सत्तू खाने के 6 चमत्कारी फायदे | Benefits of Sattu in Hindi

गर्मी के स्वादिष्ट शीतल व्यंजन सत्तू को खाने से सेहत को होने वाले 6 चमत्कारी फायदे | Benefits of Sattu in Hindi | Sattu ke Fayde

सत्तू, भारतीयों को यह व्यंजन बहुत अधिक रास आता हैं, लेकिन अन्य देशों के लोग सत्तू के बारे में नहीं जानते हैं. सत्तू को भुने हुए मिश्रित अनाज को पीसकर बनाया जाता है. मुख्य रूप से इसमें गेहूँ, चना और जीरा होता हैं.  जिसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं. सत्तू द्वारा प्रस्तुत अद्भुत लाभ इसे प्रसिद्ध और लोकप्रिय बनाता हैं. अब आपको इससे होने वाले फायदे भी पता चल जाएंगे.

सत्तू का सेवन आमतौर पर पेय के रूप में किया जाता है और अक्सर गर्मियों में इसका उपयोग किया जाता है क्योंकि यह ठंडा होता है. शरीर को अच्छे से ठंडा करने के लिए सत्तू उपयोगी है. सत्तू में आवश्यक खनिजों, विटामिन, फाइबर, वसा पाया जाता हैं, जो शरीर की स्थिरता के लिए आवश्यक हैं.

1. सत्तू पेय के रूप में (Sattu As a Drink)

सत्तू का उपयोग लंबे समय से ग्रामीण क्षेत्रों में शरीर को ठंडा करने के लिए किया जाता है. गर्मी के दिनों में अपनी प्यास बुझाने के लिए सत्तू शर्बत एक बेहतरीन पेय है क्योंकि यह शरीर को अधिक गर्मी को कम करता है और शरीर के तापमान को काफी कम कर देता है. इसके अलावा सत्तू शरीर द्वारा बहुत आसानी से पच जाता है. नियमित रूप से प्रतिदिन सत्तू का सेवन करने से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य ठीक रहता हैं.

2. मधुमेह और उच्च बीपी रोगियों के लिए (For Diabetes and BP Patients)

इसके अलावा सत्तू मधुमेह और उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए फायदेमंद हैं. सत्तू के पेय में गन्ने के रस की तरह कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है. तो, यह प्राकृतिक चीनी को धीरे-धीरे जारी करेगा ताकि यह उनके लिए अच्छा हो. उच्च रक्तचाप के रोगियों को पानी और थोड़े से नमक के साथ सत्तू का सेवन करना चाहिए.

3. पाचन के लिए (For digestion)

सत्तू में अघुलनशील फाइबर की उच्च मात्रा आंतों के लिए उपयोगी है. यह आपके पेट को साफ करता हैं. आपके पाचन को फिर से सुचारू बनाता है. सत्तू फाइबर से भरपूर होता है इसलिए यह कब्ज और पाचन समस्याओं को रोक सकता है.

4. देसी प्रोटीन (Desi Protein Type)

बचपन में सत्तू पीना बच्चों के लिए बहुत अच्छा होता है. वृद्धि के लिए बच्चों को आवश्यक विटामिन और खनिज की आवश्यकता होती है और सत्तू में कैल्शियम, पोटेशियम, फाइबर, आयरन और मैग्नीशियम होते हैं. सत्तू का एक और लाभ दांतों और हड्डियों के लिए भी है.

यहाँ सत्तू के साथ देसी हॉर्लिक्स नुस्खा है:

सामग्री:

1 कप ठंडा पानी

1 बड़ा चम्मच सत्तू

1/2 चम्मच चीनी

अगर आवश्यकता हो तो एक चुटकी नमक

कैसे बनाना है:

1) एक गिलास में पानी लें और उसमें सत्तू मिलाएं।

2) चीनी और नमक डालें।

3) अच्छी तरह से मिलाएं और उपभोग करें।

यह आपके लिए विशेष रूप से है, जिन्होंने कभी सत्तू का सेवन नहीं किया है. सत्तू का सेवन करके स्वस्थ जीवन की शुरुआत करें.

5. त्वचा और बालों के लिए (For Skin and Hair)

नियमित रूप से सत्तू का सेवन करने से त्वचा को पोषण मिलेगा और त्वचा में पानी का संतुलन बना रहेगा. यह पेय त्वचा कोशिकाओं के लिए और आंसू को रोकने के लिए उपयोगी है. सत्तू में प्रोटीन, खनिज, एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो बालों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं. सत्तू का उपयोग पारंपरिक रूप से बालों की समस्याओं के इलाज के लिए भी किया जाता है क्योंकि यह बालों के रोम को भरपूर पोषक तत्व प्रदान करता है. सत्तू में मौजूद आयरन आपको ऊर्जावान भी रखता है और आपके चेहरे को एक स्वस्थ चमक देता है.

6. वृद्धावस्था के लिए जादुई पेय (Magical drink at old age)

हमारी सेहत हमेशा उम्र के साथ कम होती जाती है. बहुत सारी समस्याएं हैं जो हमेशा बुढ़ापे में हिट होती हैं. इसलिए स्वस्थ पेय और स्वस्थ खाद्य पदार्थों का सेवन बहुत महत्वपूर्ण है. उनमें से एक सत्तू है.

सत्तू के स्वास्थ्य लाभ अधिकांश समस्या को दूर कर सकते हैं. पचाने में आसान इसलिए खपत के लायक है. सत्तू प्रोटीन, फाइबर, मैग्नीशियम, एंटीऑक्सिडेंट का एक भरपूर स्रोत है. इसका उपयोग पेट फूलना, समय से पहले बुढ़ापा, कब्ज और अन्य को दूर करते हैं.

Loading...

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment