बजरंग पूनिया का जीवन परिचय | Bajrang Punia Biography in Hindi

टोक्यो ओलिंपिक 2020 में फ्रीस्टाइल कुश्ती में भारत को कास्य पदक जिताने वाले बजरंग पुनिया की जीवनी |
Bajrang Punia Biography [Birth, Caste, wife], Gold Medal, Weight Category in Hindi

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने एशियन गेम 2018 में पुरुषों की 65 किलोग्राम वर्ग स्पर्धा के फाइनल में जापान के पहलवान तकातानी डियाची को एकतरफा मुकाबले में 11-8 से शिकस्त दी. एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारत के 9वें पहलवान हो गए. बजरंग ने अपना यह गोल्ड मेडल पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित किया.

बिंदु(Points)जानकारी (Information)
नाम(Name)बजरंग पूनिया
जन्म तारीख (Date of Birth)26 फ़रवरी 1994
जन्म स्थान (Birth Place)खुदान
खेल(Sport)फ्रीस्टाइल रेसलिंग(Freestyle wrestling)
कास्ट(Caste)जाट
अवार्ड (Awards)पुरूस्कार(Arjuna Award for Wrestling)
धर्मं (Religion)हिन्दू
नागरिकता (Nationality)भारतीय

बजरंग पूनिया जन्म, शिक्षा और प्रारंभिक शिक्षा (Bajrang Punia Biography)

बजरंग पूनिया का जन्म 26 फरवरी 1994 को हरियाणा के झाझर गाँव में हुआ. इनके पिता का नाम बलवान सिंह पुनिया हैं. इनके पिताजी भी एक पेशेवर पहलवान है. इनकी माता का नाम ओमप्यारी हैं. इनके भाई का नाम हरिंदर पुनिया हैं. बजरंग को कुश्ती विरासत में मिली. इनके परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर थी. बजरंग के सपने पूरे करने के लिए इनके पिताजी ने बहुत से त्याग किए. वे बस का किराया बचाकर साइकिल से अपना काम पूरा करते थे. बजरंग की प्रारंभिक शिक्षा गांव में ही पूरी हुई. सात साल की उम्र में कुश्ती शुरू की और उन्हें उनके पिता द्वारा बहुत सहयोग मिला.जिसके बाद बजरंग ने महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी से अपना ग्रेजुएशन पूरा किया. बजरंग पूनिया ने भारतीय रेलवे में टिकट चेकर (TTE) का भी काम किया.

Bajrang Punia Biography in Hindi

बजरंग पूनिया का खेल करियर(Bajrang Punia Wrestling Career)

बजरंग पूनिया ने वर्ष 2013 में एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप दिल्ली में भाग लिया था. जिसमे वे सेमीफाइनल तक का सफ़र किया. जिसमे वे हार गए थे.

  • इसके बाद में बजरंग ने 2013 विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप बुडापेस्ट, हंगरी में 60 कि.ग्रा वर्ग में कांस्य पदक अपने नाम किया था. वर्ष 2014 के राष्ट्रमंडल खेल ग्लासगो, स्कॉटलैंड में 61 कि.ग्रा वर्ग में रजत पदक जीता था.
  • वर्ष 2014 में ही एशियाई खेल इनचियन, दक्षिण कोरिया में फिर से रजत पदक अपने नाम किया.
  • एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप 2017, दिल्ली में बजरंग पूनिया ने गोल्ड मेडल जीता था.
  • इसके बाद 2018 के राष्ट्रमंडल खेल में गोल्ड मेडल अपने नाम किया और 2018 के ही एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीत कर देश का नाम रोशन किया हैं. बजरंग पूनिया ने अब तक कुल 5 गोल्ड, 3 ब्रोनज, 4 सिल्वर मेडल जीत चुके हैं.
Bajrang Punia Biography in Hindi

2021 में बजरंग पुनिया टोक्यो ओलिंपिक 2020 का हिस्सा बने, इसमें उन्होंने अपना पूरा दम लगा दिया और ओलिंपिक 2020 65 kg फ्रीस्टाइल वर्ग में सेमीफाइनल राउंड में पहुँच गये. दुर्भाग्य से बजरंग पुनिया सेमिफिनल राउंड हार गए, पर जब उनका मुकाबला ब्रॉन्ज मेडल मैच में कजाकिस्तान के पहलवान डाउलेट नियाजबेकोव से हुआ तो, बजरंग ने बेहतरीन वापसी करते हुए इस मैच को जीतकर टोक्यो ओलिंपिक 2020 में कास्य पदक(Bronze Medal) अपने नाम किया. इस मैच में दीपक ने 8-0 से अपने नाम किया.

बजरंग पूनिया का विडियो (Bajrang Punia Video)

इसे भी पढ़े :

3 thoughts on “बजरंग पूनिया का जीवन परिचय | Bajrang Punia Biography in Hindi”

  1. दिल शुद्ध देशी ही लिखा।।। जय जय हो आपकी।।। भारत माता की जय हो।।। जयश्रीराधेकृष्ण।।। धन्यवाद आपका

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!