Kane Williamson Biography in Hindi | केन विलियमसन का जीवन परिचय

केन विलियमसन की जीवनी, परिवार, पत्नी, क्रिकेट करियर और रोचक तथ्य | Kane Williamson Biography, Family, Wife, Cricket Career and Intresting Facts

केन विलियमसन को न्यूजीलैंड के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में से एक माना जाता है. उन्हें मार्टिन क्रो, स्टीफन फ्लेमिंग और ऐसे महान खिलाड़ियों की लीग में माना जाता है. आज यह कीवी कप्तान ने क्रिकेट के शीर्ष पर अपना स्थान कायम किया है. विलियमसन ने  वनडे फॉर्मेट में सबसे तेज 6,000 रन बनाने का रिकॉर्ड उनके नाम हैं. मैदान पर अपने शांत स्वभाव और बेहतरीन प्रदर्शन के कारण, वह न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ब्रेंडन मैकुलम के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद कप्तान के पद के लिए एक स्पष्ट पसंद थे. 

बचपन और प्रारंभिक जीवन (Ken Williamson Childhood and Early Life)

केन विलियमसन का जन्म 8 अगस्त, 1990 को सैंड्रा और ब्रेट विलियम्सन के घर पर न्यूजीलैंड के प्लांट क्षेत्र की खाड़ी के तोरंगा में हुआ था. वह अपने जुड़वा भाई लोगन के साथ तीन बड़ी बहनों, अन्ना, सोफी और काइली के साथ पले-बढ़े.

खेल खेलना विलियमसन परिवार को विरासत में मिला हैं.  केन विलियमसन के पिता ब्रेट विलियमसन ने क्लब क्रिकेट खेलते थे. उनकी  की मां, सैंड्रा, एक बास्केटबॉल खिलाड़ी थीं. केन की सभी बहनों ने वॉलीबॉल खेलती हैं.   

विलियमसन ने शुरू में ”पिलंस पॉइंट प्राइमरी स्कूल’ और फिर ‘ओटोमोइटाई इंटरमीडिएट’ से प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की. उन्होंने अंततः ‘तोरंगा बॉयज़ कॉलेज’ से स्नातक की उपाधि प्राप्त की. ‘पिलंस पॉइंट’ केवल एक साधारण स्कूल नहीं था. यह क्रिकेट कार्यक्रम चलाने के लिए क्षेत्र का एकमात्र स्कूल था. 

विलियमसन ने 16 साल की उम्र में प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना शुरू किया और 2007-2008 में स्टेट चैम्पियनशिप जीती. कॉलेज छोड़ने से पहले विलियमसन ने 40 शतकों की संख्या हासिल कर ली थी. 

17 साल की उम्र में विलियमसन ने मलेशिया में 2008 ’विश्व कप ‘सेमीफाइनल में अंडर -19 न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम का नेतृत्व किया, जहां वे भारत से हार गए. 

व्यक्तिगत और पारिवारिक जीवन (Ken Williamson Personal and Family Life)

विलियमसन अपनी प्रेमिका, ब्रिटिश मूल की नर्स सारा रहीम के साथ विवाह किया हैं. सारा ‘ब्रिस्टल विश्वविद्यालय’ से स्नातक हैं. 

केन विलियमसन क्रिकेट करियर (Ken Williamson Cricket Career)

केन विलियमसन  ने अगस्त 2010 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा, लेकिन भारत के खिलाफ त्रिकोणीय श्रृंखला टूर्नामेंट, श्रीलंका में एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (एक दिवसीय) की शुरुआत की. जहां उन्हें नौवीं गेंद पर “डक” आउट किया गया. इसके बाद विलियमसन अगले मैच में श्रीलंका टीम के खिलाफ दूसरी गेंद पर “डक” आउट हुए.

वर्ष समाप्त होने से पहले, अक्टूबर 2010 में, विलियमसन ने एकदिवसीय श्रृंखला में बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला शतक जमाकर अपनी पिछली असफलताओं का जवाब दिया. उसी साल टेस्ट टीम में अपना शतक जमाया. उन्होंने एक महीने बाद भारत के खिलाफ अपना पहला टेस्ट शतक लगाया. उस टेस्ट मैच में 131 रन बनाने के साथ, वह न्यूज़ीलैंड के आठवें खिलाड़ी बन गए जिन्होंने टेस्ट पदार्पण में शतक बनाया था.

2012 में, एक संघर्षरत न्यूजीलैंड टीम ने दो बड़े प्रयासों को देखा, दोनों इस युवा स्ट्राइकर द्वारा खेली गई दो महान टेस्ट पारियों के कारण. कोलम्बो में श्रीलंकाई टीम के खिलाफ जीत के लिए विलियमसन ने 135 रनों का विशाल स्कोर बनाया. उन्होंने दक्षिण अफ्रीकी आक्रमणकर्ता डेल स्टेन के खिलाफ भी समझ दिखाई और 389 रनों के विशाल स्कोर का पीछा करते हुए नाबाद 102 रन बनाए. 

2014 में, विलियमसन खेल के सभी प्रारूपों में नई ऊंचाइयों पर पहुंचे. न्यूजीलैंड के लिए एक दुर्लभ आउट-ऑफ-होम जीत में, उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 3 मैचों की टेस्ट श्रृंखला में 2 शतक बनाए. उनकी 413 रनों की श्रृंखला ने उन्हें मैन ऑफ़ सीरीज बना दिया. उसी वर्ष, उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच में बीजे वाटलिंग के साथ 365 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी बनाई. 

वर्ष 2014 में ही उन्होंने भारत के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में रिकॉर्ड 5 लगातार 50 रन बनाए और खेल के इतिहास में (पाकिस्तान के यासिर हमीद के बाद) यह उपलब्धि हासिल करने वाले दूसरे व्यक्ति बन गए. वह न्यूजीलैंड के चौथे खिलाड़ी भी बने जिन्होंने वनडे में 5 या उससे अधिक लगातार 50 से अधिक स्कोर बनाए. 

2015 में उन्होंने सभी प्रारूपों में कुल 2,633 रन बनाए और एक साल में 2,000 से अधिक रन बनाने वाले पहले “ब्लैककैप” बल्लेबाज बने. इसने उन्हें रिकी पोंटिंग और कुमार संगकारा जैसे दिग्गजों के सामान प्रतिष्ठा मिली. उन्होंने उस साल 5 टेस्ट शतक बनाए, जो स्टीवन स्मिथ के साथ संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा थे. साल की शुरुआत उनके लिए वेलिंगटन में नाबाद 242 रन से हुई. उन्होंने ‘लॉर्ड्स’ और ब्रिस्बेन, पर्थ और हैमिल्टन में शतक बनाए. 

2016 ने केन विलियमसन  के युवा कंधों पर कप्तानी की भारी जिम्मेदारी आई, लेकिन उनके शांत और रचनाशील व्यक्तित्व के लिया आसान सा लग रहा था. उन्होंने खेल के लंबे रूप में रिकॉर्ड बनाना जारी रखा. उस साल जिम्बाब्वे के खिलाफ अपने शतक के बाद, वह हर टेस्ट खेलने वाले देश के खिलाफ शतक लगाने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बन गए और उन्होंने यह कम से कम पारी के भीतर किया. 

विलियमसन को  इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2015 के लिए सनराइजर्स हैदराबाद द्वारा हस्ताक्षरित किया गया था. हालांकि, उन्होंने 2016 में अपना पहला ‘आईपीएल’ मैच खेला. उन्हें अगले कुछ वर्षों तक टीम में बनाए रखा गया और 2018 में उन्हें ‘सनराइजर्स हैदराबाद’ के कप्तान के रूप में नियुक्त किया गया.

उन्होंने 2011 में ग्लूस्टरशायर ’के साथ इंग्लिश काउंटी क्रिकेट खेलना शुरू किया. उन्होंने 2013 में यॉर्कशायर’ के साथ हस्ताक्षर किए. 

वह 2019 विश्व कप में फिर से अपने देश एक लिए कप्तानी करने का मौका मिला है. 

पुरस्कार और उपलब्धियां ( Ken Williamson Awards & Achievements)

वर्ष 2015 केन विलियमसन ने प्रतिष्ठित ‘बेयल्स रियल एस्टेट स्पोर्ट्समैन ऑफ द इयर’ पुरस्कार प्राप्त किया. 

केन 2015 में IC इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ’(ICC) की विश्व टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर पहुंच गए.

2018 में, विलियमसन न्यूजीलैंड के पहले खिलाड़ी बने जिन्होंने आईसीसी ’टेस्ट रैंकिंग में 900 से अधिक रेटिंग अंक हासिल किए. 

उन्हें 2018 के ‘आईपीएल’ सीजन में सबसे अधिक रन बनाने के लिए ‘ऑरेंज कप’ से सम्मानित किया गया. 

केन विलियमसन की रोचक बातें (Intresting Fact about Ken Williamson)

केन विलियमसन अपने जुड़वां भाई लोगन से कुछ ही मिनट पहले पैदा हुए थे.

 वह एक बाएं हाथ के खिलाड़ी हैं, हालांकि वह दाहिने हाथ के खिलाड़ी के रूप से खेलते हैं. 

इसे भी पढ़े:

  1. हरमनप्रीत कौर का जीवन परिचय 
  2. सुरेश रैना का जीवन परिचय 
  3. एशिया कप क्रिकेट का इतिहास और रोचक जानकारी  
Loading...

Leave a Comment