लियोनार्ड क्लेनरोक का जीवन परिचय | Leonard Kleinrock Biography in Hindi

लियोनार्ड क्लेनरोक की जीवनी (जन्म, शिक्षा, मृत्यु), उपलब्धियाँ और सम्मान | Leonard Kleinrock Biography (Birth, Education & Death), Achievements and Awards in Hindi

लियोनार्ड क्लेनरोक एक अमेरिकी कंप्यूटर वैज्ञानिक है. वे यूसीएलए (UCLA) के हेनरी सैमुली स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड एप्लाइड साइंस के प्रोफेसर रह चुके हैं. उन्होंने कंप्यूटर नेटवर्किंग के क्षेत्र में विशेष रूप से कंप्यूटर नेटवर्किंग की सैद्धांतिक नींव के लिए कई महत्वपूर्ण योगदान किए हैं. उन्होंने यूसीएलए(UCLA) में इंटरनेट के अग्रदूत एआरपीएएनईटी(ARPANET) के विकास में एक प्रभावशाली भूमिका निभाई थी.

बिंदु(Points) जानकारी (Information)
नाम (Name) लियोनार्ड क्लेनरोक
जन्म (Birth) 13 जून 1934
जन्म स्थान (Birth Place) न्यूयॉर्क शहर
कार्यक्षेत्र (Profession) कंप्यूटर साइंटिस्ट
शिक्षा (Education) बैचलर ऑफ इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
सम्मान (Awards) नेशनल मैडल ऑफ़ साइंस व अन्य

लियोनार्ड क्लेनरोक जन्म, शिक्षा और प्रारंभिक जीवन (Leonard Kleinrock Birth, Education and Initial Life)

लियोनार्ड क्लेनरोक का जन्म 13 जून 1934 को न्यूयॉर्क शहर में एक यहूदी परिवार में हुआ था. वर्ष 1951 में इन्होनें नोटेड ब्रोंक्स (NOTED BROXN) स्कूल से अपना हाई स्कूल की परीक्षा पास की थी. वर्ष 1957 में न्यूयोर्क के सिटी कॉलेज से बैचलर ऑफ इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग डिग्री प्राप्त की. जिसके बाद वर्ष 1959 में मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी(Massachusetts Institute of Technology) से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री पूरी की. जिसके बाद इसी कॉलेज से इन्होने इसी कॉलेज से अपनी पी.एच.डी पूरी की. जिसके बाद इन्होने कैलिफ़ोर्निया विश्वविद्यालय में फैकल्टी के रूप में कार्य किया और वहाँ इन्होने वर्ष 1991-1995 तक कंप्यूटर विज्ञान विभाग के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया.

लियोनार्ड क्लेनरोक उपलब्धियाँ (Leonard Kleinrock Achievements)

क्लेनरॉक का सबसे प्रसिद्ध और महत्वपूर्ण कार्य क्यूइंग सिद्धांत पर उनका प्रारंभिक काम है, जिसके उन्हें जाना जाता हैं. जिसका कई क्षेत्रों में उपयोग किया जाता हैं. जिनमे मुख्य रूप से पैकेट स्विचिंग के लिए महत्वपूर्ण गणितीय पृष्ठभूमि के लिए किया जाता हैं. जो इंटरनेट की मूलभूत प्रौद्योगिकियों में से एक है. वर्ष 1962 में अपननी पी.एच.डी के दौरान इन्होनें इसी विषय के सम्बन्ध के थीसिस भी लिखी थी. जिसे वर्ष 1964 में पुस्तक के रूप में प्रकाशित किया गया था.

वर्ष 2001 में इन्हें इन्टरनेट के क्षेत्र में अपने द्वारा किये गए विकास कार्यों के कारण “ड्रैपर पुरस्कार” से सम्मानित किया गया. हालांकि कुछ लोग पैकेट स्विचिंग के क्षेत्र में क्लेनरॉक का योगदान को नहीं मानते हैं. उनके लिए यह एक विवादित विषय हैं.

वर्ष 1970 में लियोनार्ड क्लेनरोक ने अपने छात्र फारूक कामून के साथ मिलकर पदानुक्रमित मार्ग (hierarchical routing) विषय पर कलिए गए सैद्धांतिक कार्य आज इंटरनेट के संचालन के लिए महत्वपूर्ण साबित हुए हैं.

लियोनार्ड क्लेनरोक अवार्ड्स (Leonard Kleinrock Awards)

लियोनार्ड क्लेनरोक ने कंप्यूटर और इन्टरनेट के क्षेत्र में किये गए उत्कृष्ट कार्यों के कारण कई पुरूस्कार प्राप्त किए.

  • 29 सितम्बर 2008 में लियोनार्ड क्लेनरोक का चयन अमेरिका के सर्वोच्च वैज्ञानिक सम्मान के लिए हुआ था. जिसके लिए उन्हें वाइट हाउस बुलाकर अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने प्रदान किया था.
  • वर्ष 2007 में इन्हें आधुनिक डेटा नेटवर्क का सिद्धांत, और पैकेट स्विचिंग के कार्यात्मक विनिर्देश के लिए राष्ट्रीय विज्ञान पदक से अलंकृत किया गया था.
  • वर्ष 2010 इन्हें संयुक्त रूप से डेंन डेविड पुरस्कार मिला था.
  • वर्ष 2011 में इन्हें IEEE-Eta Kappa Nu (IEEE-ΗΚΝ) के एक प्रतिष्ठित सदस्य के रूप में शामिल किया गया.
  • वर्ष 2012 में लियोनार्ड क्लेनरोक को इंटरनेट सोसायटी द्वारा इंटरनेट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था.
  • सितम्बर 2014 में लियोनार्ड क्लेनरोक को एसीएम सिग्मोबल उत्कृष्ट योगदान पुरस्कार और बीबीवीए फाउंडेशन फ्रंटियर ऑफ नॉलेज अवार्ड से सम्मानित किया गया था.

इसे भी पढ़े :

धन्यवाद मित्र पूरा लेख पढने के लिए. आपको यह जीवनी कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में बताएं. यदि आप किसी महत्वपूर्ण व्यक्ति की जीवनी पढ़ना चाहते है तो हमें कमेंट बॉक्स में बताएं.

Leave a Comment

error: Content is protected !!