एयर कंडीशनर के उपयोग से सेहत को होने वाले 9 नुकसान | Bad Effects of Air Conditioner in Hindi

एयर कंडीशनर के उपयोग से सेहत को होने वाले 9 घातक नुकसान की जानकारी | Bad Effect of Air Conditioning in Hindi | Air Conditioner Ke Nuksan

गर्मी के मौसम में सभी को ठंडी हवा चाहिए. जितना अधिक पारा चढ़ता है, उतना ही एयर कंडीशनर की मांग बढ़ जाती है. लेकिन एक एसी से हवा के संपर्क में आने से हमारे स्वास्थ पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है.

आपके स्वास्थ्य पर एयर कंडीशनर के खतरनाक प्रभाव केवल पर्यावरण ही नहीं, एयर कंडीशनर भी मानव स्वास्थ्य को विशेष रूप से प्रभावित कर सकते हैं. एसी के कुछ दुष्प्रभाव हैं जिनसे आपको अवगत होने की आवश्यकता है.

एयर कंडीशनर के नुकसान (Air Conditioner Ke Nuksan )

1. आँखों का सूखना

यदि आप लम्बे समय तक एसी के वातावरण ने बैठते हैं तो आँखों ने खुजली और जलन हो सकती हैं. यदि आप एक एसी कमरे में लंबे समय तक रहते हैं, तो यह सूखी आंखों को ट्रिगर कर सकता है. यदि आप सूखी आंखों से पीड़ित हैं, तो आपको एसी-हवादार कमरों में लंबे समय तक रहने से बचना चाहिए क्योंकि इससे समस्या और भी बदतर हो जाएगी.

2. निर्जलीकरण

कमरे को ठंडा करते समय, AC अक्सर आवश्यकता से अधिक नमी को निकाल लेता हैं. यदि आप इसे कम तापमान पर सेट करते हैं, तो कमरे में मौजूद नमी सूखने की संभावना काफी अधिक है. कमरे के साथ-साथ एसी शरीर से नमी को भी सोख लेते हैं. यदि आप अपने आप को पर्याप्त हाइड्रेट नहीं करते हैं, तो निर्जलीकरण होने की संभावना हो सकती है.

3. सिरदर्द

कमरे के अंदर और बाहर गर्मी अलग होती है. कई बार एसी वाले कमरे में बैठने से सिरदर्द की समस्या भी उत्पन्न हो जाती है. यह निर्जलीकरण के कारण भी हो सकता है. एसी के लगातार संपर्क से उन लोगों में भी सिरदर्द हो सकता है जो माइग्रेन से पीड़ित हैं.

4. संक्रमण

नाक के मार्ग और श्लेष्म झिल्ली के बाहर सूखने से वायरल संक्रमण हो सकता है. क्योंकि श्लेष्मा शरीर को संक्रमण से दूर रखने के लिए एक सुरक्षात्मक परत रखता है. यदि यह एसी से परेशान हो जाता है, तो संक्रमण कुछ ही समय में शरीर को प्रभावित करेगा.

5. श्वसन संबंधी समस्याएं

एसी के लगातार संपर्क नाक और गले के सामान्य कामकाज को परेशान कर सकता है. यह श्लेष्म झिल्ली में श्वसन अवरोध और सूजन पैदा कर सकता है. एसी फेफड़े को भी प्रभावित कर सकते हैं.

6. शुष्क त्वचा

त्वचा पर एसी का प्रभाव चौंकाने वाला है. एसी से त्वचा सुखी और खुजली की समस्या पैदा हो सकती है. सिर की त्वचा को कमजोर करके एक एसी बालों के नुकसान की दर को बढ़ा सकता है.

7. सुस्ती और आलस्य

जो लोग एसी कमरे में लंबे समय तक रहते हैं वे सुस्त और आलसी हो जाते हैं. लगातार एसी में बैठने से लोग उस वातावरण के आलसी हो जाते हैं. इसलिए काम पर एसी की बजाय प्राकृतिक वेंटिलेशन रखना हमेशा बेहतर होता है.

8. अस्थमा और एलर्जी

अगर ठीक से एसी सफाई न की जाए तो एसी अस्थमा से पीड़ित लोगों के लिए बहुत ही हानिकारक है. प्रदूषकों को समय पर हटाने से एलर्जी को रोकने में मदद मिल सकती है.

9. अन्य स्वास्थ्य खतरे

यदि एसी से रिसाव होता है, तो सिस्टम आपको हानिकारक रसायनों के सीधे संपर्क में ला सकता है. इससे स्वास्थ्य को खतरा हो सकता है.

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment