शुभ्रास्था शिखा का जीवन परिचय | Shubhrastha Shikha Biography in Hindi

शुभ्रास्था शिखा की जीवनी, शिक्षा, परिवार, पोलिटिकल करियर और पुस्तके | Shubhrastha Shikha Biography, Education, Political Views and Books in Hindi

शुभ्रास्था शिखा एक भारतीय राजनीतिक रणनीतिकार, लेखक और डीबेटर (टीवी स्तंभकार) हैं. उन्होंने पुस्तक “सारागढ की आखिरी लड़ाई” लिखी है. जो काफी प्रसिद्ध हैं. इसके अलावा, इस पुस्तक के सह-लेखक उनके पति “रजत सेठी” हैं.

बिंदु(Points) जानकारी (Information)
नाम (Name) शुभ्रास्था शिखा
जन्म (Birth) 29 नवंबर, 1987
जन्म स्थान (Birth Place) पटना, बिहार
कार्यक्षेत्र (Profession) रणनीतिकार, लेखक
पति का नाम (Husband Name) रजत सेठी
शिक्षा (Education) बैचलर ऑफ आर्ट्स

शुभ्रास्था शिखा जन्म और प्रारंभिक जीवन (Shubhrastha Shikha Birth and Early Life)

शुभ्रा का जन्म 29 नवंबर, 1987 को भारत के पटना में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ है. इन्होंने अपना हाई स्कूल (12 वीं कक्षा) दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस), बोकारो स्टील सिटी से वर्ष 2007 में पूरा किया है.

इसके बाद इन्होंने मिरांडा हाउस से अंग्रेजी साहित्य में बैचलर ऑफ आर्ट्स (बी.ए.) की डिग्री पूर्ण की हैं. इसके अतिरिक्त, उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से अंग्रेजी में स्नातकोत्तर(Graduation) भी किया हैं. शुभ्रास्था शिखा की इस अवधि के दौरान, उन्होंने सर्वश्रेष्ठ डिबेटर के लिए कई पुरस्कार और पुरस्कार जीते हैं.

शुभ्रास्था शिखा परिवार (Shubhrastha Shikha Family)

शुभ्रास्था की माता का नाम शकुंताला मिश्रा हैं. इनकी एक बहन प्रियदर्शनी पंडित और एक भाई शांतनु गर्ग हैं. वर्ष 2016 में इनका विवाह रजत सेठी से हुआ. इनके पति हॉवर्ड और आई.आई.टी से ग्रेजुएट हैं.

Shubhrastha Shikha Biography in Hindi
पति रजत सेठी और परिवार के साथ शुभ्रास्था शिखा

शुभ्रास्था शिखा करियर (Shubhrastha Shikha Career)

अपनी शिक्षा समाप्त करने के बाद शुभ्रास्था शिखा ने हिंदू प्रकाशन कंपनी (नवंबर 2012 से फरवरी 2013 तक) में इंटर्न के रूप में काम किया है. इस इंटर्नशिप के अलावा उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो में न्यूज़ रीडर के रूप में भी काम किया है.

शुभ्रास्था ने जून 2013 में सिटीजन फॉर अकाउंटेबल गवर्नेंस (CAG) की भी स्थापना की है. शुभ्रा ने असम विधानसभा चुनाव 2016 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए भी कार्य किया है. वर्तमान में, वह फेलो इन इंडिया फाउंडेशन काम कर रही हैं. शुभ्रास्था का की सलाना कमाई 70,000 अमेरिकी डॉलर (2018 के अनुसार) है.

शुभ्रास्था प्रख्यात रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ बिहार चुनाव में कार्य कर चुकी हैं. बीजेपी को नार्थ ईस्ट में जीताने का श्रेय शुभ्रास्था और पति को जाता हैं. इनके नेतृत्व में बीजेपी में असम में 87 विधानसभा सीट जीती थी.

यह भी देखे :

Ujjawal Dagdhi

Ujjawal Dagdhi

उज्जवल दग्दी दिल से देशी वेबसाइट के मुख्य लेखकों में से एक हैं. इन्हें धार्मिक, इतिहास और सेहत से जुडी बातें लिखने का शौक हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *