लम्बाई बढ़ाने वाले योग और व्यायाम | List of Yoga for increase of Height in Hindi

लम्बाई बढ़ाने के लाभप्रद योग और व्यायामों की सूची | Tips to Increase Height Growth Rate in any Age Help of Yoga Asana in Hindi

आज हर इंसान चाहता है कि वह बहुत ही स्मार्ट दिखे, उसकी पर्सनालिटी अच्छी हो. इसके लिए वह तरह तरह की कोशिशें भी करता है. जैसे जिम में जाकर अपने मांसपेशियों को मजबूत और एक बेहतर शक्ल देने की कोशिश करते है. तो वही चेहरे पर कई तरह की कॉस्मेटिक क्रीम का उपयोग करते है. लेकिन इतना सब करने के बाद कुछ लोगों के मन में अपनी लंबाई को लेकर हमेशा शिकायत रहती है. हमे हमेशा लगता है कि थोड़ा लंबाई और होती तो बेहतर होता. इसी समस्या के समाधान के लिए हम तरह तरह के उपाय ढूंढते रहते है. पर यदि योग की शरण मे जाया जाए तो पता चलता है कि यहाँ हमे कई तरह के ऐसे आसन मिलते है, जो न सिर्फ हमारी लंबाई बढ़ाने में सहायक होते है, बल्कि कई अन्य तरह से भी स्वास्थ्य लाभ देते है. इसी समस्या के समाधान हेतु यहाँ कुछ आसन बताए गए है, जो लंबाई बढ़ाने में बहुत सहायता करेंगे.

ताड़ासन (Tadasana)

एक एक ऐसी योगिक क्रिया है, जिसको करके लंबाई बढ़ाई जा सकती है. इस योगासन को करने के दौरान शरीर की स्थिति ताड़ के वृक्ष के समान लगने लगती है, इसलिए इस योगासन को ताड़ासन के नाम से जाना जाता है. इस योग को करने के कई लाभ है. यह शरीर की मांसपेशियों को लचीला बनाता है. इसके साथ ही शरीर के अंदर बहुत सी सूक्ष्म मांसपेशियां होती है, इस योगासन के द्वारा उन सूक्ष्म मांसपेशियों का व्यायाम हो जाता है. यह योगासन शरीर के निचले भाग को खिंचता है, जिससे है पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है.

ताड़ासन करने की प्रक्रिया (Process of Tadasana)

ताड़ासन करने की विधि बहुत ही सरल है. इस पूरी विधि को कुछ चरणों में बांटा जा सकता है.

  1. सबसे पहले किसी अच्छी जगह में चटाई बिछा ले, और उस पर शांत अवस्था मे खड़े हो जाए.
  2. अपने दोनों पैरों को एक दूसरे से जोड़कर इस तरह से रखे कि शरीर का पूरा वजन आपके पैरों पर हो. इस अवस्था में शरीर व हाथों को सीधा रखें.
  3. फिर अपने हांथो को कंधों के समानान्तर ले कर आए. इसके पश्चात दोनों हाथों के पंजों को पकड़ कर सांस भरते हुए ऊपर उठाएं, और हाथों को ऊपर की तरफ तब तक खींचे जब तक सीने में तनाव न महसूस होने लगे. इसके साथ ही पैर की एड़ियों को भी उठा ले.
  4. अब कुछ देर इसी स्थिति में रुके, इसके पश्चात सांस छोड़ते हुए हाथो को सिर पर रखे. और धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आ जाए.
  5. इस प्रक्रिया को कम से कम 10 बार दोहराए.

ताड़ासन की विडियो (Video of Tadasana)

वृक्षासन(Vrikshasana)

यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण योग क्रिया है. इसका लाभ न सिर्फ शरीर को मिलता है, बल्कि मानसिक स्थिरता भी लाता है. सम्राट अशोक के द्वारा इस योग को किया जाता था.
यह योग न सिर्फ लंबाई बढ़ाने में सहायक है बल्कि एड़ियों में दर्द, गठिया रोग, रीढ़ की हड्डी में दर्द, तनाव आदि को ठीक करता है.

विधि (Process of Vrikshasana)

  1. सबसे पहले सीधे सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाए.
  2. फिर दाएं पैर को उठाए, और दाएं हाथ की सहायता से दाएं पैर की एड़ी को बाएँ पैर की जांघ के ऊपरी सिरे में इस तरह से रखे की समकोण की स्थिति बन जाए.
  3. अब दोनों हाथों को नमस्कार की मुद्रा में लाए और कुछ देर तक रुके, फिर दोनों को इसी मुद्रा में रखते हुए ऊपर उठाएं और संतुलन की स्थिति बनाने की कोशिश करे.
  4. इसके बाद हाथो को नीचे लाये और हाथो की सहायता से पैर को जांघ से हटाकर नीचे रखे.
  5. इस प्रक्रिया को 3-5 बार दोहराए.

वृक्षासन की विडियो (Video of Vrikshasana)

सर्वांगासन (Swargasan)

सर्वांगासन तीन शब्दो से मिल कर बना है. सर्व, अंग और आसान. मतलब यह एक मात्र ऐसा योगासन है जो सभी अंगों को फायदा पहुंचाता है. कंधों में दर्द, गर्दन दर्द, थाइराइड, तनाव, कब्ज आदि की समस्याओं में यह योग बहुत कारगर होता है.

विधि (Process of Swargasan)

  1. एक चटाई को बिछाकर उस पर पीठ के बल लेट जाएं. अपने हाथों को सीधा जांघो के बगल में रखे.
  2. इसके बाद अपने पैरों और कूल्हों को उठाते हुए अर्ध हलासन की मुद्रा में आए. इस दौरान अपने हाथों के पंजों की सहायता से अपने कूल्हों को सहारा दे.
  3. इस स्थिति में कुछ देर रुक कर सांस ले और यह जांच करें कि आप सही स्थिति में है.
  4. इसके बाद आप अपने पैरों को ऊपर उठाते हुए सीधा कर ले. इस स्थिति में कुछ देर रुके.
  5. इसके पश्चात धीरे धीरे सावधानी पूर्वक पैरों को धीरे से नीचे लाएं.
  6. इस योग को दस्त, माहवारी, हाई बीपी के दौरान न करें.

सर्वांगासन की विडियो (Video of Swargasan)

पश्चिमोत्तासन(Paschimottanasana)

यह आसन योग का एक महत्वपूर्ण आसन है. यह आसन न सिर्फ शरीर, मन को स्वस्थ करता है, बल्कि जो लोग अध्यात्म के क्षेत्र में प्रगति करना चाहते है, उनके लिए यह एक प्रमुख आसन होता है. यह कुंडलिनी जागरण में सहायक होता है. इस आसन के दौरान शरीर के प्रमुख जोड़ो पर दबाब पड़ता है, जिससे वह जोड़ खुलते है, और जकड़न नही रहती. इसके अलावा पीठ के रोग, पेट के रोग, आत के रोग, हृदय आदि रोगों में राहत पहुंचाता है.

विधि(Process of Paschimottanasana)

  1. सबसे पहले जमीन पर चटाई बिछा कर पैर फैला कर लेट जाएं.
  2. अपने हाथो को सीधा अपने बगल में रखे.
  3. इसके बाद अपने हाथो को सांस भरते हुए सर तक ऊपर की तरफ उठाएं.
  4. फिर एक ही बार मे सांस छोड़ते हुए अपने पूरी पीठ तो उठाये, अपने हाथों से पैर की अंगुलियाँ पकड़ने की कोशिश करें, नाक को घुटने पर छुने की कोशिश करे और सांस को धीरे धीरे छोड़ते जाए.
  5. यह प्रक्रिया 3-5 बार दोहराएँ.

पश्चिमोत्तासन की विडियो (Video of Paschimottanasana)

सूर्य नमस्कार(Suryanamaskar)

यह एक ऐसा आसन है जिसमे कई तरह के आसन समाए हुए है. अपने शरीर के विकास में यह आसन बहुत लाभकारी होता है. इससे हमारे शरीर की लंबाई बढ़ती है, शरीर की बंद नसे खुलती है, रक्त संचार अच्छा होता हूं, तनाव दूर होता है, चेहरे पर चमक आती है. इन सब के अलावा भी कई लाभ है.

सूर्य नमस्कार की विडियो (Video of Suryanamaskar)

इसे भी पढ़े :

loading...

2 thoughts on “लम्बाई बढ़ाने वाले योग और व्यायाम | List of Yoga for increase of Height in Hindi

  • August 25, 2018 at 3:52 pm
    Permalink

    दिल शुद्ध देशी।।। धन्यवाद आपका।।। जयश्रीराधेकृष्ण

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *