बादाम खाने के फायदे और नुकसान | Badam Khane ke Fayade aur Nuksan in Hindi

बादाम खाने से सेहत को होने वाले फायदे और नुकसान की जानकारी | Benefits and Disadvantage of Almond (Badam) in Hindi | Badam Khane ke Fayade aur Nuksan

एक माँ के लिए अपने बच्चे के स्वास्थ्य की चिंता करना आम बात है. हमें यकीन है कि आपको अपने बच्चे के आहार के बारे में बहुत सावधान रहना चाहिए और यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए कि उसे पोषण की दैनिक खुराक मिले. बादाम बच्चों के लिए जरूरी है क्योंकि वे आवश्यक पोषक तत्वों से भरे होते हैं जो एक बच्चे को अपने बढ़ते वर्षों में चाहिए.

बादाम के प्रकार (Types of Almond)

बादाम को ‘नट्स के राजा’ के रूप में जाना जाता है और यह एक स्वस्थ स्नैक है. इनमें विटामिन, खनिज और असंतृप्त वसा होते हैं. बादाम मूल रूप से दो प्रकार के होते हैं.

मीठे बादाम

ये अपने स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रसिद्ध बादाम हैं और दुनिया भर में लगभग हर जगह व्यापक रूप से इसकी खपत होती है. यह प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होते हैं.

कड़वे बादाम

इन्हें ‘जंगली बादाम’ के रूप में भी जाना जाता है. ये बादाम खाना पकाने के लिए उपयोग किया जाता है, और इसके कई अन्य औषधीय फायदे हैं. कई लोग इस तरह के बादाम से बचते हैं क्योंकि इसमें एमिग्डालीन की उपस्थिति होती है.

बादाम में पोषक तत्व (Ingredients in Almond)

बादाम एक अद्भुत स्नैक्स है क्योंकि वे प्रोटीन, विटामिन और खनिजों में उच्च हैं. बादाम में लगभग शून्य कोलेस्ट्रॉल होता है, जो कोरोनरी हृदय रोगों को रोक सकता हैं. बादाम एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है जो लिपिड में घुलनशील होता हैं. बादाम में कई विटामिन और खनिज होते हैं जो बच्चों के विकास और विकास के लिए कारगर साबित होते हैं. 23 ग्राम बादाम में मौजूद पोषक तत्व यहां दिए गए हैं.

बच्चों के लिए बादाम खाने के फायदे (Benefits of Almond )

1. प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है. (For the immune system)

बच्चे के स्वास्थ्य को तय करने में प्रतिरक्षा शक्ति एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. यदि आप अपने बच्चे की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करना चाहते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप उसे बादाम दें. क्योंकि बादाम में मौजूद क्षार धातु उनकी प्रतिरक्षा को मजबूत कर सकते हैं. बादाम में एंटीऑक्सीडेंट की मौजूदगी आपके बच्चे में बीमारियों के खतरे को भी कम कर सकती है. चूंकि बादाम विटामिन ई से भरपूर होते हैं, इसलिए इन्हें खाने से कोरोनरी हृदय रोग के खतरे को भी रोका जा सकता है.

2. हड्डियों को मजबूत बनाता है. (To Strength Bones)

कैल्शियम और फास्फोरस जैसे खनिज आपके बच्चे की हड्डियों को मजबूत करते हैं. बादाम में फास्फोरस की एक उच्च मात्रा होती है. आहार में बादाम को शामिल करने से उसके दांत और हड्डियां मजबूत होती हैं. इसका नियमित उपयोग आपके बच्चे को उसके बाद के वर्षों में दांतों की सड़न और ऑस्टियोपोरोसिस की संभावना से भी बचाएगा.

3. स्वस्थ मस्तिष्क विकास के लिए (For Healthy Mind)

बादाम में मौजूद एल-कार्निटाइन और राइबोफ्लेविन मस्तिष्क के विकास को सुनिश्चित करता हैं. ये पोषक तत्व अल्जाइमर रोग को भी रोक सकते हैं. बादाम आपके बच्चों की स्मरण शक्ति और एकाग्रता को बेहतर बनाने में भी मदद करता है. अपने बच्चे के आहार में बादाम शामिल करें – वह कुशाग्र और सक्रिय हो जाएगा.  

4. ऊर्जा स्तर को बढ़ाने में (To Increase Energy)

बादाम में कॉपर, राइबोफ्लेविन और मैंगनीज की उच्च मात्रा होती है. चय-अपचय की उचित दर बनाए रखने और ऊर्जा प्रदान करने के लिए इनकी आवश्यकता होती है. यदि वह हर समय बेचैन रहता है, तो अपने बच्चे के आहार में बादाम शामिल करें.

5. कैंसर को रोकने में (To Stop Cancer)

बादाम फाइबर से भरपूर होते हैं, इसलिए इनका सेवन कोलन के माध्यम से भोजन के पारित होने को बढ़ावा देने में मदद करेगा. इससे पेट के कैंसर होने की संभावना कम हो सकती हैं.

6. त्वचा की समस्याओं के इलाज में (For Skin Problems)

यदि आपके बच्चे को त्वचा की सूखी समस्याएं हैं, तो उसे बादाम देने पर विचार करें. अधिकांश डॉक्टर शिशुओं के लिए बादाम के तेल का सुझाव देते हैं क्योंकि यह हड्डियों के विकास में मदद करता है और त्वचा को स्वस्थ बना सकता है.

7. कब्ज के इलाज में (For Competition Treatment)

बादाम में उच्च फाइबर सामग्री कब्ज से राहत दे सकती है. बादाम फैटी एसिड, लिनोलेनिक फैटी एसिड और लिनोलियम में समृद्ध हैं, जो सूजन को कम करने में मदद करते हैं.

8. ब्लड प्रेशर को बनाए रखने में (To Control Blood Pressure)

बादाम में पोटेशियम और सोडियम सामग्री काफी अधिक होती है, जो रक्तचाप के उतार-चढ़ाव को रोकने में मदद कर सकती है.

बादाम के नुकसान (Side-effect or Disadvantages of Almond)

सुखे मेवे बच्चों के लिए बहुत लाभकारी होते हैं लेकिन कभी-कभी वे एलर्जी का भी कारण बन सकते हैं. छह महीने की उम्र के बाद बच्चों को सूखे मेवे दिया जाना चाहिए. यदि आप किसी भी एलर्जी की प्रतिक्रिया को नोटिस करते हैं या नट्स से एलर्जी वाले लोगों के साथ पारिवारिक इतिहास रखते हैं. तो आपको अपने बच्चे को बादाम देने से बचना चाहिए. नीचे उल्लेखित बादाम खाने के कुछ संभावित दुष्प्रभाव हैं.

कुछ कड़वे बादाम का सेवन करना किसी व्यक्ति के लिए घातक हो सकता है. लोगों को बादाम से एलर्जी हो सकती है. इससे उनकी त्वचा पर चकत्ते पड़ जाएंगे और उन्हें सांस लेने में गंभीर समस्या हो सकती है.

अपने बच्चे के आहार में बादाम कैसे शामिल करें

बादाम बहुत स्वादिष्ट होते हैं और कई पोषक तत्वों से भरे होते हैं. बादाम सीधे खाने के लिए दिए जा सकते हैं, या आप उन्हें विभिन्न भोजन में जोड़ सकते हैं. बाजार में आप बादाम को कई रूपों जैसे बादाम सिरप, बादाम मक्खन, और बादाम दूध में पा सकेंगे. यदि आपका बच्चा बहुत छोटा है और इसे पूरी तरह से नहीं खा सकता है, तो आप इसे थोड़ी देर के लिए पानी में भिगोकर रख सकते हैं या इसे पाउडर भी बना सकते हैं, जिसे दूध में मिलाया जा सकता है. यह दूध को एक अच्छा स्वाद देगा और आपका बच्चा इसे पसंद करेगा.

यदि आपका बच्चा अनाज पसंद करता है, तो आप उसके स्वास्थ्यवर्धक और स्वादिष्ट बनाने के लिए उसकी कटोरी में 1-2 चम्मच बादाम मक्खन मिला सकते हैं. आप हल्के क्रीम पनीर और बादाम मक्खन के बराबर भागों को लेकर डिप बना सकते हैं और इसमें थोड़ा दूध मिला सकते हैं. यह कटा हुआ केला या किसी अन्य ताजे फल के साथ परोसा जा सकता है.

इसे भी पढ़े :

Loading...

Leave a Comment

Item added to cart.
0 items - 0.00