15 अगस्त के लिए भाषण हिन्दी में | 15 August Speech in Hindi

राष्ट्रीय दिवस 15 अगस्त पर मंच पर देने के लिए भाषण हिंदी में | 15 August (Independance Day) Speech in Hindi | 15 August Ka Bhashan

यह भाषण दर्शकों को लुभाने के लिए बाध्य हैं, इसमें  राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावनाएँ हैं. जो पेशेवर है वो इस भाषण का उपयोग कार्यालयों या अन्य स्थानों पर कर सकते हैं, जिन्हें उन्हें स्वतंत्रता दिवस भाषण देने की आवश्यकता होती है. इन सरल भाषणों का उपयोग करते हुए, छात्र स्कूलों / कॉलेजों / संस्थानों में भारत के स्वतंत्रता दिवस समारोह में सक्रिय रूप से भाग ले सकते हैं.

15 अगस्त का भाषण (15 August Speech Short speech)

मुख्य अतिथि, प्रिंसिपल, शिक्षकों और मेरे प्यारे दोस्तों, आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएँ.

जैसा कि हम सभी जानते है आज हम सभी यहाँ स्वतंत्रता दिवस के खास अवसर पर एकत्रित हुए है. मेरा नाम…….. है. मुझे इस बात की बहुत ख़ुशी है कि मुझे इस अवसर पर बोलने का मौका दिया दिया. आज का दिन हम सभी के लिए बहुत खास है. आज ही के दिन हमारे देश को आज़ादी मिली थी. ये प्रत्येक भारतवासी के लिये सबसे  महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि इसी दिन देश के स्वतंत्रता सेनानियों ने हमें बेहतरीन जीवन देने के लिए अपने प्राणों की कुर्बानी दे दी थी. ये ऐसा खास अवसर है जो हमे उनके द्वारा दिए गये बलिदान को याद दिलाता है. 

15 अगस्त भारत के लिए पुन: जन्म का दिन है. यही वह ऐतिहासिक तारीख थी, जिस दिन भारत के पहले प्रधानमंत्री “पंडित जवाहरलाल नेहरू” ने  लाल किले पर तिरंगा झंडा फहराया था. भारत में ब्रिटिश शासन को समाप्त करने के रूप में भारत के इतिहास में यह दिन सबसे महत्वपूर्ण है.

हम यहाँ बैठकर यह कल्पना भी नहीं कर सकते हैं कि ब्रिटिश शासन से भारत को स्वतंत्रता दिलाना कितना कठिन थी. हमारे पास अपने पूर्वजों के बहुमूल्य परिश्रम और बलिदान के बदले देने के लिए कुछ भी नहीं है. हम केवल उन्हें और उनके कार्यों को याद कर सकते हैं और राष्ट्रीय आयोजनों का जश्न मनाते हुए दिल से सलाम कर सकते हैं. वे हमेशा हमारे दिलों में रहेंगे.

हमें कल के भारत के अत्यधिक जिम्मेदार और सुशिक्षित नागरिक होने की शपथ लेनी चाहिए. हमें ईमानदारी से अपना कर्तव्य निभाना चाहिए, हमें इसे बुरे लोगों से बचाने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए. यह हमारा दायित्व है कि हम अपने देश को आगे बढ़ाएं और इसे दुनिया का सर्वश्रेष्ठ देश बनाए. लक्ष्य को पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए और इस लोकतांत्रिक राष्ट्र का सफलतापूर्वक नेतृत्व करना चाहिए.

मैं आप सबका धन्यवाद करता हूँ, जो अपने मुझे इतने ध्यान से सुना

जय हिंद, जय भारत

धन्यवाद दोस्तों, आपको यह लेख कैसा लगा? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और यदि आप हमसे कोई भी जानकारी या कोई भी प्रश्न पूछना चाहते हैं तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें. अब आप हमारे ऐप “दिल से देशी” को प्ले स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते हैं.

Loading...

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment

Item added to cart.
0 items - 0.00