ध्वनि विस्तारक यंत्र पर रोक हेतु जिलाधीश को पत्र | Application to The District Magistrate to Ban Loudspeaker in Hindi

परीक्षा काल में ध्वनि विस्तारक यंत्र पर रोक लगाने हेतु जिलाधीश को एक प्रार्थना पत्र | Application to the District Collector to ban the sound amplification device during the examination period

वह पत्र जो व्यवसाय से संबंधी, प्रधानाचार्य को लिखे प्रार्थना पत्र, आवेदन पत्र, सरकारी विभागों को लिखे गए पत्र, संपादक के नाम पत्र आदि को लिखे जाते है और उनसे हमारा क्योई निजी संभंध नहीं होता है उन लोगो को जो पत्र लिखा जाता है वह औपचारिक पत्र होता है. इस पत्र में जब एक छात्र को परीक्षा के दौरान ध्वनि विस्तारक यंत्र से परेशानी होने लगी, तब छात्र जिलाधीश को ध्वनि विस्तारक यंत्र पर रोक लगाने की मांग करता है.

औपचारिक पत्र

प्रति,
जिलाधीश
उज्जैन (म.प्र.)

विषय – परीक्षा काल में ध्वनि विस्तारक यंत्र पर रोक लगाने हेतु प्रार्थना-पत्र.
महोदय,
मैं आपका ध्यान इस ओर आकर्षित करना चाहता हूँ कि निकट भविष्य में माध्यमिक शिक्षा मण्डल की परीक्षाएँ प्रारम्भ हो रही हैं, लेकिन नगर में जोर-शोर से ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग किया जा रहा है.जिससे छात्रों को पढ़ाई में व्यवधान उत्पन्न हो रहे हैं, अतः आपसे सविनय निवेदन है कि आप त्वरित आदेश निकालकर इस पर प्रतिबंध लगाएँ.
धन्यवाद.
दिनांक- 15-04-20…..
प्रार्थीगण
शा.उ.मा.वि., इन्दौर (म.प्र.)

ध्यान देने योग्य आवश्यक बातें

पत्र प्लेन पेपर पर लिखें : पत्र को हमेशा प्लेन पेपर पर लिखा होना चाहिए, किसी भी प्रकार की अन्य जानकारी पत्र के साथ ना लिखी हुई हो. इसके अलावा पत्र को पूरे पेज पर लिखा होना चाहिए, एक पेज को दो हिस्सों में करके ना लिखे.
गलती ना हो : कई बार छात्र पत्र लिखते समय कई गलतियाँ कर देते हैं. इसीलिए जरुरी हैं कि पत्र में किसी भी प्रकार की शब्दों से जुडी हुई गलतियाँ नहीं होनी चहिए.
विषय की स्पष्टता : पत्र लिखते समय हमारा विषय स्पष्ट होना चाहिए. उसमे समझाने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए. हमारे लिखे हुए शब्द सरल एवं स्पष्ट होने चाहिए ऊपर लिखे पत्र में भी आपने पढ़ा होगा कि छात्र को परीक्षा के दौरान ध्वनि विस्तारक यंत्र से परेशनी होने लगी, तब छात्र जिलाधीश को ध्वनि विस्तारक यंत्र पर रोक लगाने की मांग करता है.
लेखन की सुन्दरता : पत्र की लेखन कला का भी आवदेन प्राप्तकर्ता के सामने प्रभाव पड़ता हैं. लेखन जिनता सुन्दर और मात्रा की गलतियों के बिना होगा उनता उन्नत रहेगा एवं एक बात का ध्यान रखे की पत्र के अक्षर एक समान लिखे हो कोई अक्षर बड़ा या छोटा नहीं होना चाहिए.

आशा हैं की आपको यह पत्र अच्छा लगा होगा. इसी तरह की और पत्र लेखन प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट के Notification को Allow करके हमारी वेबसाइट से जुड़े. इसी प्रकार के अन्य विषय पर यदि आप पत्र चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखे.

Leave a Comment

error: Content is protected !!