फ्यूल बर्न रेडिएशन टेक्नोलॉजी के आविष्कारक मुर्तजा अली | Murtaza Ali in Hindi

सेना को 110 करोड़ दान देने वाले मुर्तजा अली कौन हैं, व्यवसाय और कुल सम्पति | Blind Scientist Murtaza Ali (person who donate 110 crore rupees) to Army Biography in Hindi

मुर्तज़ा अली हामिद का जन्म कोटा शहर में दृष्टि के बिना हुआ था लेकिन उन्होंने जो किया वह अद्भूत और अकल्पनीय हैं. पिछले महीने पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के काफिले पर आई त्रासदी से आहत होकर मुंबई के 44 वर्षीय निवासी ने अपनी कमाई के 110 करोड़ रुपये प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में दान करने की पेशकश की है.

मुर्तजा ने कहा, “पुलवामा हमले में देश ने अपने 40 बहादुर सैनिकों को खो दिया है. मैं सेना और उनके परिवारों की मदद करना चाहता था, इसलिए मैंने राष्ट्रीय राहत कोष में यह राशि देने का फैसला किया”. मुर्तजा राजस्थान के कोटा से हैं.

बिंदु (Point) जानकारी (Information)
पूरा नाम (Full Name) मुर्तज़ा अली हामिद
जन्म दिनांक(Birth Date) 1975
जन्म स्थान (Birth Place) कोटा शहर, राजस्थान
पिता का नाम (Father) ज्ञात नहीं
शिक्षा (Education) कॉमर्स ग्रेजुएट
कुल संपति (Networth) ज्ञात नहीं

उनका दावा है कि “फ्यूल बर्न रेडिएशन टेक्नोलॉजी” नामक एक तकनीक का आविष्कार किया गया है जो किसी भी वाहन या वस्तु को जीपीएस, कैमरा या किसी अन्य उपकरण के बिना ट्रेस और खोजने में मदद करता है. उनका दावा है कि उनके नवाचार को सरकार द्वारा मान्यता दी गई थी. उनके इस आविष्कार से पुलवामा जैसी घटना को रोका जा सकता था. “आज, मेरे पास वित्तीय सहायता है लेकिन तीन साल पहले मैं तकनीकी सहायता दे रहा था. अगर इसे अपनाया जाता तो हमला रोका जा सकता था”, मुर्तजा का दावा है.

उन्होंने कहा, “इस तकनीक का विस्तार करते हुए, उन्होंने कहा, “ईंधन के साथ किसी भी प्रकार का व्यवधान, जैसे विस्फोट में इस्तेमाल होने वाले तत्व का पता लगाया जा सकता है, क्योंकि यह फ्यूज से जुड़ा होता है.

मुर्तजा का कहना है कि उन्हें अभी भी सरकार की प्रतिक्रिया का इंतजार है. सुरक्षा एजेंसियों के पास यह तकनीक नहीं है. मैंने उरी हमले से पहले ही इसके लिए प्रस्तुति दी थी.

Murtaza Ali Biography in Hindi

कौन हैं मुर्तजा अली? (Who is Murtaza Ali)

मुर्तजा ने अपनी स्नातक की पढ़ाई कोटा से कॉमर्स स्ट्रीम में की, वर्तमान में मुंबई में एक शोध वैज्ञानिक के रूप में काम कर रहे हैं. 2010 में जयपुर के एक पेट्रोल पंप पर आग लगने की घटना ने उन्हें ईंधन जलाने वाले विकिरण पर शोध करने के लिए प्रेरित किया. उनकी उम्र 44 साल है और वे जन्म से 95 फीसदी अंधे हैं.

मुर्तजा का परिवार ऑटोमोबाइल और स्नेहक का व्यवसाय करता है. उन्होंने 25 फरवरी को पैसे दान करने और एक नियुक्ति की पेशकश के साथ प्रधानमंत्री कार्यालय से संपर्क किया. प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय राहत कोष के उप सचिव अग्निकुमार दास ने उनका व्यक्तिगत विवरण मांगा. 1 मार्च को मुर्तजा को जवाब मिला कि प्रधानमंत्री के साथ उनकी मुलाकात जल्द ही होगी.

इसे भी पढ़े :

Loading...

1 thought on “फ्यूल बर्न रेडिएशन टेक्नोलॉजी के आविष्कारक मुर्तजा अली | Murtaza Ali in Hindi”

Leave a Comment