हंतावायरस क्या है ? इसके लक्षण और बचाव | What is Hantavirus In Hindi

What is Hantavirus In Hindi : हंतावायर वायरस, जी हाँ दोस्तों एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है और दूसरी तरफ चीन ने एक और नए वायरस को जन्म दे दिया है. चीन में हंतावायरस वायरस से एक मौत के बाद लोग में डर का माहोल है. चीन में पहले से ही कोरोना वायरस ने कोहराम मचा रखा है, और अब इस वायरस के संक्रमण की खबर ने लोगो को हिलाकर रख दिया है. दरहसल, चीन के ग्लोबल टाइम्स ने ट्वीट किया कि युन्नान प्रांत के व्यक्ति की सोमवार को शेडोंग प्रांत से घर लौटने के दौरान बस में मौत हो गई. बस में मौजूद 32 अन्य लोगों का भी वायरस का परीक्षण किया गया.

क्या हंता वायरस भी कोरोना वायरस की तरह खतरनाक वायरस है, क्या यह भी बड़े स्तर पर फैल सकता है? हंतावायरस कैसे फैलता है और किस जानवर से फैला है, चलिए जानते है इन सभी सवालों के जवाब .

हन्तावायरस क्या है ? | What is Hantavirus In Hindi ?

सेंटर्स ऑफ़ डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, हंता वायरस एक वायरसेस का परिवार है जो मुख्य रूप से चुंहो द्वारा फैलता है और लोगों में विभिन्न रोगों का कारण बन सकता है. किसी भी हंतावायरस के साथ संक्रमण में आने पर लोगों में हंतावायरस रोग पैदा हो सकता है.

अमेरिका में इस वायरस को “न्यूवर्ल्ड” वायरस के नाम से जाना जाता है जो हंतावायरस पल्मोनरी सिंड्रोम(HPS) का कारक होता है. और अन्य हंतावायरसेस को “ओल्ड वर्ल्ड” हंतावायरस के नाम से जाना जाता है, जो एशिया और यूरोप में पाया जाता है. ये हेमोर्राजिक फीवर एंड रीनल सिंड्रोम(HFRS) का कारक होता है.

प्रयेक हंतावायरस सीरोटाइप में एक विशिष्ट होस्ट कृतंक होता है जो लोगो में अपने लार, मल, मूत्र और बहुत कम बार संक्रमित होस्ट के काटने पर वायरस फैलता है.

हन्तावायरस कैसे फैलता है | Hantavirus Transmission In Hindi

ये वायरस कोरोना वायरस की तरह इतना खतरनाक नहीं है जो तेजी से फैलता है. ये केवल लोगों में तब फैल सकता है जब वे कृन्तकों के मूत्र, मल, और लार के संपर्क में आते हैं. यानि इसका सम्बन्ध सीधा कृतंक से ज्यादा होता है. विशेषज्ञों के अनुसार हंतावायरस हवा में नहीं फैलता, बल्कि ये व्यक्ति के चूहें के संपर्क में आने से फैलता है. ये वायरस चूहों के लिए वरदान का काम करता है वही इंसान के लिए अभिशाप का.

जी हाँ दोस्तों, हंता वायरस चूहों में पाया जाता है और इससे वे बीमारियों से दूर रहते है,पर यदि यही वायरस इंसान को संक्रमित कर दे तो इससे उसकी जान भी जा सकती है . सेंटर फॉर डिसिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार यदि घर में चूहे आते-जाते रहते है तो हंता वायरस के संक्रमण का खतरा बना रहता है.

हंता वायरस एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति में आसानी से नही फैलता, इसकी आसानी से फैलने की संभावना बहुत कम होती है. यदि कोई व्यक्ति चूहें के मॉल, मूत्र या लार के संपर्क में आकर उन्ही हाथो को अपने आँख, नाक या मुँह पर छूता है तो इस वायरस से संक्रमित होने का खतरा कुछ हद तक बढ़ जाता है.

हंतावायरस होने के क्या लक्षण होते है? | Hantavirus Symptoms

  • हंता वायरस के शुरुआती लक्षणों में थकान, बुखार और मांसपेशियों में दर्द के साथ-साथ सिरदर्द, चक्कर आना, ठंड लगना और पेट की समस्याएं शामिल हैं.
  • यदि इस पर ध्यान नहीं दिया जाए तो, यह खांसी और सांस की तकलीफ का कारण बन सकता है.
  • सीडीसी के अनुसार, जल्दी इलाज न मिलने पर 38 प्रतिशत की मृत्यु दर के साथ खतरनाक साबित होता है.

हन्तावायरस का उपचार क्या है ?| Hantavirus Treatment and Vaccine

हन्तावायरस के लिए कोई विशिष्ट उपचार, इलाज या वैक्सीन नहीं है. यदि इसे जल्दी पहचान लिया जाए और अच्छी चिकित्सा इकाई में उन्हें चिकित्सा सुविधा मिले तो मरीजो के लिए लाभदायक होता है.

चुकी इस विरुसे संक्रमित व्यक्ति को सांस लेने में बहुत तकलीफ होती है इसलिए मरीज को इलाज के लिए अक्सर एक श्वास मशीन और ऑक्सीजन थेरेपी की आवश्यकता होती है.

हंता वायरस के संक्रमण को कैसे रोके या इससे कैसे बचे ? | Hantavirus Prevention

  • आपके घर में और उसके आसपास चूहों को नियंत्रित करना संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है.
  • यदि आपके घर के आस पास चूहें है और आपको बुखार, गहरी मांसपेशियों में दर्द और सांस की गंभीर कमी के लक्षण दिखाई देते है तो आपको तुरंत आपको चिकित्सक से मुलाकात कर उपचार करना चाहिए.
  • कोशिश करे घर या घर के आस -पास सफाई हमेशा रहें और चूहों का नामो निशान न हो. तभी आप इस वायरस से बच सकते है.
  • बिल्लियों का उपयोग करके चूहों की सामान्य रोकथाम को पूरा किया जा सकता है.

अब ये सवाल उठता है की ऐसा कब तक चलेगा, इन वायरस को फैलने के लिए क्या किया जाए तो, हम तो यही कहेंगे जब तक चीन के लोगों ने जिंदा जानवरों को खाना बंद नहीं किया तब तक ऐसे वायरस पैदा होते रहेंगे.

हंता वायरस पर ये लेख हमारी दिल से देशी टीम के गहन शौध पर आधारित है यदि आपको इससे सम्बंधित कोई भी सवाल या आपके पास कोई अन्य जानकारी हो जो महवपूर्ण हो, कृपया उसे कमेंट बॉक्स में हमारे साथ जरुर साँझा करे.

Loading...

Leave a Comment