राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय|Draupadi Murmu Biography in Hindi

क्रिकेटर द्रौपदी मुर्मू की जीवनी, जन्म, परिवार
Draupadi Murmu Biography, Age, Career, Family, Education, Net Worth, Caste, Parents In Hindi

द्रौपदी मुर्मू एक आदिवासी महिला नेता है, जो कि मोदी सरकार के द्वारा राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में पहली पसंद है. वर्तमान में वे झारखंड की पहली महिला आदिवासी राज्यपाल के पद पर नियुक्त है. भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि “इस बार पार्टी नेताओं के बीच राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए 20 नामों पर चर्चा हुई और द्रौपदी मुर्मू के काम को देखते हुए उनको भाजपा की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया है. वह अगर चुनाव जीतती हैं, तो वे राष्ट्रपति बनने वाली पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होगी. द्रौपदी मुर्मू को भारत सरकार के द्वारा Z+ सुरक्षा प्राप्त है.

द्रौपदी मुर्मू ने भाजपा में रहते हुए कई प्रमुख भूमिकाएँ निभाईं है, उन्होंने एसटी मोर्चा पर राज्य अध्यक्ष और मयूरभान के भाजपा जिलाध्यक्ष के रूप में कार्य किया है. साल 2007 में मुर्मू को ओडिशा विधानसभा द्वारा वर्ष का सर्वश्रेष्ठ विधायक होने के लिए “नीलकंठ पुरस्कार” से सम्मानित किया गया था. मई 2015 में, भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें झारखंड के राज्यपाल के रूप में चुना. वह झारखंड की पहली महिला राज्यपाल हैं. वह ओडिशा की पहली महिला और आदिवासी नेता भी हैं, जिन्हें ओडिशा राज्य में राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था.

वह काफी बड़े-बड़े पद पर रह चुकी है, लेकिन उनके अंदर किसी भी प्रकार का अहंकार नहीं है. एक समय जब वह शिव मंदिर गई थी तब मंदिर में अच्छी तरह से साफ-सफाई नहीं होने पर उन्होंने खुद ही मंदिर में झाड़ू लगाई और उसके बाद उन्होंने दर्शन किये. वह विडियो आप यहाँ पर देख सकते है.

जन्म और परिचय

द्रौपदी मुर्मू जन्म 20 जून 1958 को ओडिशा के मयुरभंज जिले के बैदोपोसी गाँव में आदिवासी समुदाय में हुआ था. उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू है. द्रौपदी मुर्मू की शादी श्याम चरण मुर्मू के साथ हुई है, जिनका स्वर्गवास हो चूका है. उनके दो बेटे भी थे, जो कि अब इस दुनिया में नहीं है. उन्होंने अपना जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित किया है और वह अपनी बेटी इतिश्री मुर्मू के सहारे अपना जीवन जीती है. उन्होंने अपनी स्कूल की शिक्षा निजी स्कूल से प्राप्त की एवं राम देवी महिला कॉलेज भुवनेश्वर,ओडिशा से कला स्नातक में ग्रेजुशन की डिग्री प्राप्त की है.

पूरा नामद्रौपदी मुर्मू
जन्म20 जून 1958
जन्म स्थानमयूरभंज, उड़ीसा, भारत
उम्र (2022 में)64 साल
पेशाराजनीतिज्ञ
पिता का नामस्वर्गीय बिरंची नारायण टुडू
माता का नामज्ञात नहीं
पति का नामश्याम चरण मुर्मु
बेटी का नाम इतिश्री मुर्मु
शिक्षाकला स्नातक
कॉलेजराम देवी महिला कॉलेज, भुवनेश्वर,ओडिशा
राजनेतिक पार्टीभारतीय जनता पार्टी (भाजपा)
कद5’ 4” फीट
आँखों का रंगकाला
बालो का रंगकाला

द्रौपदी मुर्मू की शुरुआत और राजनितिक करियर

द्रौपदी मुर्मू ने रायरंगपुर में श्री इंटीग्रल एजुकेशन सेंटर में एक सहायक शिक्षक के रूप में अपनी शुरूआत की थी, इसके बाद उन्होंने सिंचाई और बिजली विभाग में ओडिशा सरकार के साथ काम किया. वह आदिवासी समाज की एक पढ़ीलिखी महिला है, जिसके कारण उनके उपर अपने समाज के प्रति कई जिम्मेदारी थी. द्रौपदी मुर्मू ने अपना जीवन समाज की सेवा, गरीबों, दलितों तथा हाशिए पर खड़े लोगों को सशक्त बनाने के लिए समर्पित किया है.

द्रौपदी मुर्मू ने राजनीति में कदम 1997 में रखा, उन्होंने पार्षद के रूप में स्थानीय चुनाव जीते और उसी वर्ष भाजपा के एसटी मोर्चा की राज्य उपाध्यक्ष बनीं. उन्होंने भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर दो बार रायरंगपुर सीट हासिल की, और 2000 में ओडिशा सरकार में राज्य मंत्री बन कर अपनी सेवा दी. ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी और बीजू जनता दल गठबंधन सरकार के दौरान, वह 6 मार्च 2000 से 6 अगस्त 2002 तक वाणिज्य और परिवहन के लिए स्वतंत्र प्रभार मंत्री रही थी. उनको साल 2013 में मयूरभंज जिले के लिए पार्टी का जिला अध्यक्ष पद के लिए पदोन्नत किया गया था. उन्होंने अबतक के जीवन में कई श्रेष्ठ काम किये है, जिसके चलते उनको साल 2022 में भारत का एक सम्मानित पद राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार के लिए चुना गया है.

राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार होते ही मिलने लगी बधाईयाँ

  • गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट में लिखते हुए कहा कि “द्रौपदी मुर्मू जी ने जनजातीय समाज में शिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाने व जनप्रतिनिधि के रूप में लम्बे समय तक जनसेवा करते हुए सार्वजनिक जीवन में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है. इस पद की प्रत्याशी बनने पर उनको शुभकामनाएं देता हूँ और मुझे विश्वास है कि वह निश्चित रूप से राष्ट्रपति बनेगी ”.
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मुर्मू को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए चुना जाने पर दी शुभकामना.
  • मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मुर्मू को बधाई देते हुए कहते है कि “द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए चुनना आदिवासी समुदाय के गर्व की बात है”.

Leave a Comment