लूज मोशन (दस्त) के कारण और घरेलु उपचार | Loose Motion Gharelu Upchar in Hindi

लूज मोशन (दस्त) के कारण और घरेलु उपचार | Loose Motion Gharelu Upchar | Reasons and Home Remedies of Loose Motion in Hindi

लूज मोशन या दस्त चिंता का कारण नहीं है. यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम में विकारों के लिए शरीर की प्रतिक्रिया है, और यदि आपको दस्त है तो आपको कुछ दिनों के लिए शौचालय की लगातार यात्राएं करनी होंगी. हालांकि स्थिति खराब हो सकती है और बैक्टीरिया या वायरल संक्रमण के कारण पुरानी हो सकती है. दस्त के लक्षणों के सामान्य लक्षणों में असामान्य रूप से पानी से भरा मल, सूजन, मतली और पेट में ऐंठन शामिल हैं. इसके परिणामस्वरूप निर्जलीकरण और कमजोरी हो सकती है. साधारण घरेलू उपचार दस्त से लड़ने और शरीर और पेट को स्वस्थ रखने में उपयोगी साबित हो सकते हैं. 

लूज मोशन के कारण (Loose Motion Reasons)

जब आपको दस्त होता है, तो आप दिन में 4 से 5 बार टॉयलेट का चक्कर लगा सकते हैं, और यह समस्या एक-दो दिनों से अधिक समय तक बनी रह सकती है। हालांकि, यदि आपके पास एक सप्ताह से अधिक समय तक लूज मोशन रहे हैं, तो यह चिंताजनक हो सकता है और इसके लिए तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता होगी. लूज मोशन के कुछ सामान्य कारण हैं. 

1. दूषित पानी और खाद्य पदार्थों में मौजूद ई.कोली, साल्मोनेला, कैंपिलोबैक्टर जैसे बैक्टीरिया लूज मोशन का कारण बन सकते हैं.

2. कभी-कभी, आंतों में सूजन आंत्र रोग, क्रोहन रोग, सीलिएक रोग, अल्सरेटिव कोलाइटिस, या पित्ताशय की थैली रोग जैसे लक्षण दस्त का कारण बन सकते हैं.

3. परिवर्तित प्रतिरक्षा समारोह या ट्यूमर दस्त  का कारण बन सकता है.

4. सिस्टिक फाइब्रोसिस जैसे वंशानुगत विकार दस्त का एक और कारण हो सकते हैं

5. अस्वास्थ्यकर या कच्चे दूध का सेवन पाचन तंत्र को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है जिससे दस्त हो सकते हैं. 

6. कुपोषण या पौष्टिक भोजन की कमी भी दस्त के लिए जिम्मेदार हो सकती है. 

7. एंटीबायोटिक्स जैसी कुछ दवाएं लेने से एक रेचक प्रभाव हो सकता है जो दस्त समस्या को बढ़ा सकता है. 

लूज़ मोशन के लिए प्रभावी घरेलू उपचार (Loose Motion Gharelu Upachar)

आमतौर पर लूज मोशन या डायरिया एक गंभीर समस्या नहीं है और यह अपने आप हल हो सकती है. लेकिन यह ज्यादा समय हो तो आपकी स्वस्थ के खतरनाक संकेत हैं.  नियनित दस्त से गंभीर निर्जलीकरण हो सकता है क्योंकि शरीर आवश्यक पोषक तत्वों को खो देता है, और यह आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। लूज मोशन के कुछ प्राकृतिक उपचारों में शामिल हैं:

1. दही

अपने आहार में दही को शामिल करे. एक कटोरी सादा दही नियमित रूप से खाए. 

यदि आवश्यक हो तो आप कुछ नमक या काली मिर्च छिड़क सकते हैं. 

आप एक सप्ताह के लिए हर दिन 2 या 3 बार इसका सेवन कर सकते हैं. 

दही में अच्छी मात्रा में प्रोबायोटिक्स (अच्छे बैक्टीरिया) होते हैं जो आंत को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. वे दस्त वाले खराब बैक्टीरिया से लड़ते हैं. दही में जीवित संस्कृतियां होती हैं जो लैक्टिक एसिड का उत्पादन करती हैं, जो बैक्टीरिया को मारती हैं. दही का सेवन जठरांत्र संबंधी मार्ग में सूक्ष्मजीवों के लिए एक स्वस्थ वातावरण बनाकर बेहतर पाचन का समर्थन करता है. 

2. नारियल पानी

यह ताज़ा पेय लूसे मोशन के लिए एक शक्तिशाली उपाय है.  नारियल पानी पीना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक तो है, लेकिन यह लूज मोशन को भी ठीक कर सकता है. 

इस पेय को बनाने के लिए आपको विशेष रूप से कुछ भी नहीं करना होगा.  नारियल पानी खरीदें और ताजा पीएं. 

आप रोजाना एक या दो बार इसका सेवन कर सकते हैं जब तक कि आप बेहतर न हो जाएं. 

नारियल पानी में पोटेशियम और सोडियम जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं जो शरीर के इलेक्ट्रोलाइट संतुलन को बहाल करने में मदद कर सकते हैं. यह शरीर में खोए हुए तरल पदार्थों को फिर से भरने और रक्त परिसंचरण को बढ़ाने में मदद करता है. इसकी असाधारण रासायनिक संरचना न केवल रीहाइड्रेट करती है, बल्कि अमीनो एसिड, फैटी एसिड, विटामिन सी, मैग्नीशियम और एंजाइम जैसे आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करती है जो बदले में मजबूत प्रतिरक्षा को बढ़ावा देती हैं. 

3.  केले

अगर आपके लूज मोशन से परेशान हैं तो कच्चे केले खाएं. केले का सेवन करने से दस्त के समस्या में राहत मिलती  है और आप जल्द ही बेहतर महसूस करेंगे. 

आप एक केला नियमित खा सकते हैं.

यदि आप कच्चा केला खाना पसंद नहीं करते हैं, तो आप दही के साथ एक अनानास केले को मिलाकर एक स्मूदी तैयार कर सकते हैं.आप 2 -3 केले खा सकते हैं या केले और दही स्मूदी का सेवन दिन में दो बार कर सकते हैं. 

केले में पेक्टिन सामग्री आंतों में तरल पदार्थ के अवशोषण की सुविधा प्रदान करती है जो मल को थोक करने में मदद करती है. केले भी पोटेशियम में समृद्ध हैं, जिसका सेवन करने पर, शरीर में खोए हुए तरल पदार्थों की भरपाई कर सकते हैं, इस प्रकार अंतःशिरा तरल पदार्थ या मौखिक पुनर्जलीकरण समाधान की आवश्यकता कम हो जाती है. 

4. छाछ

यह स्वस्थ पेय पाचन तंत्र को पटरी पर लाने में सहायक होता है. यदि संभव हो तो ठंडा, ताजा छाछ का एक गिलास पिएं.

यदि आप सादे छाछ की तरह इसे नहीं लेना चाहते हैं तो आप थोड़ा सा नमक या एक चुटकी काली मिर्च मिला सकते हैं.

आप  दिन में तीन बार छाछ पी सकते हैं. 

छाछ प्रोबायोटिक्स का एक अच्छा स्रोत है जो कि अनुकूल बैक्टीरिया है जो आंतों से खराब बैक्टीरिया को मिटा सकता है. यह आंतों को शांत भी कर सकता है और पाचन में सहायता करता है. 

 5. पुदीना(मिंट) और हनी

यह मिश्रण दस्त की समस्या से निपटने के लिए फायदेमंद साबित होता है. 

नींबू का रस, पुदीने का रस और शहद को एक साथ फेंटें.

इस मिश्रण को एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाएं और सेवन करे.

सर्वोत्तम परिणामों के लिए आप इसे हर दिन दो बार ले सकते हैं. 

टकसाल और शहद एक साथ सूजन को कम कर सकते हैं और पेट को शांत कर सकते हैं, इस प्रकार लूज मोशन  के चिड़चिड़े लक्षणों को कम कर सकते हैं. उनके जीवाणुरोधी गुण पाचन जटिलताओं के लिए जिम्मेदार हानिकारक रोगजनकों को उलझाकर पाचन को विनियमित करने में मदद करते हैं. 

दस्त के दौरान क्या ना खाए ? (what to not Eat During Lose Motion)

दस्त से पीड़ित होने पर आपको निन्मलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए. 

1. अनार

यह उपयुक्त रूप से शरीर को हाइड्रेट कर सकता है और इसके कसैले गुण दस्त का इलाज करने में मदद कर सकते हैं. 

2. केले

केले में स्टार्च होता है जो मल को दृढ़ कर सकता है. केले पोटेशियम में उच्च होते हैं जो पाचन में सुधार कर सकते हैं और दस्त का इलाज कर सकते हैं. 

3.  चावल

 चावल में कार्बोहाईड्रेट्स अधिक होता है और इसे आसानी से पचाया जा सकता है. चावल प्रकृति में बाध्यकारी है, जिसका अर्थ है कि यह ढीले मल को मजबूत करने में मदद कर सकता है.  

5. अमरूद

अमरूद में कसैले गुण भी होते हैं जो लूज मोशन से निपटने में कारगर साबित हो सकते हैं. 

6. गाजर

गाजर खाने से लूज मोशन से तुरंत राहत मिल सकती है क्योंकि इसमें पेक्टिन होता है. आप या तो उबले हुए गाजर खा सकते हैं या एक गिलास ताजा गाजर का रस पी सकते हैं. 

7. स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी में उच्च फाइबर सामग्री पानी के मल को थोक कर सकती है और पाचन तंत्र के कामकाज को बढ़ा सकती है. 

8. साबूदाना

दस्त से कुछ राहत प्रदान करने में साबूदाना या टैपिओका के बीज मूल्यवान हो सकते हैं. इसे  सेवन करने से पहले पानी में भिगो दें. 

 9. मैश किए हुए आलू

उबले हुए आलू जैसे स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करने से मल में वजन बढ़ता है. आलू पोटेशियम से भरपूर भोजन है. आप आलू को उबालकर नमक के साथ खा सकते हैं. 

दस्त को रोकने के लिए रोकथाम (Precaution for Loose Motion in Hindi)

लूज मोशन को रोकने के लिए इन टिप्स को फॉलो करें. आखिर, रोकथाम इलाज से बेहतर है. 

  • सुनिश्चित करें कि आप स्वच्छ और स्वस्थ भोजन का सेवन करते हैं. 
  • अपने दैनिक आहार में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें.  आप मटर, ब्रोकोली और केले जैसे खाद्य पदार्थ खा सकते हैं. 
  • कोशिश करें और उन खाद्य पदार्थों की पहचान करें जिनसे आपको एलर्जी है और उनका सेवन करने से बचें. 
  • हाइड्रेटेड रहने के लिए पानी और स्वस्थ पेय का खूब सेवन करें और साफ, उबला हुआ पानी पिएं. 
  • यदि आप शराब और कैफीन का अत्यधिक उपयोग करते हैं तो उसे सीमित करें.
  • बैक्टीरिया और वायरल संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अक्सर अपने हाथ धोएं. 
Loading...

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment

Item added to cart.
0 items - 0.00