घर बैठे फिनाइल बनाने की विधि सीखे | How to make Phenyl at Home in Hindi

Step by Step Process of Making Phenyl at Home in Hindi | घर बैठे बैठे फिनाइल बनाने की क्रमबद्ध विधि और सामग्री | Phenyl Kaise Banate Hai

फिनाइल का उपयोग हर घर में पोछा लगाने में किया जाता है. इसके साथ-साथ ये घरों में टॉयलेट साफ़ करने में भी इस्तेमाल किया जाता है. फिनाइल बनाने की एक आसान विधि होती है इसे कुछ मिनटों में घर पर भी बनाया जा सकता है.

सफ़ेद फिनाइल एक ऐसा पदार्थ है जो कि कीटाणुओं को मारने में उपयोगी होता है. इसे पाइन ऑयल और एमल्सिफायर से बनाया जाता है. एमल्सिफायर एक मौलिक पदार्थ है जो फिनाइल बनाने में काम आता है. फिनाइल बनाने के बाद अगर उसमे एमल्सिफायर नहीं मिलाया जाये तो पानी और पाइन ऑयल कुछ समय बाद अलग-अलग हो जाते है.

फिनाइल बनाने की प्रक्रिया (Process of Making Phenyl at Home in Hindi)

1. फिनाइल बनाने की सामग्री में 70% पाइन ऑयल और 30% एमल्सिफायर रहता है. घोल बनाने के लिए आपको एक मापन कप(मापने के लिए), पाइन ऑयल, एमल्सिफायर और तैयार उत्पाद भरने के लिए साफ़ बोतल की आवश्यकता पड़ेगी.

Note: नीचे बताई जाने वाली सामग्री केवल एक लीटर फिनाइल बनाने के लिए है जिससे 1:40 के अनुपात में पानी युक्त फिनाइल बनेगा.

2. पाइन ऑयल की मात्रा 700 एम.एल. होनी चाहिए. मात्रा मापने के लिए मापन कप का इस्तेमाल करें. अगर आप 2 लीटर फिनाइल बना रहे है तो 1400 एम.एल. पाइन ऑयल लेना पड़ेगा. याद रखिये जितना भी फिनाइल बनाये पाइन ऑयल की मात्र 70% ही होनी चाहिए.

3. इसी प्रकार 300 एम.एल. एमल्सिफायर घोल में मिला ले. घोल कितना भी हो पूर्ण घोल का 30% ही एमल्सिफायर मिलाएं एमल्सिफायर की मात्रा मापने से पहले मापन कप को अच्छी तरह से धो लें.

4. पाइन ऑयल और एमल्सिफायर के घोल को एक साफ़ और बड़ी बोतल में रखे और उसे अच्छी तरह से हिला लें. और तब तक हिलाते रहें जब तक घोल सही तरह से आपस में मिल न जाए. शुरुआत में ही घोल का कलर सफ़ेद हो जायेगा पर उसे हिलाते रहे जब तक उस घोल का रंग भूरा न पड़ जाए. एक समय बाद घोल अपने आप ही सफ़ेद हो जायेगा.

5. बनाये हुए घोल को पतला करना अनिवार्य है इसे पतला करने के लिए पानी, घोल की मात्रा से बड़ा प्लास्टिक का पात्र और एक चम्मच या कुछ ऐसी चीज़ लें जिससे घोल को पानी में मिला सकें.

6. फिनाइल को 1:40 के अनुपात में बनाने के लिए एक पात्र में 39 लीटर पानी डाल दें और एक लीटर बनाया हुआ गाढ़ा घोल उस पानी में मिला लें. पानी में फिनाइल डालने के बाद उसे अच्छे से मिला लें

7. घोल अच्छी तरह से मिलने के बाद दूधिया सफ़ेद हो जाएगा और उसमे से महक भी आने लगेगी.

8. सफ़ेद फिनाइल ज़हरीला नहीं रहता पर इसके कीटाणुनाशक गुण के कारण इसे पतला करना आवश्यक होता है क्योंकि ज्यादा गाढ़ा फिनाइल मनुष्य और जानवरों के लिए हानिकारक हो सकता है. जितना हो सके फिनाइल से नज़रें ना मिलाएं, इससे आँखों पर दुष्प्रभाव पड़ता है. फिनाइल का इस्तेमाल करने के बाद हाथों को अच्छी तरह से धो लें ताकि हाथों में लगा फिनाइल शरीर में ना जा सके.

9. फिनाइल के इस्तेमाल के बाद इसे किसी सूखी और ठंडी जगह पर रखें क्योंकि फिनाइल गर्म प्रवत्ति का रहता है. फिनाइल की कैन को टाइट ढक्कन लगा कर रखे जिससे फिनाइल दूसरी बार के उपयोग के समय बाहर निकालते समय छलके ना.

10. बचा हुआ फिनाइल को कम से कम मात्रा में व्यर्थ करें जिससे इसके कीटनाशक गुण से आवारा पशुओं या दुसरे जीवों को कोई हानि ना हो.

मित्रों आपको कैसी लगी यह जानकारी हमें कमेंट करके अवश्य बताएं और किसी विषय पर जानकारी चाहते है तो हमें कमेंट करके अवश्य बताएं.

इसे भी पढ़ें:

10 thoughts on “घर बैठे फिनाइल बनाने की विधि सीखे | How to make Phenyl at Home in Hindi”

  1. बहुत बहुत धन्यवाद आपका।।। जयश्रीराधेकृष्ण

    Reply
    • Emusifer and pine oil किसी भी केमिकल के दूकान पर यह मिल जाता हैं.
      साबुन की थोक दूकान के व्यापारी भी इसे अपने पास रखते हैं. इसका इस्तेमाल साबुन बनाने के लिए भी किया जाता हैं.

      Reply
  2. सर आपने बहुत सही जानकारी दि है.पर मूजे यह पूछना है.की आपने जो फिनायल का फॉर्मुला दिया है.क्या सच मै ये फॉर्मुला अपनाकर हम फिनायल तयार कर सकते है.क्योंकि मै रॉ मटेरियल लाने वाला हूँ .कही कुछ गलत ना हो.

    Reply
  3. क्या आप मुझे ग्रीन phenyl कैसे बनाएं उसके बारे में बता सकते हैं अगर हमें ग्रीन phenyl बनाना हो तो हमें किस किस इससे पहले उत्तर प्रदेश material ki zarurat padegi

    Reply

Leave a Comment