पैरालिसिस(लकवा) क्या होता हैं, इसके घरेलू उपचार | Home Remedies for Paralysis in Hindi

पैरालिसिस(लकवा) क्या होता हैं और इसे दूर करने के घरेलू उपचार | Paralysis and Home Remedies for Paralysis treatment in Hindi

पैरालिसिस, लकवा, पक्षाघात या स्ट्रोक से पीड़ित मरीज अपने शरीर के एक मांसपेशी या उससे अधिक को हिलाने में असमर्थ हो जाता है. कह सकते हैं कि व्यक्ति अपने अंग को महसूस कर पाने की ताकत को खो देता है. मस्तिष्क की नसों में कुछ अवरोध के कारण खून का संचार सुचारू रूप से नहीं हो पाता है और शरीर के जिस हिस्से को पर्याप्त तो रक्त नहीं मिल पाता है और वह कार्य करना बंद कर देता है. मुख्यतः स्ट्रोक, सिर पर चोट या रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण होता हैं. यह रोग अधिकतर ज्यादा उम्र के लोगों में देखा जाता है.

लकवे के घरेलू उपचार (Home Remedies for Paralysis treatment)

  1. लहसुन का उपयोग लकवे के लिए रामबाण इलाज है. नियमित रूप से लहसुन की कली का सेवन पानी के साथ शुरू करें. पहले दिन एक कली से शुरू करें फिर प्रतिदिन एक एक कली बढ़ाते जाएं. जैसे पहले दिन एक कली, दूसरे दिन दो कली और ठीक इसी प्रकार 21 वे दिन 21 कली पानी के साथ निगलनी है. ठीक 21 दिन बाद पुनः एक एक कली कम करते जाएं. यह थोड़ा कठिन जरूर है. नियमित रूप से इसका सेवन करने से लकवे के मरीज को इसके बहुत ही लाभदायक परिणाम मिलते है.
  2. लहसुन का पेस्ट बनाकर, उसमें दो चम्मच शहद मिलाकर नियमित रूप से दो चम्मच इस मिश्रण का सेवन करने से लकवे में फायदा मिलता है. और लहसुन की 5 से 6 कलियों को दूध में अच्छा उबाल कर पीने से भी लकवे के उपचार में राहत मिलती है.
  3. ढाई सौ ग्राम तेल में 50 ग्राम काली मिर्च मिलाकर अच्छी तरह से उबाल ले. इस मिश्रण को गुनगुना कर लकवे से प्रभावित अंगों पर मालिश करें.
  4. खजूर के गूदे का पेस्ट बनाकर लकवे से प्रभावित अंग पर लगाएं.
  5. लकवे के इलाज के लिए करेला रामबाण इलाज है नियमित रूप से करेले का सेवन लकवे के इलाज में लाभकारी एवं कारागार है.
  6. सफेद प्याज का रस नियमित रूप से पीने में लकवे के मरीज को आराम मिलता है. नियमित रूप से दो-तीन चम्मच प्याज के रस को पीना चाहिए.
  7. आंकड़े के पत्तों को सरसों के तेल में उबालकर रख ले और कुनकुना होने पर लकवे से प्रभावित होने वाले अंगों पर मालिश करें.
  8. कलौंजी के तेल की मालिश करने से भी लकवे के रोगियों को राहत मिलती हैं.
  9. लकवे के मरीज को ज्यादा मसाले वाला भोजन खाने से बचना चाहिए. भोजन में चावल, दही, छाछ, दाल आदि का उपयोग नहीं करना चाहिए. मरीज को बाजरे की रोटी, गेहूं की रोटी, दूध, आम, अंजीर, पपीता आदि का उपयोग करना चाहिए.
  10. धतूरे के बीज को सरसों के तेल में मध्यम आंच पर पकाएं. और लकवे के प्रभावित अंग पर लगाने से मरीज को राहत प्रदान करता है.
  11. लकवे के दौरान मरीज को अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए. तथा स्नान के लिए ठंडे पानी का ही उपयोग करना चाहिए.

इसे भी पढ़े :

मित्रों लकवे से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमें कमेंट करें.

loading...
Shashank Sharma

Shashank Sharma

शशांक दिल से देशी वेबसाइट के कंटेंट हेड और SEO एक्सपर्ट हैं और कभी कभी इतिहास से जुडी जानकारी पर लिखना पसंद करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *