चतुर्थी की तिथियाँ, महत्व और प्रकार | Chaturthi Dates, Mahatva and Types in Hindi

विनायक और संकष्टी चतुर्थी की तिथियाँ, पूजा विधि और महत्व | Vinayak and Sankashti Chaturthi, Dates, Puja Vidhi and Significance in Hindi

भगवान गणेश “ज्ञान के देवता” हैं. “विग्नेश्वराय” नाम भगवान गणेश के लिए एक उपयुक्त नाम है, क्योंकि वे सभी विघ्न और कठिनाइयों को दूर करने के लिए जाने जाते हैं और जो भी प्रयास हम अपने आप में स्थापित करते हैं, उसमें सुव्यवस्थित सफलता की गणेश जी ही प्रदान करते है. गणेश को “मंगलमूर्ति” के नाम से जाना जाता है, जिसका शाब्दिक अर्थ है “वह जो सभी का शुभ है” और “गणपति”, जो ‘सभी गणों के प्रमुख’ का प्रतीक है. सभी पूजाएं और अनुष्ठान भगवान गणपति के आह्वान के साथ शुरू होते हैं. यह सम्मान भगवान गणेश को उनके पिता भगवान शिव द्वारा दिया गया था.

विनायक चतुर्थी और संकष्टी चतुर्थी

हिंदू कैलेंडर में प्रत्येक चंद्र महीने में दो चतुर्थी तिथियाँ होती हैं. हिंदू धर्मग्रंथों के अनुसार चतुर्थी तिथि भगवान गणेश की है. शुक्ल पक्ष के दौरान अमावस्या या अमावस्या के बाद की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी और कृष्ण पक्ष के दौरान पूर्णिमा या पूर्णिमा के बाद की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी के रूप में जाना जाता है.

वैसे तो विनायक चतुर्थी का व्रत हर महीने किया जाता है लेकिन सबसे महत्वपूर्ण विनायक चतुर्थी भाद्रपद के महीने में आती है. भाद्रपद माह के दौरान विनायक चतुर्थी को गणेश चतुर्थी के रूप में जाना जाता है. गणेश चतुर्थी पूरे विश्व में हिंदुओं द्वारा भगवान गणेश के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है.

गणेश का आह्वान मंत्र (Ganesh Mantra)

वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटिसमप्रभ।
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥

विनायक चतुर्थी वर्ष 2019 में (Upcoming Vinayak Chaturthy in 2019)

तिथि दिन चतुर्थी चतुर्थी तिथि आरम्भ चतुर्थी तिथि समाप्ति
10 जनवरी गुरुवार विनायक चतुर्थी 10 जनवरी पूर्वाह्न 11:26 से 11 जनवरी अपराह्न 13:30 तक
08 फरवरी शुक्रवार विनायक चतुर्थी 08 फरवरी पूर्वाह्न 11:30 से 09 फरवरी अपराह्न 1:40 तक
10 मार्च रविवार विनायक चतुर्थी 10 मार्च पूर्वाह्न 11:21 से 11 मार्च अपराह्न 1:41 तक
09 अप्रैल मंगलवार विनायक चतुर्थी 09 अप्रैल पूर्वाह्न 11:07 से 10 अप्रैल अपराह्न 1:38 तक
08 मई बुधवार विनायक चतुर्थी 08 मई पूर्वाह्न 10:58 से 09 मई अपराह्न 1:37 तक
06 जून गुरूवार विनायक चतुर्थी 06 जून पूर्वाह्न 10:57 से 07 जून अपराह्न 1:42 तक
06 जुलाई शनिवार विनायक चतुर्थी 06 जुलाई पूर्वाह्न 11:03 से 07 जुलाई अपराह्न 13:09 तक
04 अगस्त रविवार विनायक चतुर्थी 04 अगस्त पूर्वाह्न 11:07 से 05 अगस्त अपराह्न 1:46 तक
02 सितम्बर सोमवार गणेश चतुर्थी 02 सितम्बर पूर्वाह्न 11:05 से 03 सितम्बर अपराह्न 13:36 तक
02 अक्टूबर बुधवार विनायक चतुर्थी 02 अक्टूबर पूर्वाह्न 10:59 से 03 अक्टूबर पूर्वाह्न 11:39 तक
31 अक्टूबर गुरूवार विनायक चतुर्थी 31 अक्टूबर पूर्वाह्न 10:58 से 01 नवंबर अपराह्न 1:10 तक
30 नवम्बर शनिवार विनायक चतुर्थी 30 नवम्बर पूर्वाह्न 11:07 से 30 नवम्बर अपराह्न 1:11 तक
30 दिसम्बर सोमवार विनायक चतुर्थी 30 दिसम्बर पूर्वाह्न 11:22 से 31 दिसम्बर अपराह्न 1:24 तक

संकष्टी चतुर्थी वर्ष 2019 में (Upcoming Sankashti Chaturthy in 2019)

तिथि दिन चतुर्थी चतुर्थी तिथि आरम्भ चतुर्थी तिथि समाप्ति
24 जनवरी बृहस्पतिवार संकष्टी चतुर्थी/ सकट चौथ 23 जनवरी अपराह्न 11:59 24 जनवरी अपराह्न 08:53
22 फरवरी शुक्रवार संकष्टी चतुर्थी 22 फरवरी पूर्वाह्न 10:49 23 फरवरी पूर्वाह्न 08:10
24 मार्च रविवार संकष्टी चतुर्थी 23 मार्च अपराह्न 10:32 24 मार्च अपराह्न 08:51
22 अप्रैल सोमवार संकष्टी चतुर्थी 22 अप्रैल पूर्वाह्न 11:24 23 अप्रैल पूर्वाह्न 11:03
22 मई बुधवार संकष्टी चतुर्थी 22 मई पूर्वाह्न 01:40 23 मई पूर्वाह्न 02:40
20 जून बृहस्पतिवार संकष्टी चतुर्थी 20 जून अपराह्न 05:08 21 जून अपराह्न 07:08
20 जुलाई शनिवार संकष्टी चतुर्थी 20 जुलाई अपराह्न पूर्वाह्न 09:13 21 जुलाई अपराह्न पूर्वाह्न 11:39
19 अगस्त सोमवार संकष्टी चतुर्थी/बहुला चतुर्थी 19 अगस्त पूर्वाह्न 01:13 20 अगस्त पूर्वाह्न 03:29
17 सितम्बर मंगलवार अंगारकी चतुर्थी 17 सितम्बर अपराह्न 04:32 18 सितम्बर अपराह्न 06:11
17 अक्टूबर बृहस्पतिवार संकष्टी चतुर्थी/करवा चौथ 17 अक्टूबर पूर्वाह्न 06:48 18 अक्टूबर पूर्वाह्न 07:28
15 नवम्बर शुक्रवार संकष्टी चतुर्थी 15 नवम्बर अपराह्न 07:45 16 नवम्बर अपराह्न 07:14
15 दिसम्बर रविवार संकष्टी चतुर्थी 15 दिसम्बर पूर्वाह्न 07:18 16 दिसम्बर पूर्वाह्न 05:34

इसे भी पढ़े :

Ujjawal Dagdhi

Ujjawal Dagdhi

उज्जवल दग्दी दिल से देशी वेबसाइट के मुख्य लेखकों में से एक हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *