के. सी. पॉल (फुटपाथ पर रहने वाला वैज्ञानिक) की पूरी कहानी और संघर्ष

के. सी. पॉल (फुटपाथ पर रहने वाला वैज्ञानिक) की जीवनी, कार्य और जीवन संघर्ष | K. C. Paul Biography, Work and Life Stuggle in Hindi

कोलकाता में के. सी. पॉल (कार्तिक चन्द्र पॉल) नाम के एक व्यक्ति रहते है जो एक भूकेन्द्रित खगोल विज्ञान के प्रस्तावक है. बिना किसी विशेष ज्ञान और अनुभव के उन्होंने सिद्ध किया कि पृथ्वी सभी खगोलीय पिंडों का केंद्र है। जैसा की चित्र में प्रदर्शित है:

Earth is at the centre of all the celestial bodies by kc paul

पॉल ने अपने जीवन के महत्वपूर्ण 40 वर्ष बस यही सिद्ध करने में पुरे कर दिए की पृथ्वी अपने स्थान पर स्थिर है और शांत है इसे पॉल का सनकीपन भी कहा जा सकता है. पॉल के अनुसार सभी गृह पृथ्वी के चारों ओर परिक्रमा करते है यहाँ तक कि सूर्य भी पृथ्वी की परिक्रमा करता है.

Earth is at the centre of all the celestial bodies by kc paul6

18 अगस्त 2003 को पॉल अपने मकान का स्वामित्व खो चुके है और वर्तमान में वे अपना जीवन कोलकाता के फूटपाथ पर व्यतीत कर रहे है. पॉल का कहना है कि उन्हें कोई पेंशन नहीं मिल रही है और वे अपना गुजारा मात्र 500 रुपये महिना 17 रुपये प्रतिदिन में करते है.

Earth is at the centre of all the celestial bodies by kc paul5

पॉल का जन्म 1942 में हावड़ा के एक गाँव में हुआ. आर्थिक मज़बूरी के कारण उन्होंने एक लोकल स्कूल में एडमिशन लिया परन्तु वह अपनी पढाई जारी नहीं रख पाए.

Earth is at the centre of all the celestial bodies by kc paul4

1965 में भारत-चीन युद्ध के दौरान उन्होंने भारतीय सेना में कांस्टेबल के पद पर नौकरी की. शुरुआत में उनकी पोस्टिंग फतेहगढ़, उत्तरप्रदेश में थी. इस बीच उनके दिमाग में वह बात आई कि सूर्य पृथ्वी का चक्कर लगता है. उन्होंने अपना अध्ययन शुरू किया और 1974 में यह तय हो गया कि सूर्य की परिक्रमा पृथ्वी नहीं अपितु सूर्य पृथ्वी की परिक्रमा करता है.

Earth is at the centre of all the celestial bodies by kc paul3

हिंदी अख़बार अमर उजाला ने एक बार उनका इंटरव्यू लिया. आर्मी में सेवा देते वक़्त बिना अनुमति के समाचार पत्रों को इंटरव्यू देने के कारण उन्हें आर्मी से निष्काषित कर दिया गया.

Earth is at the centre of all the celestial bodies by kc paul2

यह एक अत्यंत दुखःद बात है जिस व्यक्ति ने अपने जीवन के 40 वर्ष समर्पित किये आज उसे फूटपाथ पर जीवन काटना पड़ रहा है.

Earth is at the centre of all the celestial bodies by kc paul1

इसे भी पढ़े :

आपको यह लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके अवश्य बताएं.

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि