीन पर आश्रित है. इससे हमारे देश कि सबसे बड़ी समस्या का समाधान हो जायेगा. और देश के लोगो को रोजगार मिलेगा और भारत से बेरोजगारी खत्म हो जाएगी. मित्रो आज समय आ गया है जब हम भारत माँ के प्रति अपना कर्तव्य को निभाए और और देश के लिए कुछ करे जो हम सीमा पर जाकर नही कर सकते है वो हम देश के अन्दर अपने घरो से ही देश की सेवा करे.

जय हिन्द-जय भारत.. स्वदेशी अपनाए देश बचाए

http://www.dilsedeshi.com/wp-content/uploads/2017/01/भारत-ने-उठाये-कड़े-कदम-तो-चीन-हुआ-6-साल-पीछे-1.jpghttp://www.dilsedeshi.com/wp-content/uploads/2017/01/भारत-ने-उठाये-कड़े-कदम-तो-चीन-हुआ-6-साल-पीछे-1-150x150.jpgManoj Kagरोचक जानकारियाँभारत में एक मुहीम चली है चाइना के सामान के बहिष्कार करने की. भारत प्रतिवर्ष चाइना से 61 अरब डॉलर का सामान आयात करता है, जबकि भारत मात्र 9 अरब डॉलर का सामान चीन को निर्यात करता है. भारत चाइना की अर्थव्यवस्था में सबसे बड़ा बाजार है. भारत के...राष्ट्र सर्वोपरि