अव्यय की परिभाषा, भेद और उदाहरण | Avyay Definition, Type With Example In Hindi

अव्यय किसे कहते है ? जानिए परिभाषा, भेद और उसके उदाहरण
Avyay Definition, Type with Example In Hindi

अव्यय की परिभाषा | Definition Of Avyay in Hindi

जिन शब्दों के रूप में लिंग, वचन, कारक आदि के कारण कोई परिवर्तन या कोई विकार उत्पन्न नहीं होता है उन्हें अव्यय कहते है. अव्यय शब्द हर स्थिति में अपने मूल रूप में बने रहते है क्योंकि अव्यय का रूपान्तर नहीं होता इसलिए ऐसे शब्द अविकारी होते हैं.

उदाहरण : अभी, उधर, जब, तब, वहाँ, इधर, कब, और, तथा, एवं, इसलिए, अर्थात, अतएव, चूँकि, अवश्य आदि.
  • जब मैं पढ़ने जाता हूँ तब वह भोजन करता जाता हैं.
  • मैं अभी नहीं जाऊंगा.
  • सीता और गीता बहने हैं.

अव्यय के भेद | Type of Avyay

अव्यय के चार भेद होते हैं :

  1. क्रियाविशेषण अव्यय
  2. संबंधबोधक अव्यय
  3. समुच्चयबोधक अव्यय
  4. विस्मयादिबोधक अव्यय

1. क्रियाविशेषण अव्यय –

जो शब्द क्रिया की विशेषता बताने का कार्य करते है उन्हें क्रियाविशेषण कहा जाता है. अर्थात् क्रियाविशेषण दूसरे क्रियाविशेषण की भी विशेषता बताता हैं. जैसे : 

  • सुशील धीरे-धीरे चलता है.
  • ज्योति वहाँ पढ़ाई करती है.
  • वह बहुत धीरे चलता है.

2. संबंधबोधक अव्यय –

जो अव्यय शब्द वाक्य में किसी संज्ञा या सर्वनाम के साथ आकर उस संज्ञा या सर्वनाम का संबंध वाक्य के दूसरे शब्द से दिखाता है उसे संबंधबोधक अव्यय कहते हैं. जैसे :

  • वृक्ष के ऊपर चिड़िया चहक रही है.
  • माता-पिता के बिना तुम कुछ नहीं हो.
  • घर के पीछे एक गली है.

जब संबंधबोधक अव्यय संबंध न जोड़कर साधारण रूप में प्रयोग होता है तो यह क्रियाविशेषण का काम करता है. जैसे : 

  • राम छत पर खड़ा है. (संबंधबोधक)
  • छत पर खड़ा है. (क्रियाविशेषण)

3. समुच्चयबोधक अव्यय –

जो अव्यय क्रिया या संज्ञा की विशेषता न बताकर एक वाक्य या पद का सम्बन्ध दूसरे वाक्य या पद से परस्पर जोड़ने का काम करते हैं उन्हें समुच्चयबोधक अव्यय कहते है. जैसे : यद्यपि, परन्तु और किन्तु आदि.

  • आँधी आयी और बारिश हुई.
  • उसने बहुत परिश्रम किया परन्तु सफल न हो सका.
  • रविन या प्रवीण दोनों में से कोई एक रहेगा.

ऊपर उदाहरणों में हम देख सकते है की ‘और’, ‘परन्तु’, ‘या’ शब्द दो वाक्यांशों को जोड़ने का काम कर रहे हैं.

4. विस्मयादिबोधक अव्यय –

जिन अव्ययों से आश्चर्य, क्रोध, हर्ष, शोक, घृणा, भय आदि के भाव प्रकट करें उन्हें विस्मयादिबोधक कहते है. जैसे : 

  • हाय! ये क्या हो गया मुझसे?
  • अरे तुम नीचे गिर जाओगे.
  • वाह! कितनी अच्छी चित्र है.

विस्मयादिबोधक अव्यय वह है जिनका अपने वाक्य या किसी पद से कोई सम्बन्ध नहीं है तथा इनका प्रयोग केवल मनोभावों को तेज़ रूप में प्रकट करने के लिए होता है. 

इसे भी पढ़े :

2 thoughts on “अव्यय की परिभाषा, भेद और उदाहरण | Avyay Definition, Type With Example In Hindi”

  1. आपने अव्यय की विस्तार से जानकारी दी पढ़कर अच्छा लगा

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!