विद्या प्राप्ति के लिए सरस्वती मंत्र | Vidya Prapti Sarasvati Mantra in Hindi

विद्या प्राप्ति के लिए सरस्वती मंत्र और इसका दैनिक जीवन में महत्व | Vidya Prapti Sarasvati Mantra and Its Significance in Hindi

शिक्षा मानव जीवन के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है हालांकि हर कोई पढ़ाई और बुद्धिमत्ता की बात नहीं करता है. जिस तरह वेदों ने कई समस्याओं के कई समाधान खोजे हैं, उसी तरह पूर्वजों ऋषियों ने भी इसके लिए कई समाधान खोजे हैं. कई के बीच मंत्र जप एक शक्तिशाली उपाय है. मंत्र और जप द्वारा बनाए गए शक्तिशाली कंपन एक शरीर में दिव्य और आध्यात्मिक शक्तियों को सक्रिय करते हैं. प्रत्येक मंत्र हमारे शरीर में एक अनोखे तरीके से चक्रों को सक्रिय करता है. इसके अलावा इन शक्तिशाली मंत्रों का उपयोग बुद्धि और कुंडलिनी जागृत करने के लिए किया जाता है. इन मंत्रों की शक्ति न केवल सांसारिक समाधान प्राप्त करने के लिए पर्याप्त है, बल्कि वे भगवान की मुक्ति और प्राप्ति के लिए भी हैं और इस तरह से इन मंत्रों की महिमा असीमित है.

विद्या प्राप्ति मंत्रों का जाप बुद्धिमत्ता के लिए किया जाता है, यह स्मरण शक्ति को बढ़ाता है, सीखने की शक्ति को तेज करता है और संचार कौशल को तेज करता है. ये मंत्र रचनात्मकता की प्रतिभा को बढ़ाते हैं. इन मंत्रों को छात्रों के लिए एकाग्रता और स्मृति की शक्ति में सुधार करने के लिए जाना जाता है. जो छात्र अच्छा प्रदर्शन करने या अपनी परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए संघर्ष करते हैं वे इन मंत्रों का जाप कर सकते हैं. यहाँ शिक्षा और ज्ञान के मंत्रों की सूची दी गई है

विद्या प्राप्ति मंत्र (Vidhya Prapti Mantra)

1. सरस्वती विद्या मंत्र (Sarasvati Vidhya Mantra)

सरस्वति नमस्तुभ्यं वरदे कामरूपिणि ।
विद्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु मे सदा ॥

2. सम्पूर्ण विद्या प्राप्ति मंत्र (Sampurna Vidhya Prapti Mantra)

विद्याः समस्तास्तव देवि भेदाः! स्त्रियः समस्ताः सकला जगत्सु। त्वयैकया पूरितमम्बयैतत् का ते स्तुतिः स्तव्यपरा परोक्तिः।।

3. सरस्वती मंत्र (Sarasvati Mantra)

ऊँ ऐं महासरस्वत्यै नमः।।

4. विद्या उपदेश मंत्र (Vidhya Updash Mantra)

ऊँ ऐं ह्रीं श्रीं वाग्देव्यै नमः।।

5. सरस्वती ज्ञान प्राप्ति मंत्र (Sarasvati Gyan Prapti Mantra)

वद वद वाग्वादिनी स्वाहा ll

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment