अगरबत्ती का बिज़नेस कैसे शुरू करे | Tips to Start Business of Agarbatti in Hindi

अगरबत्ती बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करे, कारखाने बनाने की लागत और लाभ | Tips to Start Business of Agarbatti Making (incense sticks), Cost of factory and Profit in Hindi

भारत में अगरबत्ती बनाने का व्यवसाय बहुत ही लाभदायक लघु व्यवसाय है. जिसे आप बहुत कम निवेश के साथ शुरू कर सकते हैं. अगरबत्ती बनाने की प्रक्रिया बहुत सरल है और मशीनों का उपयोग करके भी किया जा सकता है. यदि आप मशीनों में निवेश नहीं करना चाहते हैं तो आप हस्तनिर्मित अगरबत्ती उत्पादन इकाई के लिए जा सकते हैं. लेकिन मशीनें इसे आसान बनाती हैं और कम समय में उच्च गुणवत्ता वाली अगरबत्ती का उत्पादन करती हैं. इस लेख में अगरबत्ती निर्माण इकाई शुरू करने के बारे में जानकारी साझा करेंगे. आप इस सरल व्यवसाय से लाभ कैसे कमा सकते हैं इसका नीचे व्यवसाय योजना का नमूना दिया गया है, जिसे आप अपनी विनिर्माण इकाई(सेटअप) शुरू करने के लिए अपना सकते हैं.

इस लेख में मुख्य रूप से मशीनों की मदद से अगरबत्ती निर्माण पर ध्यान केंद्रित किया गया हैं क्योंकि हस्तनिर्मित अगरबत्ती अब बहुत कम लोग बनाते हैं. हाथ से अगरबत्ती बनाने में अधिक मैन पॉवर और समय लगता हैं और आप इससे अच्छा लाभ नहीं कमा सकते हैं.

अगरबत्ती का बिज़नेस शुरू करने के चरण (Steps to Starts Business of Agarbatti Making)

हम यहां एक महत्वपूर्ण बिंदु जोड़ना चाहता हैं यदि आप इस व्यवसाय में लाभ कमाना चाहते हैं तो आपको न्यूनतम 3 मशीनों से शुरुआत करनी होगी. 3 मशीनों की मदद से आप आसानी से एक महीने में 40,000 – 50,000 रुपये कमा सकते हैं. हम उपरोक्त सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं का विस्तार से वर्णन करेंगे.

1. अगरबत्ती बनाना की मशीनें (Agarbatti Making Machines )

यह बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि मशीनें आपके व्यवसाय की रीढ़ हैं. कई कंपनियां ऐसी हैं जो इन मशीनों को बेचती हैं लेकिन आपको एक विश्वसनीय कंपनी का चयन करना होगा जो ब्रेक डाउन के मामले में सेवा प्रदान करती है. ये मशीनें एक या एक महीने के लिए सुचारू रूप से काम करेंगी लेकिन इसके बाद इसे रखरखाव और सर्विसिंग की आवश्यकता होती है. अधिकांश अगरबत्ती मशीन आपूर्तिकर्ता गुजरात से हैं इसलिए आपको उनसे पूछना होगा कि वे आपके क्षेत्र में सेवा प्रदान करते हैं या नहीं? यदि वे आपके क्षेत्र में मरम्मत सेवा प्रदान नहीं करते हैं, तो उस मशीन को न खरीदें.

ब्रेक डाउन की स्थिति में सेवा प्रदान करने के लिए बड़ी कंपनियों ने भारत के हर राज्य में अपनी डीलरशिप स्थापित की है. आप अपने शहर में डीलर से मशीनें खरीदेंगे और वह डीलर आपातकाल के मामले में सेवा प्रदान करेगा. मशीनें खरीदने से पहले, सुनिश्चित करें कि उस विशेष कंपनी का डीलर आपके शहर या आसपास के शहर में मौजूद है.

अगरबत्ती बनाने की मशीन की लागत इसकी गति और कुल उत्पादन क्षमता पर निर्भर करती है. आमतौर पर, एक अच्छी मशीन की कीमत आपको लगभग 1,20,000 रुपये – 1,50,000 रुपये होगी. ये मशीनें 12 घंटे में लगभग 100 किग्रा कच्चे अगरबत्ती का उत्पादन करेंगी.

2. कच्ची सामग्री (Raw Material)

अगरबत्ती बनाने में इस्तेमाल होने वाली कच्ची सामग्री कोयला पाउडर, गोंद पाउडर, बांस की छड़ें, जिकिट पाउडर, इत्र इत्यादि हैं. आपको अपने शहर में कच्चे माल की आपूर्ति आसानी से हो जाएगी और इसके लिए आपको किसी भी जगह पर जाना होगा. अगरबत्ती बनाने की इकाई आपके इलाके में बांस की छड़ें जो अगरबत्ती बनाने में इस्तेमाल की जाती हैं. वे चीन और वियतनाम से आती हैं और इसकी कीमत आपके लगभग 120 रुपये किलो होगी. कच्चे माल भारत के किसी भी हिस्से में आसानी से उपलब्ध हैं.

3. स्थान और मशीन स्थापना (Place and Machine Establishment)

जब आप अपने शहर या आस-पास के शहर में डीलर से मशीनें खरीदेंगे. वह डीलर एक तकनीशियन भेजेगा जो आपके स्थान पर मशीन स्थापित करेगा. आपको उस तकनीशियन का सारा खर्च वहन करना होगा. वह स्थापना शुल्क के रूप में अतिरिक्त राशि भी वसूल करेगा. वह आपको मशीनों के संचालन और अगरबत्ती बनाने के तरीके के बारे में अतिरिक्त प्रशिक्षण भी देगा. वह अधिकतम 2 दिनों तक आपके स्थान पर रहेगा और फिर आपको मशीनरी का संचालन करना होगा. आपातकाल के समय या मशीन के टूटने पर आपको उसी व्यक्ति / डीलर से फिर से संपर्क करना होगा.

आप आसानी से 200 sqft या इससे भी अधिक में 4 मशीनों को स्थापित कर सकते हैं. मशीनें उतनी भारी नहीं हैं, यह हल्के वजन और संचालित करने में आसान हैं. अगरबत्ती के सुचारू उत्पादन के लिए आपको हर मशीन में एक समर्पित कर्मचारी की आवश्यकता होगी.

4. स्टाफ किराए पर लेना और प्रशिक्षण (Stuff funding and Training)

प्रत्येक मशीन के लिए एक समर्पित स्टाफ की आवश्यकता होती हैं. यदि आपके पास पाँच मशीनें हैं तो उस मशीन को संचालित करने के लिए विशेष प्रशिक्षण वाले पाँच कर्मचारियों की आवश्यकता होगी. आपको मशीन के बारे में अपने कर्मचारियों को सीखना और प्रशिक्षित करना होगा. 5 मशीनों के लिए 5 कर्मचारियों के अलावा, आपको मिश्रण बनाने, अगरबत्ती सुखाने और पैकिंग के लिए 3 और अतिरिक्त कर्मचारियों की आवश्यकता होगी.

शुरुआत में, आप 1 मशीन से 100kg अगरबत्ती का उत्पादन नहीं कर पाएंगे क्योंकि कर्मचारी नए हैं और उन्हें सीखने और बसने के लिए कुछ समय चाहिए. एक सप्ताह या 15 दिनों के बाद आप 1 मशीन से 100 किलोग्राम कच्चे अगरबत्ती का उत्पादन कर पाएंगे. इससे घबराएं नहीं, अपने कर्मचारियों को सीखने में समय दें.

5. मिश्रण या मसाला तैयार करना (Preparation of mixture)

यह बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि अगर आपका मिश्रण सही नहीं है तो आपकी अगरबत्ती अंत तक नहीं जलेगी. आपको अगरबत्ती मशीन तकनीशियन या डीलर से मिश्रण बनाने की प्रक्रिया को सीखना होगा. यदि आपकी उत्पादित अगरबत्ती अच्छी नहीं है तो यह पैसे की बर्बादी है और कोई भी आपकी अगरबत्ती नहीं खरीदेगा. आपको प्रक्रिया को सटीक रूप से सीखना होगा. मिश्रण बनाने के लिए आपके पास एक समर्पित कर्मचारी होना चाहिए.

