गन्ने का रस पीने के फायदे | Benefits of Sugarcane Juice in Hindi

गन्ने के जूस पिने से स्वास्थ्य को होने वाले फायदे और जरुरी बातें | Benefits of Sugarcane Juice in Hindi | Ganne ke Ras ke Fayade

गर्मियों के समय में हर कोई व्यक्ति फलो के रस का सेवन करता है. उसमें गन्ने सबसे अधिक प्रचलित है. क्योंकि गन्ने का ताज़ा रस पीने से जहां एक ओर हमारी आत्मा तृप्त होती है वही दूसरी ओर इससे हमारे शरीर को कई फायदे भी होते हैं. गर्मियों के मौसम में गन्ने का रस डीहाइड्रेशन से बचाने का एक अच्छा स्रोत है. हालांकि गन्ने के रस के साथ कुछ हाइजीनिक समस्या भी जुड़ी हुई हैं, इसी कारण इसे पीते समय कुछ सावधानियां भी रखनी आवश्यक है. आइए हम आपको बताते है गन्ने का रस पीने से शरीर को क्या फायदे होते है साथ ही इसे पीते समय क्या-क्या सावधानी रखनी चाहिए–

benefits-of-sugarcane

गन्ने का रस पीने के फायदे (Benefits of Sugarcane Juice)

  1. गन्ने के रस में सुक्रोज़, ग्लूकोज़ होता है. जिससे कमजोरी दूर होती है, और शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है.
  2. गन्ने का रस पीने से फैट बर्निंग प्रोसेस तेज होती है. तथा मोटापा कम करने में मदद मिलती है.
  3. गन्ने का रस पीने से कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता हैं. यह ह्रदय संबंधी बीमारियों से बचाने में मदद करता है.
  4. गन्ने के रस में कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है. जिसके कारण इससे हड्डियां मजबूत होती हैं.
  5. गन्ने के रस में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं. जो सर्दी-जुकाम जैसे इन्फेक्शन से सुरक्षा प्रदान करता है.
  6. गन्ने का रस पीने से बॉडी में नमी बनी रहती है. यह स्किन, बालों स्वस्थ रखने में सहायक है.
  7. गन्ने में फॉस्फोरस होता है. इस कारण इससे दांत मजबूत होते हैं. और यह मसूड़ों की समस्या से बचाने में हेल्प करता है.
  8. गन्ने में मैग्नीशियम होता है. इसका रस पीने से बदन दर्द से छुटकारा मिलता है.
  9. गन्ने में एंटी कार्सिनोजेनिक एलिमेंट्स होते हैं. जो कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से बचाने में सहायता करता है.
  10. गन्ने में आयरन होता हैं. यह खून की कमी अर्थात एनीमिया होने से बचाने में मदद करता है.

benefits-of-sugarcane

गन्ने का रस पीते समय सावधानियां (Precaution with Sugarcane Juice)

  1. गन्ने का रस हमेशा ताज़ा ही पीना चाहिए. बहुत देर तक रखे हुए गन्ने के रस में टॉक्सिन्स पैदा हो जाते हैं जिससे इनडाइजेशन की समस्या हो सकती है.
  2. गन्ने का रस बनाते समय साफ़-सफाई का ख्याल रखना चाहिए. यदि गन्ने का रस अनहाइजीनिक तरीके से बनता है तो इससे पीलिया होने की संभावना हो सकती है.
  3. गन्ने का रस पीते समय इसमें चुटकी भर नमक मिला लेना चाहिए. नमक से गले में खराश नहीं होगी.
  4. गन्ने का रस पीने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है जिसके कारण डायबिटीज़ होने का खतरा बढ़ सकता है. इसलिए गन्ने का रस डायबिटीज़ के मरीजों को नहीं पीना चाहिए.
  5. गन्ने के रस में बर्फ डालकर न पीना चाहिए. यदि बर्फ गंदें पानी से बना हुआ होगा तो डिहाइड्रेशन या गला ख़राब हो सकता है.

इसे भी पढ़े :

Avatar

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *