राष्ट्रीय एकता की आवश्यकता पर अनुच्छेद | Article on the Need for National Unity in Hindi

राष्ट्रीय एकता की आवश्यकता पर अनुच्छेद | Article on the Need for National Unity| Rashtriya Ekta Ki Avashyakta Par Paragraph

हम जब भी अपने राष्ट्रीय या संस्कृति के बारे में लेख लिखते है, तो वे देश एवं संस्कृति संबंधी अनुच्छेद की शैली में आते है. हमने आपके लिए जो “राष्ट्रीय एकता की आवश्यकता” पर अनुच्छेद लिखा है, यह विषय हमारे और हमारे देश के लिए एक महत्वपूर्ण विषय है. अगर हम सभी लोगों में एकता नहीं होगी तो हमारा देश कभी आगे नहीं बढ़ पाएगा इस विषय पर अनुच्छेद लिखना आवश्यक है एवं इस तरह के विषय पर अनुच्छेद अक्सर हिन्दी परीक्षा में पूछ लिए जाते है.

राष्ट्रीय एकता की आवश्यकता

संकेत बिन्दु – (1) राष्ट्रीय एकता क्या है (2) भारत की कमी (3) उपद्रवी तत्व 

राष्ट्र के प्रति एक विचार, एक भावना, एक आस्था से समर्पण व बलिदान की भावना राष्ट्रीय एकता को प्रदर्शित करता है. भिन्न-भिन्न धर्म, जाति, पंथ व भाषा का होना भारत की एकता एवं अखंडता को अक्षुण्ण बनाए रखने में बाधक है. भारत को भौगोलिक संरचना ऐसी है कि वह तीन और समुद्र से और एक और दुश्मन देशों से घिरा है. अतः राष्ट्र पर संकट हमेशा मँडराता रहता है. ऐसी विषम परिस्थितियों से देश को सुरक्षित रखने के लिए देशवासियों का एक जुट होना आवश्यक है. कई बार देश के आंतरिक उपद्रवी तत्व भी धर्म, जाति व भाषा के नाम पर अनेक सांप्रदायिक दंगे-फसाद करते रहते हैं. अतः प्रत्येक भारतीय को मानसिक, वैचारिक एवं धार्मिक एकता प्रदर्शित करना आवश्यक है. संविधान के नीति निर्देशक तत्वों एवं न्यायपालिका के आदेशों एवं कानूनों के पालन एवं क्रियान्वयन में देश के प्रत्येक नागरिक को सर्वसम्मति से मानना ही राष्ट्रीय एकता का सूचक है

अनुच्छेद लिखने की रीति

हम अगर इन बातों का ध्यान रखे तो हम अनुच्छेद को बिल्कुल सटीकता से लिख सकते है.

  • किसी भी विषय पर अगर हमें अनुच्छेद लिखना है, तो हमें उस विषय की जानकारी होना अति आवश्क है.
  • चुने हुए विषय पर लिखने से पहले चिन्तन-मनन करे ताकि मूल भाव भली-भाँति स्पष्ट हो सके.
  • विषय को प्रस्तुत करने की शैली अथवा पद्धति तय होनी चाहिए.
  • लिखते समय सरल भाषा का प्रयोग करे एवं ध्यान रखे की विषय के अनुकूल होनी चाहिए.
  • मुहावरे और लोकोक्तियों आदि का प्रयोग करके भाषा को सुंदर एवं व्यावहारिक बनाने का प्रयास करे.
  • अनुच्छेद लिखते समय मात्राओं की गलती एवं कटा-पिटी ना हो इस बात को हमेशा याद रखे.

Leave a Comment

error: Content is protected !!