मंगलवार व शनिवार को नाख़ून व बाल न काटने का क्या है वैज्ञानिक और ज्योतिषी कारण

मंगलवार व शनिवार को नाख़ून व बाल न काटने का क्या है वैज्ञानिक और ज्योतिषी कारण | Mangalwar Aur Shaniwar Ke Din Baal Aur Nakhoon Kyon Nahi Kaatate, Vaigyanik Aur Jyotish Karan

विश्व की सबसे प्राचीनतम संस्कृति- हिन्दू संस्कृति. जिसमें अनेक प्रकार के नियम युगों-युगों से चले आ रहे है, कुछ नियमों के पीछे तो वास्तविकता में कोई वैज्ञानिक कारण छुपा है परन्तु कुछ नियम समय के साथ-साथ अंध विश्वास से भी जुड़ चले है. परन्तु आज हम जिस विषय पर बात कर रहे है वह पुर्णतः तार्किक है, नाख़ून व बालों को कब काटें और कब ना काटे इस विषय का वैज्ञानिक कारण जानना अत्यंत आवश्यक है.
mangalwar or shaniwar ko nakhun w baal na kate1

हमारे पूर्वजों से चली आ रही कुछ प्रथाएं आज भी जीवित है जिनका वास्तविकता में वैज्ञानिक कारण भी है. हम जब छोटे थे तब से हमें माता-पिता सिखाते आ रहे है कि मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को नाख़ून नहीं काटना चाहिए. परन्तु एक ठोस कारण आज तक आपको नहीं मिला होगा. आइये जानते है इस विषय के बारे में:

सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को बाल ना कटवाने का वैज्ञानिक कारण:

वैज्ञानिकों के अनुसार सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शनिवार के दिन ग्रह व नक्षत्रों की दशा तथा ब्रह्माण्ड में से आने वाली अनेक सूक्ष्म से भी सूक्ष्म किरणें मानव मस्तिष्क पर अत्यंत संवेदनशील प्रभाव डालती है. जिस कारण अनेक प्रकार के नुकसानों का सामना करना पड़ता है.

सोमवार: सोमवार के दिन बाल कटवाने से संतान प्राप्ति में हानि होती है, शिक्षा में रुकावटें आती है और मन अप्रसन्न रहता है.

मंगलवार: इस दिन बाल कटवाने से धन की हानि होती है. यदि आपका मंगल ग्रह कमजोर है तो कभी भी मंगलवार को बाल न कटवाएं कारणवश मंगल अशुभ फल देने लगता है.

गुरुवार: दांपत्य जीवन में तनाव आता है और बड़ो से विवाद की स्थति बनती है.

शनिवार: शनि की शक्ति कम होती है, गठिया व कमर दर्द के रोग बढ़ते है और मन में गलत विचार आते है.

जाने मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को नाख़ून काटने के दुष्परिणाम

मानव शरीर में अंगुलियों के अग्र भाग और सिर अत्यंत संवेदनशील होते हैं, नाख़ून और बालों से इन नाजुक भागों की सुरक्षा होती है, इसलिए इन्हें प्रतिकूल समय पर ही काटना चाहिए.
mangalwar or shaniwar ko nakhun w baal na kate2


नाख़ून को सामान्यतः मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को नहीं काटना चाहिए. रविवार, सोमवार, बुधवार और शुक्रवार नाख़ून काटने के लिए शुभ दिन माने जाते है.

मंगलवार: इस दिन नाख़ून काटने से भाइयों में विवाद होता है, रक्त सम्बंधित रोग होते है, शक्ति व पराक्रम कम होता है.

गुरुवार: गुरुवार को नाख़ून काटने से पेट सम्बंधित रोग होते है और शिक्षा में हानि होती है.

शनिवार: आयु कम होती है और दरिद्रता आती है.

इन्हें भी पढ़ें :

जूनागढ़ किले का इतिहास, निर्माण और संरचना

भारतीय संस्कृति में नारी का स्थान और इतिहास में नारी से जुड़े कुछ सत्य प्रसंग

error: Content is protected !!