अंक सूची प्राप्त करने हेतु शिक्षा मंडल को पत्र | Application to Education Board to Get Marksheet in Hindi

माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल को दसवीं बोर्ड परीक्षा की अंक सूची की द्वितीय प्रति प्राप्त करने हेतु एक आवेदन पत्र | Application to the Board of Secondary Education, Bhopal to get the second copy of the marksheet of the tenth board examination

हम सभी के साथ कभी-ना-कभी ऐसा हुआ होगा कि हमारे पास से कोई सरकारी कागज़ खो जाए और वह खोयाँ हुआ कागज़ हमारे लिए अति आवश्क हो, तब हमें उस कागज़ को वापस प्राप्त करने के लिए शिक्षा मंडल को जो पत्र लिखकर अपनी समस्या के बारे में बताते है वह पत्र औपचारिक पत्र कहलाते है. इस पत्र में जब एक छात्र की दसवीं बोर्ड परीक्षा की अंक सूची खो जाने पर उसने दूसरी सूची प्राप्त करने हेतु माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल को पत्र लिखा.

औपचारिक पत्र

प्रति,
सचिव
माध्यमिक शिक्षा मण्डल, भोपाल
विषय- अंक सूची की द्वितीय प्रति भेजने के सम्बन्ध में.
महोदय,
निवेदन है कि मेरी कक्षा दसवीं बोर्ड परीक्षा की अंक सूची खो गई है. मैंने यह परीक्षा सन् 2008 में दी थी. मुझे अंक सूची की द्वितीय प्रति भेजने का कष्ट करें. इसके लिए निर्धारित शुल्क ₹ 50 बैंक चालान नं. 37701 आपके नाम से भेज रहा हूँ.
मुझसे सम्बन्धित जानकारी निम्नानुसार है-

नाम शिवांश मित्रा
पिता का नामश्री अजेश मिश्रा
परीक्षादसवीं बोर्ड 2018
परीक्षा केन्द्र क्रमांक7173
परीक्षा केन्द्रशा. उ. मा. वि. इन्दौर
अनुक्रमांक251376
नियमित / स्वानियमित
पूरा पताशिवांश मित्रा
S/O श्री अजेश मिश्रा
पो., जि.- इन्दौर (म.प्र.)
पिन 493114
संलग्न बैंक चालान₹50

विनीत
शिवांश मिश्रा

ध्यान देने योग्य आवश्यक बातें

पत्र प्लेन पेपर पर लिखें : पत्र को हमेशा प्लेन पेपर पर लिखा होना चाहिए, किसी भी प्रकार की अन्य जानकारी पत्र के साथ ना लिखी हुई हो. इसके अलावा पत्र को पूरे पेज पर लिखा होना चाहिए, एक पेज को दो हिस्सों में करके ना लिखे.
गलती ना हो : कई बार छात्र पत्र लिखते समय कई गलतियाँ कर देते हैं. इसीलिए जरुरी हैं कि पत्र में किसी भी प्रकार की शब्दों से जुडी हुई गलतियाँ नहीं होनी चहिए.
विषय की स्पष्टता : पत्र लिखते समय हमारा विषय स्पष्ट होना चाहिए. उसमे समझाने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. हमारे लिखे हुए शब्द सरल एवं स्पष्ट होने चाहिए ऊपर लिखे पत्र में भी आपने पढ़ा होगा कि छात्र की दसवीं बोर्ड परीक्षा की अंक सूची खो जाने पर उसने दूसरी सूची प्राप्त करने हेतु माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल को पत्र लिखा .
लेखन की सुन्दरता : पत्र की लेखन कला का भी आवदेन प्राप्तकर्ता के सामने प्रभाव पड़ता हैं. लेखन जिनता सुन्दर और मात्रा की गलतियों के बिना होगा उनता उन्नत रहेगा एवं एक बात का ध्यान रखे की पत्र के अक्षर एक समान लिखे हो कोई अक्षर बड़ा या छोटा नहीं होना चाहिए.

आशा हैं की आपको यह पत्र अच्छा लगा होगा. इसी तरह की और पत्र लेखन प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट के Notification को Allow करके हमारी वेबसाइट से जुड़े. इसी प्रकार के अन्य विषय पर यदि आप पत्र चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखे.

Leave a Comment

error: Content is protected !!