6. मिक्सचर लोड करना (mixture Loading)

मिश्रण तैयार करने के बाद, उन्हें बांस की छड़ें से मशीन में लोड करें और कच्चा माल को भी उपयोग कर अगरबत्ती बनाएं. आप 1 मशीन से एक घंटे में 10 किलोग्राम कच्ची अगरबत्ती का उत्पादन कर सकते हैं, लेकिन शुरू में यह 5 – 6kg होगा.

7. अगरबत्ती इकट्ठा करें (Gather the Sticks)

उत्पादित कच्चे अगरबत्ती को इकट्ठा करने के लिए एक समर्पित कर्मचारी की जरूरत होती है. वह उस अगरबत्ती को धूप में सूखने के लिए रख देगा.

8. ड्रायर मशीन (Drying Machine)

अगर आपकी निर्माण इकाई की छत को सीधी धूप नहीं मिलती है तो आपको ड्रायर मशीन खरीदनी चाहिए. ड्रायर मशीन की कीमत लगभग 35,000 रुपये है. बारिश के मौसम में भी यह ड्रायर मशीन अगरबत्ती सुखाने के लिए भी फायदेमंद है.

9. अगरबत्ती को खुशबूदार बनाना (Make Agarbatti Aromatic)

यह इस व्यवसाय में अलग कार्य है. कई कच्चे अगरबत्ती निर्माता अपने द्वारा इत्र नहीं डालते हैं. वे केवल इत्र बनाने वाली कंपनी को कच्चा अगरबत्ती बेचते हैं. आप अपने कच्चे अगरबत्ती को सीधे उन कंपनियों को बेच सकते हैं जो अच्छे लाभ मार्जिन के साथ आसानी से उपलब्ध हैं. अगर आप अपना खुद का परफ्यूम जोड़ना चाहते हैं और अपना खुद का ब्रांड बनाना चाहते हैं तो आगे बढ़ें और कुछ नए फ्रैगनेंस पर शोध करें. उचित मार्केटिंग की मदद से आप कम समय में अपना ब्रांड बना सकते हैं.

10. पैकेजिंग और आपूर्ति (Packaging and Supply)

कच्चे अगरबत्ती पैकिंग के लिए आपको जूट के बैग (प्रत्येक 40 किग्रा) की आवश्यकता होगी. अपने सुगंधित अगरबत्ती की पैकिंग के लिए आपको अपने ब्रांड नाम के साथ उच्च गुणवत्ता की पैकिंग की आवश्यकता होगी. पैकेजिंग के लिए ऑटोमैटिक और सेमी ऑटोमैटिक मशीन उपयोग की जाती हैं.

अगरबत्ती बनाने में मुनाफा (Profit of Agarbatti Making Business)

अगरबत्ती बनाना बहुत ही लाभदायक व्यवसाय है और आप 1 मशीन से प्रतिदिन लाभ के रूप में आसानी से 500 – 700 रुपये कमा सकते हैं. लेकिन 1 मशीन अभ्यस्त महीने के अंत में आपकी अच्छी आय देती है, आपको कुछ अच्छे रिटर्न देखने के लिए न्यूनतम 3 या 4 मशीनों से शुरुआत करनी होगी.

कच्चा अगरबत्ती आपको 10 रुपये / किलो का लाभ देगा. दूसरी ओर, सुगंधित अगरबत्ती आपको अधिक लाभ प्रदान करेगी यानी 25 रुपये – 30 रुपये प्रति किलोग्राम. यह आपकी ब्रांडिंग और मार्केटिंग रणनीति पर निर्भर करता है.

यदि आप इस व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं तो आगे बढ़ें और इसे अभी शुरू करें. निकटतम विनिर्माण इकाई पर जाएं और इसके बारे में जानकारी लें. इस व्यवसाय के लिए आपको अच्छे कर्मचारी प्रबंधन कौशल की आवश्यकता होती है, आपको अपने कर्मचारियों को मासिक आधार या दैनिक आधार पर भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होती है. तब आप भुगतान करेंगे अगरबत्ती के आधार पर जो उन्होंने किलो में उत्पादित की थी.

इसे भी पढ़े :

Loading...

Leave a Comment