लेखक रवीन्द्र प्रभात का जीवन परिचय | Ravindra Prabhat (Novelist) Biography In Hindi

लेखक रवीन्द्र प्रभात का जीवन परिचय, रचनाएँ
Ravindra Prabhat (Novelist) Biography, Poems, Personal Life, Rachnaye in Hindi

रवींद्र प्रभात भारत के एक हिंदी उपन्यासकार, पत्रकार, कवि और लघु कथाकार हैं. ‘प्रभात’ इनका उपनाम है. इनका पूरा नाम रवीन्द्र कुमार चौबे है. उन्होंने एक संपादक और स्क्रीन प्ले लेखक के रूप में कार्य किया है. उनकी कुछ रचनाओं को अन्य भाषाओं में अनुवादित किया गया है और विभिन्न साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशित किया गया है.

Ravindra Prabhat (Novelist) Biography In Hindi

रवीन्द्र प्रभात का जीवन परिचय | Ravindra Prabhat Biography In Hindi

बिंदु (Points)जानकारी (Information)
नाम (Name)रवीन्द्र प्रभात
जन्म (Date of Birth)5 अप्रैल 1989
आयु 51वर्ष
जन्म स्थान (Birth Place)सीतामढ़ी, बिहार
पिता का नाम (Father Name)ज्ञात नहीं
माता का नाम (Mother Name)ज्ञात नहीं
पत्नी का नाम (Wife Name)एम. प्रभात
पेशा (Occupation )उपन्यासकार, पत्रकार, कवि
बच्चे (Children)एक बेटा, दो बेटी
शेली यथार्थवादी कवि

प्रभात का जन्म 5 अप्रैल 1989 को महिंदवाड़ा, सीतामढ़ी में एक मध्यमवर्गीय ब्राह्मण परिवार में हुआ था. उनका बचपन वहीँ बीता और वहीँ रहकर उन्होंने प्राथमिक शिक्षा बेला परिहार के राजकीय प्राथमिक विद्यालय से प्राप्त की. उन्होंने बी. आर. अम्बेडकर विश्वविद्यालय बिहार से भूगोल में उच्च शिक्षा प्राप्त की है, इसके बाद इन्होने में उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, इलाहाबाद से मास्टर ऑफ़ जर्नलिज्म और मास कम्युनिकेशन (MJMC) का अध्ययन किया.

व्यक्तिगत जीवन | Ravindra Prabhat Personal Life

ब्राह्मण परिवार की संस्कृति के अनुसार उन्होंने ग्यारह साल की उम्र में उपनयन की शुरुआत की. उन्होंने 18 मई 1989 को एम. प्रभात से शादी की. उनके एक बेटा सुबेंदु प्रभात और दो बेटियाँ उर्विजा और उर्वशी हैं.

साहित्यिक सफ़र

रवीन्द्र प्रभात जी 1987 से विभिन्न विषयों में लिखते आ रहे हैं. वह वटवृक्ष और परिकल्पना समय (हिंदी पत्रिका) के मुख्य संपादक भी हैं.

रवीन्द्र प्रभात जी का लेखन और शैली –

प्रभात एक यथार्थवादी कवि हैं, जो अक्सर सामाजिक विषयों और मानवीय पीड़ा के बारे में लिखते हैं. उनके कार्यों में अक्सर मानव वेदना और सामाजिक मुद्दों के बारे में ही दिखाई पड़ता है.

ब्लॉगिंग

प्रभात ने हिंदी ब्लॉगिंग पर लिखा है और संपादित भी किया है, और अपने लेखन को एक ब्लॉग के रूप में भी प्रकाशित किया है. उन्होंने 2007 में ब्लॉगिंग शुरू की, और फिक्शन के साथ-साथ अन्य ब्लॉगों की समीक्षा भी प्रकाशित की.

प्रभात जी परिकल्पना पुरस्कार के संस्थापक सदस्य हैं जो भारत में एक ब्लॉग साहित्य पुरस्कार है. इसे परिकल्पना समय पत्रिका और गैर-सरकारी संगठन परिकल्पना पत्रिका द्वारा प्रस्तुत किया जाता है.

रवीन्द्र प्रभात जी की रचनायें

प्रभात जी की रचनाओं में से कुछ मुख्य रचनायें निम्नलिखित हैं –

उपन्यास ताकि बचा रहे लोकतंत्र (2011), प्रेम न हट बिके (2012), धरती पकड़ निर्दलीय (2013), लखनऊआ कक्का (2018), कश्मीर 370 किलोमीटर

अन्य रचनायें समकालीन नेपाली साहित्य, हिन्दी ब्लॉगिंग का इतिहास, हिन्दी ब्लॉगिंग: अभिव्यक्ति की नई क्रांति, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय परिपेक्ष्य में, दायित्व बोध और लोक व्यवहार, सामाजिक मीडिया और हम, निवेश के तरीके

कविता संग्रह –

  • हम सफर (1991) (प्रभात जी का पहला कविता संग्रह)
  • मत रोना रमजानी चाचा (1999),
  • स्मृति शेष (2002)

पत्रिकाएँ

  • ‘उर्विजा 1992 से 1995’ तक भारत के सीतामढ़ी, बिहार में प्रकाशित.
  • ‘फगुनाहट’ 1990 से 1992 तक वार्षिक पत्रिका सीतामढ़ी, भारत में बिहार में प्रकाशित.
  • ‘संवाद’ 1993, इस मासिक पत्रिका के एक विशेष अंक के संपादक, जिसके मुख्य संपादक बसंत आर्य थे.
  • ‘साहित्यंजलि’ 1994. इस मासिक पत्रिका के एक विशेष अंक के संपादक, जिसके प्रधान संपादक माधवेन्द्र वर्मा थे.
  • ‘हमारी वाणी’ 2010, एक हिंदी ई-पत्रिका
  • ‘परिकल्पना ब्लॉगोत्सव’ 2012 – प्रभात जी इस इंटरनेट वेब जर्नल के मुख्य संपादक हैं.
  • ‘वटवृक्ष’ मई 2011 से मई 2013 – लखनऊ में प्रकाशित एक हिंदी पत्रिका.
  • ‘परिकल्पना समय’ जून 2013 – लखनऊ में प्रकाशित एक मासिक हिन्दी पत्रिका.

इसे भी पढ़े :

Loading...

Leave a Comment