चिंता और तनाव से मुक्ति पाने के आसान उपाय | Mansik Tanav se Mukti ke Upay in Hindi

मानसिक तनाव को कम और चिंताओं को दूर करने के घरेलू आयुर्वेदिक उपाय | mansik tanav se mukti ke upay | Stress Management Tips In Hindi

व्यस्तता भरी जीवनशैली और लगातार काम करने की आदत ने आज लगभग हर इंसान को तनाव और चिंता ग्रसित कर दिया है. आज-कल बिरले ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे किसी भी बात का तनाव न हो. कोई अपनी निजी जिंदगी से तनाव ग्रस्त है, तो कोई कार्यक्षेत्र से. कोई रोजगार न मिलने से तनाव ग्रस्त है, तो बच्चे अच्छे नम्बर लाने के लिए, तो कोई अपनी सेहत को लेकर परेशान है. कहने के लिए तो आज इंसानी सभ्यता ने बहुत तरक्की कर ली है. पर आज एक सुकून और चिंता मुक्त जिंदगी किसी बड़े ही भाग्यशाली व्यक्ति को नसीब होती है.

यदि इस समस्या के कारण के बारे में बात करे तो पता चलता है कि कुछ वैचारिक विसंगतियां ही इस समस्या को प्रमुख रूप से जन्म देती है.

मानसिक तनाव और चिंता के प्रमुख कारण (Mansik Tanav Ke karan)

  • जब हम अपने मन में कुछ ऐसी इच्छाएं पाल ले, जिनका पूरा होना नामुमकिन सा है, या बहुत ही मुश्किल है, ऐसी सोच दिमाग मे तनाव को जन्म देती है.
  • आसपास का माहौल भी आजकल तनाव भरा होता जा रहा है. सामाजिक संबंध टूट रहे है. लोग तेजी से एकल परिवार की तरफ बढ़ रहे है. लगातार हर तरफ औद्योगिकीकरण होता जा रहा है, और बदलते वक्त के साथ हर एक इंसान वक़्त के हिसाब से ढलना चाहता है, पर सभी में तो एक जैसी क्षमताये तो नही हो सकती है. यही वजह दिमाग मे तनाव और चिंता को जन्म देती है.
  • काम का बोझ, पारिवारिक जीवन मे कलह, कार्यक्षेत्र में सही व्यवहार न होना, अपनी पसंद का काम न मिलना, पैसों का आभाव, किसी और कि तरक्की से खुद की तुलना करना आदि ऐसे प्रमुख कारण है, जो इस समस्या के जिम्मेदार है.
    पर यदि हम इस समस्या को एक समस्या ही समझे, और इसे अपने जीवन का हिस्सा न माने, तो कुछ सामान्य और घरेलू उपायों के द्वारा इन समस्याओं से राहत पा सकते है.

चिंता और तनाव से मुक्ति के सामान्य उपाय (Mansik Tanav se Mukti Ke Upay in Hindi)

  • लगातार काम करते रहने से हमारा मस्तिष्क थकान महसूस करने लगता है, उसे कुछ देर आराम की जरूरत महसूस होती है. इसलिए काम के बीच मे थोड़ा आराम जरूर लेते रहे. इससे आपकी कार्यक्षमता बढ़ती है, साथ बेवजह का तनाव भी दूर रहता है.
  • हम जो भी काम कर रहे है, यदि वो दिल से कर रहे है, उस काम को प्यार करते है, तो मानसिक तनाव होने की संभावना कुछ हद तक कम हो जाती है. इसलिए जो भी काम करे, उसे प्यार करे. इससे हमारे अंदर समर्पण की भावना पैदा होती है.
  • सुगंधित चीज़ों से मन शांत होता है. इसलिए कोशिश करे कि आपका कार्यक्षेत्र, सोने का स्थान सुगंधित हो.
  • तनाव और चिंता का एक प्रमुख कारण दिन भर काम करना होता है. कुछ लोग अपनी जिंदगी को इस तरह से बना देते है, जहाँ जीने का मकसद सिर्फ काम करना ही बना गया है. पर अपने लिए समय निकालना बहुत जरूरी होता है.
  • जब भी मौका बने, दिल खोलकर हँसे. खुलकर हसना न सिर्फ तनाव और चिंता से राहत देता है, बल्कि दिल को भी बजबूत बनाता है.

चिंता और तनाव से मुक्ति के घरेलू उपाय (Mansik Tanav se Mukti Ke Garelu Upay in Hindi)

  1. कैमोमाइल का सेवन भी दिमाग को शांत और तनाव रहित बनाता है. कैमोमाइल का सेवन करने के लिए दो से तीन कप गर्म पानी भर 3 चम्मच सूखा कैमोमाइल डाले और कम से कम 5 मिनट तक इसे उबलने दे. इसके मिश्रण को छान कर उसमें शहद या दालचीनी मिला कर पी लें.
    इस मिश्रण को कम से कम 1 महीने तक जरूर पीना चाहिए. इसे आप दिन में दो से तीन बार पी सकते है.
  2. संतरे का सेवन भी चिंता और तनाव से राहत देता है. संतरे का लाभ दो तरह से लिया जा सकता है. पहला संतरे के जूस में शहद मिलाकर पिएं. इसे दिन में 4 बार पी सकते है.
    इसके अलावा संतरे की खुशबू भी बहुत लाभदायक होती है. संतरे को छील कर उसकी खुशबू ले, या फिर संतरे के छिलकों को पानी मे उबाल लें और उसकी भाप ले.
  3. रोज़मेरी में चिंता और तनाव दूर करने की अद्भुत क्षमता होती है. इसके इस्तेमाल के लिए 1 कप गर्म पानी में 2 चम्मच रोजमेरी ले, और उसे कम से कम 10 मिनट तक उबाले. उबालने कर बाद इस मिश्रण को छान कर पी जाए. इस उपाय के दुष्परिणाम नही है. इसलिए जब तक बेहतर परिणाम न दिखे, तब तक इसका सेवन कर सकते है.
  4. जायफल की खुशबू शरीर के तनाव और चिंता से राहत देती है. यह शरीर की मांसपेशियों को रिलैक्स करती है. जायफल के पाउडर का सेवन भी खाने के साथ कर सकते है. लेकिन अत्याधिक सेवन नुकसानदायक होता है.
  5. बादाम का सेवन मस्तिष्क की मांसपेशियों को शक्ति प्रदान करता है. इसमे ओमेगा 3 फैटी एसिड वसा पाया जाता है, जो सेहत के लिए एक अच्छा वसा माना जाता है. यह तनाव और चिंता से राहत देता है.

    इसे इस्तेमाल करने वाकई विधि इस प्रकार है.

    रात में कम से कम 10 बादाम पानी मे भिगो दें. सुबह उठते ही खाली पेट इसका सेवन करना है. इसके लिए बादाम के छिलकों को उतार दे और उसका पेस्ट बना ले. अब इस पेस्ट में थोड़ा सा जायफल का पाउडर और अदरक मिलाकर पूरा पेस्ट दूध में मिलाकर पी जाएं.

  6. चिंता और तनाव से मुक्ति दिलाने में सौफ भी अच्छी भूमिका निभा सकता है. इसका तेल बहुत लाभदायक होता है. प्रयोग करने के लिए एक पेपर में सौफ के तेल की कुछ बूंदे निकाले और उसे सूंघे. ऐसा आप दिन में कई बार कर सकते है.
  7. मसाज करने से शरीर के तनाव से राहत मिलती है और मन शांत होता है. शरीर के कुछ हिस्से जैसे गर्दन, कंधे, पीठ और पैर इन पर काम करने की वजह से बहुत अधिक तनाव पैदा हो जाता है. इसके लिए मालिश करना एक बेहतर उपाय है. मालिश के लिए तिल का तेल, नारियल का तेल, सरसो का तेल उपयुक्त माना जाता है.

इसे भी पढ़े :

Loading...

Leave a Comment