प्रभात कुमार मुखोपाध्याय का जीवन परिचय | Prabhat Kumar Mukhopadhyay Biography in Hindi

बंगाली भाषा के मशहूर लेखक और उपन्यासकार प्रभात कुमार मुखोपाध्याय की जीवनी | Bengali Novelist and Story Writer Prabhat Kumar Mukhopadhyay Biography in Hindi

प्रभात कुमार मुखोपाध्याय एक मशहूर बंगाली लेखक थे. इनकी लघु कहानियाँ जीवन की परिस्थितियों पर आधारित होती हैं. जो आम आदमी को मार्मिक स्पर्श प्रदान करती हैं. इनकी कहानी सामान्य परिवारों के सुख, दुःख उनके जीवन में घटित घटनाओं की संवेदना को प्रकट करती हैं.

प्रभात कुमार मुखोपाध्याय जन्म और प्रारंभिक जीवन (Prabhat Kumar Mukhopadhyay Biography)

प्रभात कुमार मुखोपाध्याय का जन्म 3 फरवरी 1873 को हुआ था. इन्होने रोमासुन्दरी और रत्नदीप जैसे मशहूर उपन्यास लिखे हैं. इनके साहित्यिक कार्यों को बांग्लादेश में स्कूल स्तर, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक और स्नातक स्तर के बंगाली साहित्य के पाठ्यक्रम में शामिल किया गया था.

प्रभात कुमार मुखोपाध्याय के उपन्यास और लघु कहानियां

उपन्यास (Prabhat Kumar Mukhopadhyay Novels)

  • रोमासुन्दरी (Romasundori)
  • नोबिन संनशी (Nobin Sannyashi)
  • रत्नदीप (Ratnadeep)
  • जिबोनर मुल्लो (Jiboner Mullo)
  • सिदूर कोट्टा (Sidur Kouta)

लघु कहानियां (Prabhat Kumar Mukhopadhyay Stories)

  • नोबोकोथा (Nobokotha)
  • सोरोशी (Soroshi)
  • गल्पपंजोली (Galpapanjoli)
  • गोल्पोबिथी (Golpobithi)
  • पत्रपुष्पा (Patrapushpa)
  • गोहोनर बक्शो (Gohonar Baksho)
  • होताश प्रेमिक (Hotash Premik)
  • बिलाशिनी (Bilashini)
  • जुबोकर प्रेम (Juboker Prem)
  • नुतों बोउ (Nuton Bou)
  • जमाता बाबाजी (Jamata Babajee)
  • द प्राइस ऑफ़ फ्लावर (The Price Of Flowers)

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment

error: Content is protected !!