ममता बनर्जी का जीवन परिचय | Mamata Banerjee Biography In Hindi

ममता बनर्जी का जीवन परिचय का जीवन परिचय |
Mamata Banerjee Biography, Age, Wiki, Family, Education, Husband, Marriage, Cast, Net worth In Hindi

हर समाचार प्रेमी ममता बनर्जी के नाम से भली-भांति परिचित हैं, दीदी के नाम से लोकप्रिय राजनीतिज्ञ ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री पद पर कार्य करने वाली पहली महिला मुख्यमंत्री है. वे दो बार रेलमंत्री के पद पर भी नियुक्त रह चुकी हैं. अपने जुझारू और हठीले व्यक्तित्व के कारण ममता आए दिन सुर्खियों में बनी रहती हैं, आइए उनके निजी और राजनितिक जीवन पर एक नज़र डालें.

ममता बनर्जी का जीवन परिचय | Mamata Banerjee Biography In Hindi

बिंदु (Points)जानकारी (Information)
नाम (Name) ममता बनर्जी
उपनाम (Nickname) दीदी
जन्म (Date of birth) 5 जनवरी 1955
आयु (Age) 66 वर्ष 
जन्म स्थान (Birth place) पश्चिम बंगाल, कोलकाता 
पिता का नाम (Father’s name)प्रोमिलेस्वर बनर्जी 
माता का नाम (Mother’s name) गायत्री देवी बनर्जी 
धर्म (Religion)हिन्दू
जाति(Cast)कुलीन ब्राह्मण
वैवाहिक स्थिति (Marital status)अविवाहित
व्यवसाय (Occupation) राजनीतिज्ञ 
राजनीतिक पार्टी (Political party) ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस 
Mamata Banerjee

प्रारंभिक जीवन एवं परिवार 

बेहद कम उम्र में अपने राजनीति कैरियर की शुरुआत करने वाली ममता बनर्जी का प्रारभिंभिक जीवन बहतु ही संघर्षशील रहा. महज नौ साल की छोटी उम्र में पिता का साया उठने के बाद ममता बनर्जी ने अपने छह भाईयों और परिवार का पालन पोषण दूध बेचकर किया. इनके शैक्षणिक योग्यता की अगर बात की जाए तो इन्होंने कोलकाता के जोगमाया देवी कॉलेज से ऑनर्स की डिग्री प्राप्त की है वहीं इन्होंने बीएड की डिग्री, कानून की डिग्री और इस्लामिक इतिहास में भी डिग्री प्राप्त की है. साथ ही इन्हें कविताएं लिखने और पेंटिंग करने में भी रुचि है.

राजनीतिक जीवन

सन् 1970 में ममता ने कांग्रेस पार्टी की कार्यकर्ता बनकर राजनीति में अपना पैर रखा इसके बाद वे सन् 1970 से 1980 तक महिला कांग्रेस की महासचिव भी रहीं.

ममता को पहली सफलता तब मिली जब उन्होंने सन् 1984 में लोकसभा क्षेत्र की और से साम्यवादी राजनेता सोमनाथ चटर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ा और यही वो समय था वे सोमनाथ को पछाड़ सबसे युवा भारतीय सांसद बन गई.

सन 1991 में ममता मानव संसाधन, युवा कल्याण योजना, खेलकूद और महिला बाल विकास विभाग की मंत्री भी रहीं, इस समय नरसिम्हाराव की सरकार थी. जिसके बाद ही ममता द्वारा खेल कूद विकास योजना के प्रस्ताव को सरकार द्वारा अनुमति न मिलने के कारण उन्होंने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया.

सन् 1996 में ममता ने कांग्रेस पार्टी को छोड़कर अपनी अलग पार्टी आल इडिंडिया तृणमूल कांग्रेस की स्थापना की. साल 1999 में केंद्रीय रेल मंत्री के पद पर नियुक्त किया, 20 मई 2011 में हएु चुनाव में ममता बनर्जी पश्चि म बंगाल की पहली महिला मुख्यमंत्री बनी. ममता बनर्जी भारत की नौवीं तथा पश्चिम बंगाल की पहली महिला मुख्यमंत्री हैं साथ ही साल 2016 में लगातार दो बार चुनाव जीतकर वे एकमात्र महिला मुख्यमंत्री बनी. ममता बनर्जी ने अपने जीवनकाल में कई लोककल्याण काम किए साथ ही कई बार वे विवादों से भी घिरी रही हैं.

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment