एप्पल कंपनी का इतिहास | Apple Company History In Hindi

मोबाइल निर्माता कंपनी एप्पल का इतिहास और रोचक जानकारी | Mobile Manufacturer Apple Company History, Interesting Facts In Hindi

अमेरिकन कंपनी एप्पल दुनिया की सबसे शक्तिशाली कंपनियों में से एक है अपने विशिष्ट कंप्यूटर,सॉफ्टवेयर और अन्य गैजेट के माध्यम से आज संपूर्ण विश्व में एक विश्वसनीय ब्रांड है. एप्पल की प्रसिद्धि का कारण यह भी है कि वह अपने ग्राहकों की जानकारी की सुरक्षा और गोपनीयता से कोई समझौता नहीं करती है एक बार अमेरिकी खुफिया एजेंसी एफपीआई ने Apple कंपनी से एक आतंकवादी क्या यह फोन को अनलॉक करने के लिए संपर्क किया था परंतु अपनी सुरक्षा नीतियों के चलते एप्पल ने FPI को मना कर दिया था.

एप्पल कंपनी का इतिहास (Apple Company History)

वर्ष 1975 में स्टीव जॉब्स और उनके मित्र वोज़नियाक कंप्यूटर बनाने का कार्य कर रहे थे. जिसके लिए इन्होंने स्टीव जॉब्स के गैरेज में काम शुरू किया था. कंपनी की स्थापना 1 अप्रैल 1976 को अप्रैल फूल डे पर की गई. इस कंपनी की स्थापना में स्टीव जॉब्स, स्टीव वोज़नियाक और रोनाल्ड वेन शामिल थे. जनवरी 1977 को कंपनी का नाम एप्पल कंप्यूटर इंक कर दिया गया.
इसके बाद 16 अप्रैल 1977 को वोज़नियाक द्वारा बनाया गया एप्पल द्वितीय लांच किया गया. जिसके बाद मई 1980 को IBM और Microsoft जैसी कंपनियों से प्रतिस्पर्धा के उद्देश्य से Apple तृतीय को लांच किया गया.

12 दिसंबर 1980 को एप्पल कंपनी ने अपना आईपीओ लांच किया. जिसकी कीमत $24 प्रति शेयर थी जिसके बाद Apple एक सार्वजनिक कंपनी बन गई. जिसकी वर्तमान में कीमत $220 प्रति शेयर से भी अधिक है.

वर्ष 1983 में कंपनी ने एप्पल लिसा लांच किया था. जिसे ज्यादा कीमत और सीमित सॉफ्टवेयर की वजह से बाजार में असफलता झेलनी पड़ी थी. जिसके बाद वर्ष 1984 में कंपनी ने मैकिन्टौश लांच किया. जिसके विज्ञापन के लिए 1.5 मिलियन डॉलर खर्च किये गए थे.

वर्ष 1985 में कंपनी के सीईओ जॉन स्कली से विवाद के चलते निदेशक मंडल की बैठक में स्टीव जॉब्स को प्रबंधकीय कार्यों से मुक्त कर दिया गया. जिसके बाद जॉब्स ने एप्पल से इस्तीफा दे दिया और कुछ समय बाद स्टीव जॉब्स ने नेक्स्ट इंक॰ की स्थापना की. एप्पल कंपनी ने मैकिन्टौश पोर्टेबल और पॉवरबुक लांच किये. कंपनी की बाजार में हिस्सेदारी और शेयर कीमतों में गिरावट आने लगी. कुछ समय बाद जॉब्स की कंपनी नेक्स्ट इंक॰ को एप्पल ने ही खरीद लिया. जिसके बाद स्टीव जॉब्स फिर से एप्पल के सीईओ बने. जॉब्स के नेतृत्व में कंपनी में फिर से ग्रोथ करने लगी.

वर्ष 2004 में जॉब्स ने कैंसर के चलते सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया और टीम कुक कंपनी के नए सीईओ बने. वर्ष 2011 में स्टीव जॉब्स का निधन हो गया.

एप्पल से जुड़े रौचक तथ्य (Interesting Facts About Apple Company)

  1. एप्पल कंपनी में कार्य करने वाला हर तीसरा आदमी भारतीय हैं.
  2. पूरी दुनिया में Apple के लगभग 83,000 कर्मचारी है. एप्पल हेडक्वार्टर के कर्मचारी हर साल 125,000$ कमाते है. एप्पल कंपनी हर 1 मिनट में 300,000$ कमाती है.
  3. एप्पल के CEO टिम कुक के बारे में एक और बात बहुत प्रसिद्ध है. वे अपने कर्मचारियों को सुबह 4.30 बजे मेल करते हैं. यह इनके काम का अनोखा तरीका हैं.
  4. एप्पल कंपनी के हर विज्ञापन में 9:41 का समय दिखाया जाता है.
  5. इस कंपनी की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जापान में एक आदमी iPhone 6 खरीदने के लिए 7 महीने तक लाइन में लगा था.
  6. एप्पल कंपनी में अपने आखिरी 15 साल तक जॉब्स ने सिर्फ 1 डॉलर बतौर सैलरी ली थी. इसके बावजूद जॉब्स की कुल पूंजी 7 बिलियन डॉलर से ज्यादा थी.
  7. मैकबुक एप्पल की बैटरी (BulletProof) बुलेटप्रूफ होती है. यह आपको बंदूक की गोली से भी बचा सकती है.
  8. एप्पल के आईफोन दुनिया भर के करीब 89 देशों में बेचे जाते हैं.

इसे भी पढ़े :

आपको यह लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके अवश्य बताएं.

Ujjawal Dagdhi

Ujjawal Dagdhi

उज्जवल दग्दी दिल से देशी वेबसाइट के मुख्य लेखकों में से एक हैं. इन्हें धार्मिक, इतिहास और सेहत से जुडी बातें लिखने का शौक हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *