पैन कार्ड क्या हैं, इसके फायदे और उपयोग | What is PAN card, its advantages and uses in Hindi

पैन कार्ड क्या हैं, फायदे और उपयोग तरीका,10 अंकों के पैन नंबर का मतलब | What is PAN card, card advantages and usage method, meaning 10 digit PAN number in Hindi

आयकर अधिनियम 1961 के तहत आयकर विभाग द्वारा जारी स्थायी खाता संख्या जिसे हम पैन कार्ड भी कहते है. यह एक अद्वितीय अल्फ़ान्यूमेरिक है, जो एक प्लास्टिक कार्ड पर अंकित 10 अंकों की संख्या है. व्यक्तियों, फर्म, कंपनी, व्यक्तियों का संगठन, व्यक्तिगत निकाय, हिंदू अविभाजित परिवार, सहकारी समिति, सरकारी एजेंसियां, कृत्रिम न्यायिक व्यक्ति, स्थानीय प्राधिकरण, सीमित देयता भागीदारी, ट्रस्ट और वे सभी जिनकी आय आयकर अधिनियम के तहत कर योग्य है, उन्हें वर्ष 1961 से पैन कार्ड प्राप्त करना आवश्यक है. नीचे हमने पैन कार्ड के फायदों के बारे में बताया है.

पैन कार्ड का उपयोग (PAN card Uses)

  1. दोपहिया वाहनों को छोड़कर वाहनों की खरीद या बिक्री के लिए पैन कार्ड आवश्यक हैं.
  2. बैंकिंग में कोई भी खाता खोलने के लिए जिसमें किसी भी वित्तीय वर्ष के दौरान 50,000 रुपये से अधिक की राशि जमा करने या 5,00,000 रुपये से अधिक की कुल राशि निकलने के लिए पैन कार्ड आवश्यक है.
  3. क्रेडिट कार्ड जारी करने से संबंधित आवेदन के लिए पैन कार्ड आवश्यक है.
  4. डीमैट खाता खोलने के लिए पैन कार्ड जरुरी हैं. जो किसी डिपॉजिटरी के साथ, या प्रतिभूतियों के संरक्षक या भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के किसी व्यक्ति के साथ किया जाता है.
  5. नकद में भुगतान के लिए जो 50,000 रुपये से अधिक है.
  6. किसी भी होटल या किसी भी रेस्त्रां को दिए जाने वाले बिल के लिए.
  7. किसी विदेशी मुद्रा खरीदने के लिए किसी विदेशी गंतव्य या यात्रा भुगतान के लिए.
  8. बैंक ड्राफ्ट बनाते समय या बैंक या किसी भी प्रकार के सहकारी बैंक से बैंकर चेक का भुगतान करते समय पैन कार्ड आवश्यक हैं.
  9. किसी भी म्यूचुअल फंड कंपनी को अपनी इकाइयों को खरीदने के लिए.
  10. कंपनी या संस्था द्वारा जारी किए गए अपने डिबेंचर या बॉन्ड खरीदने के लिए किसी भी कॉर्पोरेट संगठन या किसी सार्वजनिक संस्था द्वारा जारी बॉन्ड खरीदने के लिए सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, आर.बी.आई. को पैन कार्ड देना आवश्यक हैं.
  11. किसी भी वित्तीय वर्ष में 50,000 रुपये से अधिक की राशि के लिए बीमाकर्ता को प्रीमियम के रूप में एक जीवन बीमा के भुगतान के लिए.
  12. किसी भी राशि के लिए प्रतिभूतियों (शेयरों को छोड़कर) को खरीदने या बेचने के लिए जो प्रति लेनदेन 100,000 रुपये से अधिक है.
  13. कंपनी के शेयरों की खरीद और बिक्री के लिए जहां कंपनी किसी भी मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज में 1,00,000 रुपये से अधिक के लेनदेन के लिए सूचीबद्ध नहीं है.
  14. किसी भी संपत्ति को खरीदने और बेचने के लिए जो 10,00,000 रुपये से अधिक की किसी भी राशि के लिए अचल है या यदि यह एक स्टाम्प वैल्यूएशन अथॉरिटी द्वारा किसी राशि के लिए मूल्यवान है जो 10,00,000 रुपये से अधिक है.
  15. प्रति लेनदेन 2 रुपये से अधिक की राशि के लिए अचल संपत्ति के अलावा किसी भी प्रकृति के सामान या सेवाओं की खरीद और बिक्री के लिए.
  16. एक नाबालिग व्यक्ति अपने पिता या माता या अभिभावक के पैन का उपयोग कर सकता है बशर्ते उसके पास आयकर के रूप में भुगतान करने के लिए कोई आय प्रभार्य नहीं है.
  17. फॉर्म नंबर 60 में एक घोषणा की जा सकती है, यदि कोई व्यक्ति जिसके पास पैन कार्ड नहीं है, वह उपरोक्त उल्लिखित लेनदेन में से किसी में प्रवेश करता है.

पैन कार्ड के फायदे (PAN card Benefits)

  1. पैन कार्ड आयकर में हर प्रकार की गड़बडि़यों या दिक्‍कतों से आपको बचाता है.
  2. आप किसी भी सरकारी या निजी संस्‍था में इसे आईडी प्रूफ के रूप में प्रस्‍तुत कर सकते हैं. भारत सरकार द्वारा जारी यह कार्ड हर जगह मान्‍य होता है.
  3. यदि आप कहीं पार्ट टाइम बेसिस पर या अस्‍थाई रूप से काम करते हैं तो पैन कार्ड प्रस्‍तुत करने से आप वित्‍तीय वर्ष के अंत में अपना टीडीएस क्‍लेम कर सकते हैं.
  4. सिर्फ फुल टाइम ही नहीं बल्कि पार्ट टाइम जॉब में भी पैन कार्ड प्रस्‍तुत करने से आपका भुगतान आसान हो जाता है.

10-अंकीय पैन नंबर की संरचना (Structure of a 10-digit PAN Number)

  1. पहले पांच और 10 वें वर्ण वर्णानुक्रम(Alphabetical) में हैं जबकि बाकी चार प्रकृति में संख्यात्मक (Numerical) हैं.
  2. पहले पांच वर्णमाला वर्णों में से तीन A (ए) से Z (जेड) के बीच होते हैं.
  3. 5 वां से 9 वां वर्ण 0001 और 9999 के बीच होता है.
  4. अंतिम वर्ण अल्फ़ाबेटिक चेक डिजिट होता है.
  5. चौथा चरित्र पैन कार्ड धारक की स्थिति को दर्शाता है, उदाहरण के लिए:
    • P “पी” व्यक्ति के लिए है
    • T “टी” ट्रस्ट के लिए है
    • C “सी” कंपनी के लिए है
    • G “जी” सरकारी एजेंसी (गवर्नमेंट) के लिए है
    • H “एच” हिंदू अविभाजित परिवार के लिए खड़ा है
    • A “ए” एसोसिएशन के लिए है
    • B “बी” बॉडी ऑफ़ इंडिविजुअल (BOI) के लिए है
    • “J” का अर्थ आर्टिफिशियल ज्यूरिडिकल पर्सन से है
    • L “एल” स्थानीय प्राधिकरण (local authority) के लिए है
    • E “ई” का मतलब सीमित देयता भागीदारी है
    • F “एफ” का अर्थ है साझेदारी फर्म, और इसी तरह
  6. पाँचवाँ चरित्र व्यक्ति के मामले में और गैर-व्यक्तियों के लिए पैन धारक के नाम के पहले चरित्र के मामले में पैन धारक के अंतिम नाम या उपनाम का प्रतिनिधित्व करता है.

पैन कार्ड आवेदन पत्र दो प्रतिनिधि एजेंसियों अर्थात् यूटीआई इन्फ्रास्ट्रक्चर टेक्नोलॉजी एंड सर्विसेज लिमिटेड (यूटीआईआईटीएसएल) और नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (एनएसडीएल) को ऑनलाइन जमा किया जा सकता है। इन एजेंसियों को आयकर विभाग द्वारा पैन एप्लिकेशन को संसाधित करने के लिए अधिकृत किया गया है लेकिन पैन नंबर का आवंटन आयकर विभाग के हाथों में है. विदेशी कंपनियों सहित गैर-निवासियों द्वारा भारतीय निवासियों के लिए फॉर्म 49A और फॉर्म 49A में पैन आवेदन जमा किया जाता हैं.

इसे भी पढ़े :

Shashank Sharma

Shashank Sharma

शशांक दिल से देशी वेबसाइट के कंटेंट हेड और SEO एक्सपर्ट हैं और कभी कभी इतिहास से जुडी जानकारी पर लिखना पसंद करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *