डॉ. बिश्वरूप रॉय चौधरी का जीवन परिचय | Dr. Biswaroop Roy Chowdhury Biography in hindi

डॉ. बिश्वरूप रॉय चौधरी का जीवन परिचय | Dr. Biswaroop Roy Chowdhury Biography in hindi : नमस्कार दोस्तों, आज आप ऐसे व्यक्ति के बारे में पढ़ने वाले है, जिसका बचपन में लोग उसकी याददाश्त को लेकर खूब मजाक उड़ाया करते थे, लोग उसे भुल्लकड़ बुलाया करते थे, पर इस बात ने उस पर इतना असर किया कि वो बन गया याददाश्त का बादशाह. जी हाँ दोस्तों वह है डॉ. बिश्वरूप रॉय चौधरी.

डॉ. बिश्वरूप रॉय चौधरी “द मेमोरी किंग” | Dr. Biswaroop Roy Chowdhury ‘The Memory King’

डॉ. बिश्वरूप रॉय चौधरी को लोग मेमोरी किंग के नाम से भी पुकारते है. डॉ. बिश्वरूप रॉय चौधरी का नाम याददाश्त के लिए गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है. चलिए जानते है इनके जीवन के बारे में रोचक और अनोखी बातें..

हैदराबाद में जन्मे, डॉ. बिस्वरुप रॉय चौधरी एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित भारतीय चिकित्सा पोषण विशेषज्ञ हैं जो कि एलायंस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी, ज़ाम्बिया से मधुमेह में डॉक्टरेट हैं.

डॉ. बिस्वरुप ‘इंडिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स’ और ‘एशिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स’ के मुख्य संपादक भी हैं, और इन्होंने मेमोरी, माइंड एंड बॉडी पर 25 से अधिक पुस्तकें भी लिखी है जो हिंदी, अंग्रेजी सहित 18 भारतीय भाषाओं में प्रकाशित की गई है, जिसमे मराठी, नेपाली, बंगाली और तेलुगु भी शामिल है.

दिल में छेद पर, नहीं मानी हार | Dr. Biswaroop Roy Chowdhury wiki

1977 में 4 साल की उम्र में डॉ. बिश्वरूप की ओपन हार्ट सर्जरी हुई थी, जिसमे डॉक्टर्स को उनके दिल में छेद मिला था. दिल के कमजोर होने की वजह से डॉक्टर ने बिश्वरूप को किसी भी हार्ड वर्क और कठिन शाररिक गतिविधि को न करने की सलाह दी थी.

डॉ. बिश्वरूप का जन्म उनके दिल के छेद के साथ हुआ था. ये कभी न हार मानने वाले व्यक्ति है जिसने अपनी इस कमजोरी को ताकत बनाया और अपने मन की शक्ति से पुश-अप लगाने में एक रिकॉर्ड बनाया. डॉ. बिश्वरूप ने एक मिनट में 198 पुश-अप लगाए और एक कैनेडियन नागरिक, रॉय बर्जर द्वारा किए गए एक मिनट में 138 पुश-अप्स के पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

72 घंटो में मधुमेह का इलाज | Dr. Biswaroop Roy Chowdhury diabetes diet

डॉ. बिस्वरुप रॉय चौधरी ने 72 घंटे में मधुमेह को रिवर्स करने के लिए “द डीप डाइट” नामक एक 3-चरण प्रोटोकॉल को सफलतापूर्वक विकसित किया और अब डॉ.चौधरी भारत, वियतनाम, मलेशिया और स्विट्जरलैंड में अपने केंद्र चलाते हैं, और अपने अत्यधिक लोकप्रिय कार्यक्रम ’72 घंटे मधुमेह टूर ‘ को एप्लिकेशन “Diabetes72” के माध्यम से संचालन करते हैं.

डॉ. बिस्वरुप रॉय चौधरी लिंकन यूनिवर्सिटी कॉलेज, मलेशिया के सहयोग से ‘द कोड ब्लू सर्टिफिकेशन ट्रेनिंग’(चिकित्सा आपात स्थिति के लिए प्रशिक्षण) भी आयोजित करते है. संत हिरदाराम मेडिकल कॉलेज, भोपाल में एक मानद अनुसंधान सलाहकार और प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय चिकित्सा पत्रिकाओं के संपादकीय बोर्ड के एक सक्रिय सदस्य के रूप में, डॉ. बिस्वरूप रॉय चौधरी को 25 पुस्तकों के साथ शामिल किया है.

हमारा ये लेख Dr. biswaroop roy Chowdhury Biography कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं.

इसे भी पढ़े : हंतावायरस क्या है ? इसके लक्षण और बचाव
इसे भी पढ़े : कोरोनावायरस क्या है ? लक्षण और उपचार

Loading...

Leave a Comment