चंद्रशेखर आजाद के 15 अनमोल विचार | Quotes of Chandra Shekhar Azad in Hindi

शहीद चंद्रशेखर आजाद के 15 सुप्रसिद्ध अनमोल विचार, नारा और वचन | Slogan and Quotes of Chandra Shekhar Azad in Hindi

हमारे देश को आजादी दिलाने के लिए कई नौजवानों ने अपना बलिदान दिया, जिनमे से एक चंद्रशेखर आज़ाद है. चन्द्रशेखर आज़ाद एक महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और भगत सिंह के गुरु थे.आजाद ने इस देश को गुलामी की जंजीरों से आजादी दिलाने के लिए अपने प्राणों तक की कुर्बानी दे दी. परन्तु आज भी चंद्रशेखर आज़ाद की कही हुई बाते हमारे साथ है और आने वाली युवा पीढ़ियों का मार्गदर्शन करने में सहायता ज़रुर करेगी. चंद्रशेखर आज़ाद द्वारा बोले गए देशभक्ती नारे, उनके अनमोल वचन हर एक देशवासी  में देशभक्ति का भावना को जगाते है. आइये जानते है उनके द्वारा कहे गए कुछ अनमोल वचन

चंद्रशेखर आजाद के 15 अनमोल विचार (Quotes of Chandra Shekhar Azad)

Quote 1

दूसरे आपसे बेहतर कर रहे है ये नहीं देखना चाहिए हर दिन अपने ही रिकॉर्ड को तोड़िये क्योंकि सफलता की लड़ाई आपकी खुद से है.

Quote 2

अभी भी जिसका खून ना खौला, वो खून नहीं पानी है जो देश के काम ना आए, वो बेकार जवानी है.

Quote 3

मै ऐसे धर्म को मानता हूँ जो स्वतंत्रा, समानता और भाईचारा सिखाता है.

Quote 4

मैं जीवन की अंतिम सांस तक देश के लिए शत्रु से लड़ता रहूंगा.

Quote 5

मात्रभूमि की इस दुर्दशा को देखकर अभी तक यदि आपका रक्त क्रोध नहीं करता है, तो यह आपकी रगों में बहता खून नहीं है ये तो पानी है.

Quote 6

आज़ाद की कलाई में हथकड़ी लगाना बिलकुल असंभव है. एक बार सरकार लगा चुकी, अब तो शरीर के टुकड़े टुकड़े हो जाएँगे, लेकिन जीवित रहते पुलिस बंदी नहीं बना सकती.

Quote 7

मै ऐसे धर्म को मानता हु जो स्वतंत्रा, समानता और भाईचारा सिखाता है.

Quote 8

एक बार जब जब पुलिस ने आज़ाद को पकड़ लिया था. तब उन्होंने एक प्रतिज्ञा ली थी. वे अब कभी पुलिस की पकड़ में नहीं आये थे. काकोरी कांड के बाद भी सभी आरोपियों को पकड़ लिया गया था. परन्तु चन्द्रशेखर आजाद को वे लोग नहीं पकड़ पाए थे.पंडित चन्द्रशेखर आजाद अक्सर यह शेर गुन-गुनाया करते थे.  

दुश्मन की गोलियों का, हम सामना करेंगे

आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे

वे कभी- कभी इस शेर को कुछ इस तरह भी गाते थे. 

दुश्मन की गोलियों का, हम सामना करेंगे

आजाद ही रहे हैं, आजाद ही मरेंगे

Quote 9

यदि अभी तक आपका खून खोलता नहीं है, तो आपकी नसों में पानी बहता है?

इस जवानी का क्या फायदा अगर ये मातृभूमि की सेवा में काम ना आ सके.

Quote 10

यदि कोई युवा मातृभूमि की सेवा नहीं करता तो उसका जीवन व्यर्थ है. 

Quote 11

भले ही मेरा प्राम्भिक जीवन आदिवासी इलाके में बिता है लेकिन मेरे दिल में मातृभूमि ही बस्ती है.

Quote 12

दुश्मन की गोलियों का सामना करेंगे,आजाद रहे हैं, आजाद ही रहेंगे.

Quote 13

जब तक यह बमतुल बुखारा (आजाद की पिस्तौल का नाम) मेरे पास है. किसने माँ का दूध पीया है, जो मुझे जीवित पकड़ के ले जाए.

Quote 14

गिरफ्तार हो कर अदालत में हाथ बांध मुझे बंदरिया का नाच नहीं नाचना है. आठ गोली पिस्तौल में है और आठ का दूसरा मैगजीन है. पंद्रह दुश्मन पर चलाऊंगा और सोलहवी यंहा……और आजाद अपनी पिस्तौल अपनी कनपटी पर छुआ देते.

Quote 15

मेरा नाम आज़ाद है, मेरे पिता का नाम स्वतंत्रता, और मेरा पता जेल है. 

 चंद्रशेखर आजाद द्वारा लिखी कविता आज भी उनके बलिदान और शौर्य की गाथा का गुणगान करती है.  

‘मां हम विदा हो जाते हैं, हम विजय केतु फहराने आज,

तेरी बलिवेदी पर चढ़कर मां, निज शीश कटाने आज।

मलिन वेष ये आंसू कैसे, कंपित होता है क्यों गात? 

वीर प्रसूति क्यों रोती है, जब लग खंग हमारे हाथ

धरा शीघ्र ही धसक जाएगी, टूट जाएंगे न झुके तार,

विश्व कांपता रह जाएगा, होगी मां जब रण हुंकार।

नृत्य करेगी रण प्रांगण में, फिर-फिर खंग हमारी आज,

अरि शिर गिराकर यही कहेंगे, भारत भूमि तुम्हारी आज।

अभी शमशीर कातिल ने, न ली थी अपने हाथों में।

हजारों सिर पुकार उठे, कहो दरकार कितने हैं।।’ 

धन्यवाद दोस्तों, आपको यह लेख कैसा लगा? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और यदि आप हमसे कोई भी जानकारी या कोई भी प्रश्न पूछना चाहते हैं तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें. अब आप हमारे एप “दिल से देशी” को प्ले स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते हैं.

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment