पुष्य नक्षत्र के शुभकामनाएं सन्देश | Pushya Nakshatra Messages in Hindi

2022 पुष्य नक्षत्र पर शायरियां और शुभकामनाएं सन्देश | Pushya Nakshatra Message, Shayari, Quotes, Wishes in Hindi

पुष्य नक्षत्र को ज्योतिष शास्त्र में बेहद लाभकारी माना गया है. पुष्य का अर्थ पोषण करना या पोषण करने वाला होता है. ग्रह-नक्षत्रों की स्थिति में बदलाव का असर सभी 12 राशियों पर पड़ता है. ज्योतिष गणना में पुष्य नक्षत्र को सुख-समृद्धि व शुभ फल प्रदान करने वाला माना गया है. अक्टूबर का महीना ग्रहों की स्थिति के लिहाज से खास है, इस वर्ष पुष्य नक्षत्र 18 अक्टूबर को आ रहा हैं. इस दिन सभी अपने रिश्तेदारों और सगे-संबंधियों की शुभकामनाएं देते हैं. हमने आपके लिए तैयार की एक एक ख़ास पोस्ट, जिसमे आपको पुष्य नक्षत्र के शुभकामनाएं सन्देश पढ़ने को मिलेगें.

जीवन में शुभता और स्थायीत्व प्रदान करने वाले एवं सभी नक्षत्रों के राजा ‘पुष्य नक्षत्र’ पर्व की सभी को शुभकामनाएं!

ईश्वर से प्रार्थना है कि पुष्य नक्षत्र आप सभी के लिए समृद्धिदायक और शुभ फलकारक हो।

पुष्य नक्षत्र में जन्मे श्री राम,
आपके बनाए बिगड़े काम,
मात-पिता के चरणों में प्रणाम,
सभी मित्रों को राम राम,

पुष्य नक्षत्र
नक्षत्र: पुष्य
नक्षत्र देवता: गुरु
नक्षत्र स्वामी: शनि
नक्षत्र आराध्य वृक्ष: पिंपळ, पीपल
नक्षत्र प्राणी बकरी
नक्षत्र तत्व अग्नी
नक्षत्र स्वभाव: शुभ
नक्षत्र नाम मंत्र:- ॐ पुष्याय नमः।

आपका यह गुरु पुष्य नक्षत्र का पर्व पोषणकारी, लाभप्रद एवं देह और मन को प्रसन्नता प्रदान करने वाला रहे।
पुष्य नक्षत्र की शुभकामनाएं।🙏🙏

सत्ताईस नक्षत्रों में से आठवें और सभी नक्षत्रों में सर्वश्रेष्ठ माने जाने वाले गुरु पुष्य नक्षत्र की आपको हार्दिक शुभकामनाएं।

ख़रीददारी के सुअवसर पुष्य नक्षत्र की हार्दिक शुभकामनाएं।

शुभ घड़ियों में मन के भीतर शांति लाए
और घर मे सुख-समृद्धि स्थाई रूप से बसाए।
पुष्य नक्षत्र की बहुत बहुत शुभकामनाएं

पुष्य नक्षत्र की सभी देशवासियों को हृदयपूर्वक शुभकामनाएं। यह दिवस सभी के जीवन मे ऐश्वर्यता व सम्पन्नता लेकर आएं एवं सभी का जीवन का धन-धान्य और सुख-समृद्धि से परिपूर्ण रहे। यही मेरी कामना हैं।

आशा करते हैं आपको यह लेख पसंद आया होगा. दिल से देशी वेबसाइट से जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद. हमारी वेबसाइट के तुरंत लेख पाने के लिए Notifications को Allow करे.

Leave a Comment

error: Content is protected !!