भारत के महान व्यक्तियों की जीवनी | Motivational People Biography In Hindi

भारत के महान व्यक्तियों की जीवनी और उनकी खास जानकारी हिंदी भाषा में
Motivational, inspirational personality People Biography, Story, Information In Hindi

आज के दौर में भारतीय हर क्षेत्र में अपना बेहतरीन योगदान कर अपने देश का सर पूरी दुनिया में ऊँचा कर रहे है. आज हमारे देश के कई ऐसे लोग है जिन्होंने विदेशो में जाकर अपने देश के छाप विश्वभर में छोड़ी है. ये कहना अब गलत नहीं होगा कि दुनिया के हर बड़े देश को भारत और उसके महान लोगो की खास जरुरत होती है.

कुछ ऐसे ही महान लोगो की सूचि और उनके बारे में खास जानकारी हम आपके लिए इस लेख में लाये है. जिन्होंने अपने-अपने कार्य क्षेत्र में महान काम किया है . यही वजह है कि आज हम इनके बारे में पढ़ने जा रहे है और इनके जीवन और इनके महान कार्यो से प्रेरणा लेकर अपने जीवन को भी महान बनाने की कोशिश करेंगे. तो चलिए जानते है भारत के महान और प्रेरणात्मक (Motivational People Biography) लोगो के बारे में.

भारत के महान व्यक्तियों की जीवनी | Motivational People Biography In Hindi

1. स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda)

स्वामी विवेकानंद जी, जिन्हें आज हम किताबो में पढ़ते है, इनके द्वारा किये गये महान कार्यो को हम अपने स्कूल में पढ़ चुके है. स्वामी विवेकानंद भारतीय वैदिक सनातन संस्कृति की जीवंत प्रतिमूर्ति थे जिन्होंने संपूर्ण विश्व को भारत की संस्कृति, धर्म के मूल आधार और नैतिक मूल्यों से परिचय कराया. ये वही व्यक्ति है जिनकी बुद्धि और ज्ञान ने दुनिया को इनके सामने नतमस्तक करने पर मजबूर कर दिया था. ये वही व्यक्ति है जिन्होंने भारतीय सनातन धर्म और उसके आध्यात्म को सयुंक्त राज्य अमेरिका और यूरोप से अवगत कराया.

विवेकानंद जी का असली नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था, उनका जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता के कुलीन परिवार में हुआ था. स्वामी जी अपनी युवास्था में ही गुरु रामकृष्ण परमहंस से जुड़ चुके थे. तभी से स्वामी जी का झुकाव सनातन धर्म की तरफ बढ़ा. एक सरल आम इन्सान से एक महान और स्वामी बनने की कहानी जानने के लिए आपको इनकी पूरी जीवनी पढ़ना होगी. जिसे आप उनके नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते है.

2. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम (APJ Abdul Kalam)

देश के महान वैज्ञानिक और देश के पूर्व राष्ट्रपति, जिन्हें हम मिसाइल मेन के नाम पर भी जानते है. ये वही व्यक्ति है जिन्होंने अपने जीवन का सफ़र एक गरीब परिवार से शुरू किया था और जीवन में कुछ कर जाने का फैसला किया था. इनके बारे में ऐसा कहा जाता है, कलाम साहब बचपन में पेपर बेचकर अपना गुज़ारा करते थे.

इन्होंने अपने जीवन के 40 वर्ष भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) में एक श्रेष्ट वैज्ञानिक के रूप में बताएं है. 1998 में, उन्होंने पोखरण -2 परमाणु परीक्षण में भी एक प्रमुख वैज्ञानिक के तौर पर मौजूद थे. एक वैज्ञानिक के रूप में उनकी उपलब्धियों और योगदान के लिए, उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न पुरस्कार‘ से सम्मानित किया गया है. इनके बारे में और भी विस्तार से जानने के लिए इनके नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते है.

3. गुरु गोविन्द सिंह (Guru Gobind Singh)

“चिड़ियों से मैं बाज लडाऊ , गीदड़ों को मैं शेर बनाऊ, सवा लाख से एक लडाऊ तभी गोबिंद सिंह नाम कहउँ ” ये किसने नहीं सुनी, ये कहावत सुनते ही अच्छे अच्छे से डरे हुए व्यक्ति में जोश बहर जाता है. इसी जोश और जूनून को पैदा करने वाले गुरु है गुरु गोविन्द सिंह जी. इस महान व्यक्ति के किस्सों में सिर्फ आपको देश प्रेम, धर्म प्रेम और अपनी मिटटी से लगाव मिलेगा इसके सिवा कुछ नहीं.

गुरु गोविन्द सिंह जी सिख समुदाय के दसवें गुरु थे, खालसा नामक सिख योद्धा समुदाय की स्थापना की थी. वे एक कवि के साथ-साथ महान योद्धा भी थे, जिनके शोर्य और साहस की कहानी आज भी सिख समुदाय सुनाता है. गोविन्द सिंह जी का जन्म 22 दिसंबर 1666 पटना में हुआ था, इनके पिता तेग बहादुर पिता सिखों के 9वें गुरु थे. इनके बारे में और जानने के लिए उनके नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते है.

4. भगत सिंह (Bhagat Singh)

महान क्रन्तिकारी भगत सिंह को पूरा देश जनता है, और उनके बलिदान के लिए नमन करता है. जिस उम्र में अक्सर लोग खेलने कूदने या पढ़ने की बाते करते है,उस उम्र में भगत सिंह अपने देश के लिए बलिदान हो गये. ये वो व्यक्ति है जिन्होंने अपने देश को आजाद कराने की कमान छोटी सी उम्र में संभाल ली थी. आज देश के युवाओं को इनसे देश प्रेम और उस पर मरमिट जाने की प्रेरणा लेना चाहिए. भगत सिंह का जन्म और उनकी क्रन्तिकारी कहानियों के लिए आपको विस्तार में उनके बारे में पढ़ना होगा जिसे आप उनके नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते है.

5. सुभाषचंद्र बोस (Subhas Chandra Bose)

अंग्रेजी अफसरों की नींदे उदा देने वाले नेता सुभाष चन्द्र बोस भारत के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे. बोस का युवाओं के बीच बहुत अच्छा प्रभाव था, उनके एक कहने पर देश के युवा मरने मिटने को तैयार थे. वे स्वामी विवेकानंद की शिक्षाओं से गहरे प्रभावित थे और एक छात्र के रूप में देशभक्ति के लिए जाने जाते थे. ये वही नेता है जिन्होंने आजाद हिन्द फौज का गठन किया था और “तुम मुझे खून दो में तुम्हे आज़ादी दूंगा” नारा दिया था.

बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को कटक (उड़ीसा) में हुआ था, बोस बचपन से ही तेज और उत्साहित व्यक्ति रहे है. ये वो व्यक्ति है जो रातो रात अपनी सेना तैयार कर सकते थे. इनके बारे में पढ़कर जो प्रेरणा एक छात्र को मिलेगी वो उसे जीवन में बहुत आगे ले जाएगी. इनके नाम पर क्लिक करके विस्तार से पढ़े इनकी

जीवनी.

6. सरदार वल्लभभाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel)

सरदार वल्लभभाई पटेल भारतीय राजनीति में एक प्रतिष्ठित नाम हैं. वह एक वकील और राजनीतिक कार्यकर्ता थे. उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान एक प्रमुख भूमिका निभाई. स्वतंत्रता के बाद वह भारतीय संघ में 500 से अधिक रियासतों के एकीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. वह गांधी की विचारधारा और सिद्धांतों से बहुत प्रभावित थे.

वे स्वतंत्र भारत के पहले गृह मंत्री थे और देश के समेकन (consolidation) के लिए उनके प्रयासों ने उन्हें ‘लौहपुरुष’ नाम दिया था. वल्लभभाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को गुजरात के नडियाद गाँव में झवेरभाई और लाडबाई के यहाँ हुआ था. उनके पिता ने झांसी की रानी की सेना में सेवा की थी जबकि उनकी माँ एक बहुत ही आध्यात्मिक महिला थीं. इनके बारे में और विस्तार से जानने के लिए उनके नाम पर क्लिक करे और विस्तार में जाने.

7. सावित्रीबाई फुले (Savitribai Phule)

सावित्री बाई फुले एक कवित्री के साथ-साथ समाजसेवी रही है, उन्नीसवीं शताब्दी के दौरान महिला शिक्षा और सशक्तिकरण में इन्होंने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. सावित्री बाई उस वक्त की कुछ चुनिन्दा साक्षर महिलाओं में गिनी जाती थी. इन्हें डॉ. भीमराव अम्बेडकर की ही तरह दलितों के अच्छे के लिए एक प्रतिक माना जाता है.

इन्होंने अपने जीवन में दलितों के हक़ के लिए खूब लड़ाई लड़ी, ये लड़ाई कुछ समाझ के खिलाफ थी तो कुछ सरकार के. इन्होंने महिला साक्षरता और बाल विवाह की जागरूकता के प्रति बहुत अहम काम किये है. ये उस वक्त महिलाओं के हक़ के लिए लड़ रही थी जब महिलाओं को कुछ खास अधिकार नही मिले थे. इन्होंने अपने पुरे जीवन में महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ाईयाँ लड़ी है. यदि आप इनकी कहानी पढ़ना चाहते है तो इनके नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते है.

8. शकुंतलादेवी (Shakuntala Devi)

शकुंतला देवी एक भारतीय मैथमेटिकल जादूगर जो एक लेखिका भी थीं. कठिन से कठिन गणतीय गणना अपने दिमाग से चुटकियों में कर देने वाली ये महिला कोई आम महिला नहीं थी. शकुंतला देवी को “मानव-कंप्यूटर” के नाम से भी जाना जाता हैं, इनका दिमाग कंप्यूटर से भी तेज दोड़ता था. इनकी यही वो असाधारण क्षमता है जिसने इन्हें “द गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड” में जगह दिलाई. शकुंतला देवी एक ऐसी जीनियस थी जो तीन साल की उम्र से लोगों को अपने अपनी गणितीय गणना से चौंका रही थी. इस महान जीनियस महिला के बारे में विस्तार से जानने के लिए इनके नाम पर क्लिक करे.

9. अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan)

हर युग में बहुत से नायक भी होते है और खलनायक भी पर हमारे इस युग का महानायक सिर्फ अमिताभ बच्चन जी को कहा जाता है. अमिताभ बच्चन बॉलीवुड इंडस्ट्री के सबसे लोकप्रिय अभिनेता माने जाते है. उन्होंने अपने नायब हुनर से सभी का मन मोह लिया है, यहाँ तक कि आज का हर नया अभिनेता उनकी तरह बनना चाहता है. ये हर वर्ग, हर पीढ़ी के लिए प्रेरणा की तरह है. इन्होंने अपने जीवन में बहुत उतार चढ़ाव देखे, बहुत परेशानियाँ देखी, पर कभी हार नहीं मानी कभी अपने बड़े हुए कदमो को पीछे नहीं लिया और उनके इसी जज्बे ने उन्हें इस सदी का महानायक बना दिया. सदी के इस महानायक के बारे में शुरुआत से जानने के लिए उनके नाम पर क्लिक करें.

10. दारा सिंह (Dara Singh)

Motivational People Biography In Hindi

पहलवान, अभिनेता अपराजित दारा सिंह, जी हाँ दोस्तों इन्हें इनका नाम ऐसे ही लिया जाता है, और उसका कारण है लगातार 500 मुकाबलों में पहलवान दारा सिंह को कोई नहीं हरा पाया. ये एक पहलवान के आलावा बेहतरीन अभिनेता भी थे, जिन्हें आपके कई फिल्मो और नाटको में देखा होगा. दारा सिंह ने 55 की उम्र तक पहलवानी की और 500 मुकाबलों में कभी भी हार का मुँह नही देखा. अपने 36 साल के कुश्ती के करियर में एक भी ऐसा पहलवान नही था, जिसे दारा सिंह जी ने मुकाबला कर के रिंग में धुल न चटाई हो. विश्व चैंपियन दारा सिंह के बचपन और जवानी की कहानियां बहुत ही दिलचस्प है, यदि आप इनके बारे में विस्तार से पढ़ना चाहते है तो इनके नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते है.

आपको हमारा ये लेख Motivational People Biography in hindi कैसा लगा हमे कमेंट करके जरुर बताएं, यदि आपको किसी जानकारी में कोई अपडेट भी करवाना हो या कोई सवाल हो, तब भी आप हमें कमेंट कर सकते है.

Leave a Comment